• richasingh_ 5w

    बेवफा

    बेवाफ़ाई के किस्से पढे ओर जमाने से सुने तो बहुत थे
    की आज उसका नमक चख कर भी देख लिया

    उस बेवफा की अब क्या बात करूं
    कि हर रोज़ मुझे एहसास कराया है उसने
    अपने नाम की जगह बेवफा कहना सिखाया है उसने

    मैने बहुत कोशिश की उसकी बेवाफ़ाई छुपाने की
    लेकिन जिसको मुझसे वफ़ा नही रही जमाने से क्या होगी
    की अब तो जमाने को भी जरूरत नही उसकी बेवाफ़ाई बताने की