Grid View
List View
Reposts
  • akarshitasingh_ 4w

    You can feel the other, when you are in love with them...
    ©akarshitasingh_

  • akarshitasingh_ 5w

    It's never too late to express what you feel, what you are feeling & what you have felt because people deserves to know what they have done❤️
    ©akarshitasingh_

  • akarshitasingh_ 5w

    You added nothing with your silence except some peace ❤️
    ©akarshitasingh_

  • akarshitasingh_ 5w

    काश! तुम क़भी ये समझ पाते कि जो आज इस पल में है, जो आज तुम्हारे साथ, तुम्हारे लिए है , जिस आज में तुम हो, तुमने क़भी ऐसे ही आज का इंतजार सालों से किया था।
    तुमनें क़भी ऐसे ही आज में अपनी खुशियाँ संजोई थीं, ढूंढ़ी थी , बसायी थी।
    और आज तुम फ़िर क़िसी और आज में अपनी खुशियाँ सजों रहे अपने इस आज को छोड़कर।।
    ©akarshitasingh_

  • akarshitasingh_ 5w

    ज़नाब, कल की ख़ुशी के लिए तुम चाहें जितने ख़्वाब संवार लो लेक़िन आज की ख़ुशी आज के पूरे होते हुए ख़्वाबों से ही मिलेगी।
    ©akarshitasingh_

  • akarshitasingh_ 5w

    कितनी प्यारी वह भाषा होगी ,जिसमें अक्षरों की ध्वनियों के स्थान पर हृदय की ध्वनियाँ होंगी।।
    ©akarshitasingh_

  • akarshitasingh_ 5w

    क्यों न उनके पूछे भी कुछ शोर किया जाये,अपने हृदय की भावनाओं पर भी थोड़ा ग़ौर किया जाये।।
    ©akarshitasingh_

  • akarshitasingh_ 5w

    सबकुछ कितना अजीब सा हो जाता प्रायः जबक़भी हम कुछ सोचने बैठ जाते हैं।
    ©akarshitasingh_

  • akarshitasingh_ 5w

    कितना कुछ है जीने को फ़िर भी जो नहीं है, हम हमेशा उसी में जीते हैं।
    ©akarshitasingh_

  • akarshitasingh_ 5w

    क़भी-क़भी कुछ अधूरा सा लगता है फ़िर पूरा सा हो जाता है।
    ©akarshitasingh_