• suraj_scrawls 14w

    माँ

    खुद का निवाला भी जो तुम्हें खिलाये वो माँ,
    खुद सोने से पहले जो तुम्हें सुलाये वो माँ,
    पापा से ज़िद कर जो तुम चाहते हो वो दिलाये वो माँ,
    पहले डांटे फिर बाद में खुद ही प्यार से मनाये वो माँ,
    तुम्हारी पहली सांस से लेकर अपनी आखरी सांस तक जिसे फ़िक्र है तुम्हारी वो माँ,
    कितना भी कमा लो फिर भी ना उतार पाओ जिसका क़र्ज़ वो माँ,
    कुछ ऐसी ही तो होती है माँ।