Grid View
List View
Reposts
  • anerii_7 2w

    कुछ सोचती हूँ तुम्हारे बारे में ,
    लगता है ये ज़िन्दगी भी कम है..

    कुछ सोचती हूँ तुम्हारे बारे में ,
    लगता है ये ज़िन्दगी भी कम है..

    चहेरे पे आती हर खुशी में भी ,
    .....तेरे बिना गम है...।।


    ©anerii_7

  • anerii_7 5w

    उफ्फ ! ये साली नफरत भी ना,

    दुसरो के लिए खुद को जला देती है...।

    ©anerii_7

  • anerii_7 6w

    इन्सान सबसे ज्यादा जलिल,
    अपनी पसंद के लोगो से ही होता है...।।

  • anerii_7 7w

    ये करवटे भी निगलती नही तेरी इन ख्वाईश को,

    बार बार पुकारती है सिर्फ तेरी ही फरमाइश को...।।

    ©anerii_7

  • anerii_7 7w

    इस किस्मत को भी मुझ ही से इश्क़ रहा ,

    तबाह करके मेरी उम्र मुझ में ही बिन्द रहा।

    ©anerii_7

  • anerii_7 14w



    इतना मत सोचा करो मेंरे बारे में,

    की मुजे खयालो को छोड़कर,

    ख्वाबो में आना पड़े तेरे...

    ©anerii_7

  • anerii_7 18w

    बंजारा चला उस रण में, जहाँ पैसो की रेत थी,
    चला बेच ने लगाव जिस में, प्रेम की खेच थी...

    ©anerii_7

  • anerii_7 19w

    अश्क बड़ी अहतियात से बढ़ रहे थे ,

    कोई आवाज़ न सुनले उस लफ्ज़ के साथ...

    ©anerii_7

  • anerii_7 19w

    अक़्सर लोग कहते है,
    कब्र में सुकून की नींद आती है,

    अजीब बात है ये बात भी,
    जिंदा लोगो ने ही कही है।

  • anerii_7 19w

    जिया एक दिन में हजार दिन वो भी,

    कहते है लोग क्या खूब जिया वो भी,

    दर्द इतने सह कर भी मुस्कुराया वो भी,

    कहते है भगवान या खुदा जिसको भी,

    उसे भी कमी लगी सितारे की उस आसमान में भी...

    ©anerii_7