• amrita_n 2d

    "तवक्को में हू कि तु भी कभी इज़हार कर,
    तु न सही, मैं इस बात का इकरार करती हू,
    हाँ, मैं तुझे खुद से भी ज्यादा प्यार करती हू।"

    -अमृता♡

    [ मसला - problem
    कुर्बत - closeness
    मुसलसल - constant
    मशिय्यत - wish
    इनायत - blessing
    अग्यार - stranger
    माज़रत - forgive
    तवक्को - expectation ]

    @hindiwriters

    Read More

    खुद से ज्यादा तुमसे इश्क है, ये बता ना पड़ेगा?
    मुझपर तुम्हारा पूरा हक है, ये समझाना पड़ेगा?

    मसला ये है, के इश्क से थोड़ी अनजान हु मैं,
    तुम्हे भी मुझ'पर कुछ हक तो जताना पड़ेगा।

    कुर्बत अब हमारी, मुसलसल बढ़ती जा रही है,
    हमारा इश्क जमाने से अभी थोड़ा छिपाना पड़ेगा।

    मशिय्यत है के मैं तुम्हारी, तुम मेरे बन जाओ,
    इनायत करो, हर बात मुझे ही बताना पड़ेगा?

    लोग कहते है, अग्यार से इश्क करना खता है,
    ये खता नहीं है, लगता है उन्हें समझाना पड़ेगा।

    खता हो तो माज़रत करना, नाराज़गी दिखाना,
    पर ग़र मैं तुमसे रूठी, तो तुम्हे मनाना पड़ेगा।

    और ये गजल भी तेरे लिए लिखा है,
    ये बात भी अब तुझे बताना पड़ेगा?

    -अमृता♡

  • amrita_n 4d

    .

  • amrita_n 5w

    3.... 2.... 1....������
    Good morning everyone...��

    Arreee sorry aaj kisi ka b'day hai na...
    Happy Birthday bhaiya...❤ @buriedfeelings
    Aap yha nhi ho... phir bhi aaj time nikal ke yha aana pdega...��
    Nhi to...���� smjhe....

    Tumhari tareef krne lgu,
    To shabd thoda jyada milega..
    Bhai hi hote hai,
    Jinse aakhir tk rhne ka waada milega..❤❤

    Yaad to hume aap krte nhi ho... isliye sochi mai hi aapko yaad kr lu...����

    Zyada khush mt hona khud ki tareef sunkr... okey...��
    .
    .
    .
    .
    .
    Khwaishein jyada bdi nhi hai meri,
    Har pal tumhara saath chahti hu...

    Kehne ko khoon ka rishta nhi hai humara,
    Pr har muskilon me tumhara saath paati hu...

    Aur tutte hue chand ko dekhkr,
    Phle tumhari khushiyan mangti hu...❤❤
    .
    .
    .
    .
    .
    Gar tum rutho, mai mna lungi,
    Rote hue bhi aapko hsa dungi..

    Tum aur mai milenge kisi raah pr,
    Tumhari parchayi dekhkr mai pehchan lungi..

    Vishwaas hai mujhe khud pr,
    Tareef me tumhare zamane lga dungi..��

    Zra gaur se pdhna tum ise,
    Tumhare liye duniya hila dungi...��

    Tumhari tareef me ek shabd mil jaye,
    Phir mai poori kitaab likh dungi...����

    Aur kuch khaya bhi kro,
    Nhi to ladki kaise pategi...��

    Ye mt smjhna tumhari bezzati hai..
    Aapko mai din me hi chand taare dikha dungi..����

    Bhot ho gya aaj ke liye... hai na...���� it's okey...����
    Bye...

    Read More

    .

  • amrita_n 5w

    25 January 2021

    Read More

    And poet is not always needed for poetry,
    Sometimes it feels good when someone special narrates it.
    ©amrita_n

  • amrita_n 10w

    Happiest birthday bhaiyu.... @little_diary_ ❤❤
    Your all wishes comes true...
    God bless you...❤
    23 December 2020

    Read More

    भईया, तुम मेरी हर मुश्किलों में साथ देते हो,
    न जाने इतनी मुश्किलें कैसे पर कर लेते हो।

    गम के आँसुओं को भी खुशी में बदल देते हो,
    जब परेशानियाँ तुम पे आये कुछ न कहते हो।

    और तुम मेरे लिए, खुदा का दिया तोहफा हो,
    पता नहीं, तुम अकेलेपन में ही क्यों जीते हो।

    मैं गुलाब के काँटो- सी और तुम गुलाब हो,
    मैं कोई जलती धूप , तो तुम महताब हो।

    जिंदगी के हर मोड़ पर सही राह दिखाने वाले,
    तुम्हें बस एक बार देखना ही मेरा ख़्वाब है।

    तुम्हारे जन्मदिन पर तुम्हारी हर दुआएँ पूरी हो,
    भईया, मैं तुम्हारी बहन, तुम्हारे बिना अधूरी हूँ।

    - अमृता♡

  • amrita_n 12w

    6 December 2020

    Read More

    ग़र तुम साथ रहो, तो सारी मुश्किलें पार कर लेंगे ,
    तुम्हारी ज़िन्दगी में दर्द कम कर, खुशियाँ भर देंगे।

    ©अमृता

  • amrita_n 13w

    2 December 2020
    #temp ��

    Read More

    And I live in a world
    where someone's face is seen
    in the moon and falling star fulfill the wish.

    ©amrita_n

  • amrita_n 13w

    ओ खुदा..... बता दे क्या लकीरों में लिखा...��
    हमने तो...... हमने तो बस इश्क़ है किया...����

    29 November 2020

    Read More

    इश्क़ में दिया हर ज़ख़्म को मैंने खा'कर देखा है,
    उसको मैंने अपनी बाहों में सुला'कर देखा है।

    और बहुत खुश था वो कभी गैर की बाहों में भी ,
    दिल में लगते आग को मैंने बुझा'कर देखा है।

    कभी अपना समझा था जिसे वो पराया निकला ,
    फिर भी महफ़िल में उसे अपना बता'कर देखा है।

    मुझसे रूठ कर भी सोता था वो आराम से, मुझे
    नींद नहीं आती मैंने खुदको सुला'कर देखा है।

    जला दो उसकी तरवीर को, अब भी दर्द देता है,
    उसकी तसवीर को मैंने सीने से लगा'कर देखा है।

    जाना हैं तो चला जा अब फ़र्क़ नहीं पड़ता, खुदका
    दिल तोड़'कर, तुझे लाख बार मना'कर देखा हैं।

    ©अमृता

  • amrita_n 15w

    ©amrita_n

  • amrita_n 15w

    दूर हो'कर भी, मेरे पास लगते हो ,
    जाने बिना ही तुम खास लगते हो ।

    भाई, तुम खुदा का रूप, दिल को ,
    छू जाने वाली एहसास लगते हो ।

    समझ सकूँ, वो कि'ताब लगते हो ,
    रात की कोई हँसीं ख़्वाब लगते हो ।

    खुदा करे तुम्हें किसी की नज़र न लगे ,
    ज़िंदगी में तेरी खुशियाँ हज़ार हो ।

    मेरी खुदा से बस इतनी ही दुआ है
    सबके दिल में तेरे लिए बस प्यार हो।
    - अमृता

    Happy bhai dooj..❤❤ @buriedfeelings @o_mohit_o @little_diary_ @shaiz_fs
    #bhaiyad00j #bhai

    Read More

    मेरी ज़िंदगी तुमपर शुरू तुमपर खत्म है ,
    भाई, मैं जितना प्यार करू तुम्हे, वो कम है।
    ©अमृता