• vikas_chaudhary 15w

    कभी जी भर के बरसना,
    कभी बून्द बून्द को तरसना,
    ऐ - बारीश,
    तेरी अदाएं मेरे यार जैसी है..।
    ©VikasChaudhary