abdulramiz

hm wo aali mkaam hain jinhen tanhaiyan ehtraam krti hai

Grid View
List View
Reposts
  • abdulramiz 1h

    हम मुस्कुरा कर दुखों को तौहीन करने वाले लोग हैं

  • abdulramiz 4d

    ला इधर हाथ,
    के हम दर्द के इस डूबती नांव से उतर कर,
    चलें उस पार,
    जहां कूचा_ओ_बाजार न हों,
    दर्द के आसार न हों

  • abdulramiz 4d

    जिनका इश्क कामिल न हुआ,
    ,,
    ,,
    वो निकले हैं अब मजारों पर

  • abdulramiz 1w

    मुझे यकीन है अराइश_ए_जमाल के बाद,
    ,,
    ,,
    तुम्हारे हाथ से आइना गिर गया होगा

    #जॉन

  • abdulramiz 1w

    दास्तान_ए_हयात में सागर,
    ,,
    ,,
    बेवफाओं के नाम आते हैं,

    सागर सिद्दीकी

  • abdulramiz 1w

    दाएं बाजू का एक फरिश्ता तो,
    ,,
    ,,
    बस तुम्हारा ही नाम लिखता था

  • abdulramiz 2w

    मेरे लिए तो ये भी अजीयत की बात थी,
    ,,
    ,,
    तुझको भी हाल ए दिल सुनाना पड़ा मुझे

  • abdulramiz 2w

    औरों के ऐब छोड़, दर्जी से जा के कह,
    ,,
    ,,
    इतनी जगह तो छोड़ के गिरेबां दिखाई दे

  • abdulramiz 2w

    हर शख़्स मुझे सूरत_ए_अख़बार समझ कर,
    ,,
    ,,
    सफाहात से मतलब की खबर काट रहा है

  • abdulramiz 3w

    अब समझने लगा हूं सूद_ओ_जियां,
    ,,
    ,,
    अब कहां वो मुझमें जूनू है साहब