• drramanbiswash 13w

    ईर्ष्या करने वाले का सबसे बड़ा शत्रु उसकी ईर्ष्या ही है । दूसरे शत्रु उसका अहित करने से रह जाएं, परंतु ईर्ष्या उसे हानि पहुंचाकर ही रहती है ।

    Dr. Raman Biswash