• mansmita 23w

    जब मालूम था की मैं तुम्हारी प्यार नहीं जरूरत थी...
    फिर भी दिल तुम्हारे याद में खोया रहता था;
    रोकर बिताये वो हर दिन और रात मुझे याद हैं ,,,,
    पर आज तुम्हारे यादें मुझे परेशान नहीं कर सकते हैं;
    मैं इतना काबिल बन चुकी हूँ की,,
    मेरे आज में तुम्हारे यादों के लिए भी कोई जगह नहीं...


    ©mansmita