• kanandgopal 15w

    आओ बापू तुमको अपना हिन्दुस्तान दिखाएँ
    जहाँ नोटों पे Photo हैं तेरा ,
    भोटों के लिए Surname भी तेरा
    जहाँ हर चौराहे पे मूरत तेरा ,
    नेता की भाषण पे जिक्र भी तेरा
    जहाँ हर कदम पे दरसन तेरा ,
    सच कहें बापू , कुर्सी से कुचली स्वप्न भी तेरा...
    तुम सौहार्द्य सादगी को अपनाए थे ,
    हम नफ़रत को निजाम बनाये हैं
    तुम्हे शेष ब्यक्ति की चिंता थी
    हमे शिर्ष ब्यक्ति की चिंता है
    तुम "रघुपति राघव" गाते थे
    हम जयकार साहेब की करते हैं
    तुम अंग्रेजों से न डरते थे
    हम कुर्सी की खेल से डरते हैं...
    आओ बापू तुमको अपना हिन्दुस्तान दिखाएँ...(2)

    सब हिन्दू मुस्लिम एक हो
    ये कहते हुए तुम चल दिये
    तुमको अपना कहने वाले
    84 पे दंगा कर गये
    अब रोज यही दोहराता है
    गोधरा से गुज़रात जल जाता है
    भारत दर्शन करवाने वाले
    भाषा जात पे भी लड़वाते हैं...
    आओ बापू तुमको अपना हिन्दुस्तान दिखाएँ...(2)

    तुम नेहरू सरदार के साथ थे
    यहां नेहरू सरदार पे बांट है
    वे एक साथ थे चल पाए
    यहां उनका नाम ही लढ़ते हैं
    तुम मौलाना आजाद के साथ
    यहां राम या अल्हा बात है
    तब भगत शराबा होते थे
    अब गुंडे सहजादे होते हैं
    लेते नाम बिस्मिल असफाक
    काम जिन्हा गोडसे करते हैं
    बापू, ये जाती भाषा धर्म की भारत
    इन्हें बाबा साहेब से भी नफरत है...
    आओ बापू तुमको अपना हिन्दुस्तान दिखाएँ...(2)

    #ideaOfIndia #newIndia #Gandhi #बापू #India #Hind

    Read More

    भारत अभ्यास✍️

    आओ बापू तुमको अपना हिन्दुस्तान दिखाएँ
    जहाँ नोटों पे Photo हैं तेरा ,
    भोटों के लिए Surname भी तेरा
    जहाँ हर चौराहे पे मूरत तेरा ,
    नेता की भाषण पे जिक्र भी तेरा
    जहाँ हर कदम पे दरसन तेरा ,
    सच कहें बापू , कुर्सी से कुचली स्वप्न भी तेरा...
    तुम सौहार्द्य सादगी को अपनाए थे ,
    हम नफ़रत को निजाम बनाये हैं
    तुम्हे शेष ब्यक्ति की चिंता थी
    हमे शिर्ष ब्यक्ति की चिंता है
    तुम "रघुपति राघव" गाते थे
    हम जयकार साहेब की करते हैं
    तुम अंग्रेजों से न डरते थे
    हम कुर्सी की खेल से डरते हैं...
    आओ बापू तुमको अपना हिन्दुस्तान दिखाएँ...(2)

    सब हिन्दू मुस्लिम एक हो
    ये कहते हुए तुम चल दिये
    तुमको अपना कहने वाले
    84 पे दंगा कर गये
    अब रोज यही दोहराता है
    गोधरा से गुज़रात जल जाता है
    भारत दर्शन करवाने वाले
    भाषा जात पे भी लड़वाते हैं...
    आओ बापू तुमको अपना हिन्दुस्तान दिखाएँ...(2)

    तुम नेहरू सरदार के साथ थे
    यहां नेहरू सरदार पे बांट है
    वे एक साथ थे चल पाए
    यहां उनका नाम ही लढ़ते हैं
    तुम मौलाना आजाद के साथ
    यहां राम या अल्हा बात है
    तब भगत शराबा होते थे
    अब गुंडे सहजादे होते हैं
    लेते नाम बिस्मिल असफाक
    काम जिन्हा गोडसे करते हैं
    बापू, ये जाती भाषा धर्म की भारत
    इन्हें बाबा साहेब से भी नफरत है...
    आओ बापू तुमको अपना हिन्दुस्तान दिखाएँ...(2)

    ©kanandgopal