• nikhil_jassi 22w

    शुभ दोपहर

    दोस्ती से कीमती कोई जागीर नहीं होती,
    दोस्ती से ख़ूबसूरत कोई तस्वीर नहीं होती,
    यूं तो दोस्ती एक कच्चा धागा है,
    मगर इस धागे से मज़बूत कोई
    जंज़ीर नहीं होती!

    ©nikhil_jassi