• swati0308 16w

    थक गई है, मेरी आँखें, तुम्हारी एक झलक को।
    कभी तो मिल लो, अपनी हमसफर को।
    काम तो काम है, ज़िन्दगी भर करना होगा।
    मिल लो आज हमसे, क्या पता कल हो न हो।
    ©swati0308