• shobharani 5w

    उफ्फ क्या करूँ मैं
    अब ऐ दिल
    जितना उसे मैं
    भूलना चाहती हूँ
    तू उसे उतना ही
    याद करने फर तुला है
    भूल चुके हैं
    जब वो हमें इस कदर
    तो क्यो उन्हे
    अपनी याद दिला रहा है
    ©shobharani