• simran__singh 24w

    स्वप्न

    बड़ा ही अजीब स्वप्न था,
    मालीक और मजदुर तो वहाँ भी थे,
    बस इज़्ज़त सभी को एक सा मिल रहा था ।।

    ©सिमरन सिंह