• mannkaark 5w

    प्रतिघात

    कोई तो बताये तरुणाई वह कहाँ छुपाये,
    कैसे बचाये,हर तरफ मची है लूटपाट,
    नन्ही डाली सुखी,सूखे झर गए सब पात,
    ना जाने किस बेलिये की, हमपर नजर लगी हो घात
    सतर्क रहो, अब तो मिलकर लेना होगा प्रतिघात✊
    पंछी कहे हम नहीं आजाद,अब झुंड में रहना साथ,
    हो सकता है अपना ही कोई दुर्जन हो साक्षात,
    हाय दूध मुँही की भी ना अब रही बिसात,
    अरे पेट में भी असुरक्षित नन्ही नवजात,
    सतर्क रहो, अब तो मिलकर लेना होगा प्रतिघात
    ©mannkaark read caption