Grid View
List View
Reposts
  • aarti_singh 3d

    आसमान में बेवफाई के परचम खूब लहरा रहे हमने सुना है ,
    लगता है फिर किसीने वफ़ा-ए-नफरत की गोद छोड़ मोहब्बत की बेवफाई को चुना है।।
    ©aarti_singh

  • aarti_singh 3d

    ए मेरी जान , इक वारी मिल ले न बेमन ही सही , न जाने साँसे कब तलक हैं ,
    तू तो कह रहा था न याद नहीं आती मेरी , फिर भीनी क्यूँ ये ज़मीन-ए-पलक है।।
    ©aarti_singh

  • aarti_singh 4d

    To the person who stayed in my blues ,

    कुछ समय पहले तक सूखे पत्ते सी थी मगर मिलना आपसे हुआ और उलफत-ए-तिश्नगी से छुटकारा मिला। कभी-कभी होता है न कि अब्र काले होते नहीं पर बारिश की बूंदे लबो को छूने लगती हैं। कुछ इसी तरह अचानक मिलना हुआ हमारा बिना किसी प्लानिंग के और लड़खड़ाते कदमों को एक सहारा मिला , दिल की दहलीज़ पर आपकी मुस्कुराहट के कदम पड़े। कभी सोचा नहीं था कि इन बेचैन समुंद्री निगाहों को सुकून का साहिल मिलेगा और मन में जो लहरो के तूफान हैं उन्हें शांति हासिल होगी कि पीछे कोई खड़ा है हर मुश्किल में साथ देने के लिए।

    सोचा न था कभी के एक सितारे के टूटने से चाँद को फर्क पड़ा होगा ,
    "हार मत मानना मुर्शद , मैं संग हूँ तिरे" हमे कहने के लिए कोई खड़ा होगा।।

    आईने में जब कभी देखे हम अपने आप को ,जवाब दे ये आईना कि मुझमें मुझसे कही ज्यादा आप हो। कभी आए मुश्किल हालात तो सबसे पहला कॉल या टेक्स्ट गर जाता है तो उसका पता केवल आप हो , हर अनसुलझे-बिखरे सवालों का सिमटा जवाब हो आप। कभी किसी के लिए अपनी पसंद बदलेंगे यहाँ तक कि किसीकी पसंद को अपनाकर खुदकी बना लेंगे सोचा न था। कोक तो ऑल टाइम फेवरेट रही है पर किसी के संग लिम्का भी इतने मज़े से पियेंगे सोचा न था। पिंक कलर के कपड़े पहनना बचपन से ही हमें पसन्द नहीं था , माना लड़कियों को अकसर पसन्द होता है पर हमें नहीं था लेकिन जब वो पिंक जैकेट आपने दी मुझे तो पहने बिना रोक न पाए खुदको। यहाँ तक कि एक पिंक टॉप और खरीद लाए आपके संग मार्किट जाकर। अब जब कभी इस टॉप को देखते हैं तो आपका वो मुस्कुराता चेहरा याद आता है , एक अलग ही सुकून मिलता है उस शांत मुस्कुराहट में , मानो मेरी ही कोई खोई चीज़ मुझे वापस मिल गयी हो , एक आखरी दिल का टुकड़ा मिल गया हो। दही , मैक्रोनी , मोमोस 4 महीने पहले इनसे नफरत हुआ करती थी पर इन्हीं से उल्फत कर बैठे हैं आज तो।

    These 24 alphabets are unable to describe u...
    Love u DIPS URF VD❤️

    Read More

    ( first read caption )

    फिरसे उन लम्हों में खो जाने को जी चाहता है , जिसमें थोड़ी मस्ती , थोड़ा प्यार हो और हम सातों मिलके आपको "श्रद्धा कपूर" कहें और आप टीज़ होने के बाद वो क्यूट फेस बनाओ।

    देर रात हर्फ़ हमारे तलाशे आपको की इस ओर करवट लिए कहीं आप सुनने को लेटी हो ,
    चाँद को देर रात तकना पसन्द है सबको , हमें नही जब पास हमारे अंजुम की बेटी हो।

    अगर चंद लफ़्ज़ों में कहूँ तो ,
    "मेरी दुनिया है तुझमें कहीं ,
    तेरे बिन मैं क्या कुछ भी नहीं "
    ©aarti_singh

  • aarti_singh 4d

    VD♥️

    अक्सर यादों के समन्दर में बह जाती हूँ , मगर ज़माना याद है मुझे ,
    अश्कों की बोली समझती हूँ , मगर आपका वो मुस्कुराना याद है मुझे ।।

    सीरियसनेस मानो लापता सी हो गई थी उन लम्हों के आगे ,
    संग हँसे हैं संग रोए , मगर "पागल" कहकर दिल दुखाना याद है मुझे ।।

    कहने को तो लोगों की कमी नहीं थी उस रंगीन महफ़िल में ,
    मगर देर रात पुराने गानों से दिल बहलाना याद है मुझे ।।

    बचपन में नई चीज़ के लिए रोया करते थे अपन , आज भी कम प्यार नहीं ,
    आज का दौर अलग है माना , मगर अपना वो वक़्त पुराना याद है मुझे ।।

    अनजानी सर्द हवाओं में वो हल्की धूप से बात करना ,
    मूँगफली और मूवी संग छत पर वो डेरा जमाना याद है मुझे ।।

    पल भर में गुस्सा हो जाना , फिर अपने आप मान भी जाना ,
    मेरी और रुद्र की चैट्स और हरकतों से सताना याद है मुझे ।।

    सर्दी के लपेटे में हल्के से क्या आ गए हम , थोड़ा गुस्सा ,
    थोड़ी केअर और चाय की चुस्कियों संग मुझे नई रजाई दिलवाना याद है मुझे ।।

    "आज कौनसी मूवी देखें?" का मेंडेल से ज्यादा हमको सताना ,
    "आज मुझे क्लास लेनी है।" कहकर भी रात को लैपटॉप में मूवी दिखाना याद है मुझे ।।

    पहले कहाँ जानते थे एक दूसरे को इतना , धूल सी जमी थी उन पुराने पन्नों पर ,
    वक़्त की बारिश में धूल हटी और आपका वो हॉस्टल के किस्से सुनाना याद है मुझे ।।

    रात है तो सवेरा भी , उसी तरह प्यार है तो तकरार भी ,
    भले लड़ाई सुबह हुई हो , शाम को कुरकुरे मोमोस संग खाना याद है मुझे ।।

    जो कभी बतलाता नहीं था किसीसे , उसका यूँ देर रात बात कर सब कुछ शेयर करना ,
    अपनी विंटर जैकेट और पर्सनल कम्बल मेरे संग शेयर कर जाना याद है मुझे ।।

    ज़िन्दगी तो 18 साल पहले मिली थी मुझे , मगर जीना आपने सिखाया ,
    उल्फत थी हमें आपसे , इसलिए लिम्का के लिए कोक न मँगवाना याद है मुझे ।।

    हमारी कलाकारी से आप कहाँ वाकिफ़ थी , लिखते हैं शौक के लिए बस पता था ,
    रात भर जाग कर आपके पसंदीदा ड्रोसोफिला बनाना याद है मुझे ।।
    ©aarti_singh

  • aarti_singh 5d

    RP♥️

    दुआ है मेरी आज रब से , चोट कभी उसे लगे तो अशआर मेरे मरहम रहें ,
    खुशियाँ नहीं माँग रहे खुदा , बस इतना रहम करना की उसको न कोई गम रहे।।

    धूप लगती है अकसर मगर तुम राह न छोड़ना , संघर्ष कड़ा रहे यदि
    तो रात में अंजुम की छांव तुम्हें मिले और सवेरे क़तरा-ए-शबनम रहे।।

    हमें तलाशना अब बंद करो जनाब , इक दफा दिल-ए-आईने में तो देखलो ,
    मिरे जहान में बस तुम रहो और इस जहान में तुम्हारा परचम रहे।।

    जब कभी जरूरत हो मेरी , आँखे मूंद याद कर लेना , ज्यादा दूरी कहाँ ,
    अश्क न बहे याद रखना बस , आख़िर दुआ की है हमने की तुम्हे कोई न पेच-ओ-खम रहे।।

    इस वारी शाम अकेले गुज़र रही , इक शाम-ए-वफ़ा आएगी जरूर ,
    जिस दिन "आरती-रुद्र" का वस्ल होगा , खुदा जन्नत नहीं चाहिए बस हम पैहम रहे।।
    ©aarti_singh

  • aarti_singh 1w

    @eunoia__

    Jag vich Logan bhot , par me kalli si ,
    Fer ek din , naseeb naal mil gi mainu ek jhalli si !!!
    Apni Nikki behn ohne mainu maan lita si ,
    Mere kol badi eh par nakhra merto jyada kitta si !!!
    Ohnu khon to me dardi aa ,
    Kade has k gallan kardi aan , te Kade lad 'di aan !!!
    Tere barga koi laad mane Kare , isi koi hod ni ,
    Bas aap mere kol rahiyo , duji mane koi lod ni !!!
    Roj saanjh sawere rab wangu naam Tera Lena ,
    Kive shukran Kara rabda , je mainu saunpi h Tere jehi behna !!!
    Tohdi gair-maujudgi me lagda si , saare jagnu me bhul java ,
    Je khud me ni , ta te Teri yaada vicho me rul java !!!
    Jassi naal milke , bhangra pauna h ,
    Ron ka mauka koni deu tane , itna tenu chauna h !!!
    Chahe daat k Teri masti ghaat karani padja , par tenu IAS officer banauna h !!!��

    ~kiddo...

    Caption , old one but fir b❤️❤️

    Read More

    मन♥️

    जो साथ नहीं आप मिरे तो ये 4 दीवारें हैं महज़ घर नहीं ,
    मिरी परछाई बन संग आप हो तो किसी का डर नहीं।।

    आपसे मिले तो खुद की तलाश बंद हुई , आख़िर एक ही तो हैं हम ,
    आपसे बात करना जो काम करता है उतना दवाई का असर नहीं।।

    किताबें तो कई पढ़ी मगर आपकी मुस्कुराहट का नशा ऐसा छाया ,
    दिल जो चुराया है आपने हमारा उसकी कोई खबर नहीं।।

    माना रूह का है नाता , हाँ हैं हम करीब काफी ,
    बितायी शामें अकेले ही कई , एक दफ़ा मिल लो न अब सबर नहीं।।

    खास थे पल सारे जो बीते संग आपके , मगर इंतेज़ार उस शाम का है "रूमन",
    जिस दिन IAS officer Ruman से मुलाकात हो , ज़िन्दगी में कोई और कसर नहीं।।
    ©aarti_singh

  • aarti_singh 2w

    @parle_g love u❤️❤️

    Read More

    मरहम लगाने की ज़रूरत नहीं अब , तुमसे बात कर सुकूँ मिला कुछ इस क़दर ,
    ज़ख्म भी बेज़ुबान हो गए , दर्द रहा नही जो मिला था ठोकरे खाकर दरबदर।।
    ©aarti_singh

  • aarti_singh 2w

    बिखरे नहीं तुम दूर होने पर !! अरे , दिल तोड़ने में तुम कहाँ कच्चे थे ,
    हमने भी नहीं संभाला खुद को आखिर पता था दूरी के इरादे भी कहाँ पक्के थे ।।
    ©aarti_singh

  • aarti_singh 2w

    न जाने किस गली मेरी ज़िन्दगी की शाम हो जाए ,
    मैं आ तो जाऊँगा , डर ये है कहीं मुहब्बत-ए-क़त्ल तेरे नाम हो जाए ।।
    ©aarti_singh

  • aarti_singh 3w

    याद तेरी खूब आती है जाना , हर इक याद में दम निकले ,
    रुके नहीं तुम , शायद तुम्हारे हिसाब से अश्रु हमारे ही कम निकले।।

    ©aarti_singh