• shilpa_pilankar 1w

    वो दीया,जो बूझा है,इतना थर्राकर...
    शायद उन्होने खोली है अपनी जुलफे लेहराकर।




    ©shilpa_pilankar