• silenteen 14w

    द्रौपदी

    सुनो द्रौपदी शस्त्र उठालो गिरधारी ना आएँगे
    हिंदू-मुस्लिम कहने वाले तुझे क्या इन्साफ दिलाएँगे
    बेटी हो तू हिन्दू की या मुस्लिम की हो बहन
    इज्ज़त तो तेरी खुद की है,मत कर अब तू सहन
    यहाँ-वहाँ का मुकदमा सब राजनीती का बखेडा़ है
    बहन मेरी समझ में तो पूरा सिस्टम ही तेडा़ है
    वोट-नोट और धर्म,जाति पर आपस में लड़ मरजाएँगे
    हिंदू-मुस्लिम कहने वाले तुझे क्या इन्साफ दिलाएँगे
    सुनो द्रौपदी शस्त्र उठालो गिरधारी ना आएँगे