• brewed_up_words 23w

    इम्तहान मेरे हों पर नींद अपनी खोती है
    भर पेट खिला मुझे, खुद भूखे सोती है
    मुझे विदा करने की जल्दी है,
    और सोचकर इस बात को आँखें नम कर लेती है।
    पुछो तो कहती है - माँ ऐसी ही होती है।
    माँ ऐसी ही होती है।

    ©brewed_up_words