• nameisr 5w

    देखी है मैंने..

    बहुत समझदार लगती हो जब शायरी लिखती हो
    वैसे देखी है तुम्हारी ये दिखावे की समझदारी मैंने
    जो जज़्बातों में ठीक से उतर नहीं सकता उससे
    दिल की गहराई माप लेने की उम्मीद कैसे लगाऊं

    © रवि