• kumar_atul 6w

    बुरा मत मानना

    रुक कर तेरी हर वफ़ा पढ़ लूँ,
    जो किये है तूने सारे वो गुनाह पढ़ लूँ।
    ..
    वक़्त को रोक दूँ कुछ मिनटों के लिए मैं,
    और वक़्त से पहले तेरी मैं हर साँस पढ़ लूँ।

    ©kumar_atul