• moon_jain 33w

    सपना

    देखा था अपना बनाने का सपना तुमको इन आंखों ने ।
    झरा दिये सूखे पत्ते समझ तुम्हारे दिल कि साखों ने ।।
    ©moon_jain