• pallaviz 6w

    फिक्र करने से, फिक्र नहीं ख़ाक हुआ करती
    वरना जमाने में हर दूसरा सख्स़ फिक्रमंद नहीं होता
    इसलिए तू ऐ दिल मुस्कुरा, की मुस्कान आजाद है
    ©pallaviz