• shashwat_pandey 5w

    मैं उस को आँसुओं से लिख रहा हूँ, कि मेरे ब'अद कोई पढ़ न पाए

    Read More

    गिरोह ज़बानी

    तालुक्कात

    ©शाश्वत पाण्डेय✍️