• milind_ek_kavi 18w

    दवा तो हर दर्द की मौजूद है

    तेरे दिए दर्द के सिवा
    मिलिंद एक कवि