• harshsurti 22w

    "मां"

    जब न हो कोई मेरे साथ ,
    हाथ हो तेरा मेरे‌ हाथ ,
    जब करु कोई गलत बात ,
    हक़ है तेरा तु मुझे डांट ,
    लग जाए तुझे कभी चोट मेरे हाथ ,
    कर दे तु मुझे सदैव माफ़ ,
    रहुं में तुझसे दूर एक रात ,
    रखे तु मुझे सचेत हर बात ,
    में तो तेरा नन्हा सा दुलारा हुं मां
    मुझे तु यूं ग़ेरौ मे न बांट मां
    ©harshsurti