• shaill 6w

    खमोशी

    बहुत कुछ कह जाती है खमोशी उनकी,
    तन्हां लम्हों में भी सताती है खमोशी उनकी,
    चाह कर तोड़ न पाता हूँ खमोशी उनकी,
    जाने क्यों याद आती है खमोशी उनकी।
    शैल.....