• taabirspeaks 15w

    तुम हो मेरे या मेरे नहीं,
    तन से दिल तक,
    दिल से रूह तक,
    और रूह से तेरी रूह तक,
    अब वैसे सवेरे नही,
    तुम हो मेरे या मेरे नहीं!

    -ताबिर-