• sourabh_kharb 38w

    याद तेरी जिंदगी भऱ आंख नम कर जाएगी
    गम की स्याही लेखनी की रूह को बतलाएगी
    समय ने कैसा कहा ये फलसफा
    उपसंहार में बस तेरी याद लिखी जाएगी
    उपसंहार में बस तेरी याद लिखी जाएगी ।


    अंधकारों में चिराग जलते रहे
    सपनों में रातभर वो मिलते रहे
    जिंदगी तूने ये कैसा गम दिया
    वो गए, हम आंखें मलते रह गए ।
    वो गए, हम आंखें मलते रह गए ।

    ©sourabh_kharb