anjali_chopra

www.instagram.com/anjalichopra1410

when going gets tough,tough gets going.... Blow candles on14 October

Grid View
List View
Reposts
  • anjali_chopra 15h

    Aaj kuch bhot alag sa try Kiya h actually thoda bda bhi h Pta bhi nhi ki kesa likha h toh plz critics and suggestions are most welcomed ho ske toh poora padhiyega����

    #osr #NTM #skt #dishu #piaa_chiudhary @priyankagill @nishiadhran @vishalprabtani @ramaiyya @neelance

    Read More

    कभी बारिश की बूँदों को
    सूखी ज़मीं पर गिरते देखा है
    महक सी जाती है ना
    उसका आना भी ऐसा ही था।

    पहली बार उसे देखा तो
    उसकी आंखों में खो सी गई,
    उसकी बातों में मानों
    मैंने नई खुद को पा लिया।

    वो गिटार बजाता
    पुराने गाने गाता,
    और लोगों की भीड़ में
    सबसे अलग सा रहता।

    धीरे धीरे वक्त बीतने लगा
    वो मुझे जानने लगा
    मुलाकातें बढ़ने लगी और
    मेरी चाहत दोस्ती में बदलने लगी।

    वो मेरे साथ अपने सुख दुख बाँटता,
    मुझे मेरी गलतियों पर डाँटता,
    सोचा वक्त यहीं थम जाएं
    तेरे साथ से मेरी रूह निखर आए।

    पर कहते हैं ना कि
    ये वक्त किसी के लिए नहीं रूकता,
    और जो किस्मत में ना हो
    वो चाहकर भी नहीं मिलता।

    फिर उसने मुझे अपनी मंज़िल
    अपनी मोहब्बत से मिलवाया,
    सारे ख्वाबों को मानो एकदम से
    हकीकत की ज़मीं पर ले आया।

    पहली मोहब्बत अधूरी रह गई थी
    पर जिंदगी अभी पूरी बाकी थी,
    तो दिमाग ने दिल को एक बात समझाई
    ज़रूरी नहीं कि हर रिश्ते का अंत अच्छा हो,
    जिंदगी में जो जरूरी है वो बस ये कि
    उस अंत के बाद एक अच्छी शुरुआत।
    ©अंजलि

  • anjali_chopra 1d

    लोग कहते है मुझमें
    तेरा अक्स दिखता है
    उन्हें क्या पता कि तू
    हर पल मेरे साथ चलता है।

    हम चाहे दुनिया के किसी कोने में भी रहे,
    पर अपने शहर के हमेशा करीब ही रहते हैं।

    Read More

    वक्त बे वक्त अपने
    किस्से सुनाता है,
    मेरा शहर मुझसे कुछ
    ऐसा रिश्ता निभाता है।
    ©अंजलि

  • anjali_chopra 3d

    पवित्र पावन सा मन,
    जिसमें खिलता प्रेम का उपवन,
    शीतल छाया जैसे चंदन,
    शक्सीयत इनकी सिखाती समर्पण।

    Vese words can't define her @diptianupam ma'am but yh lines aapko define krne ki koshish m hai ❤️❤️❤️

    Wish you a very happy birthday ma'am ������������������������������������������

    Always stay blessed and happy ma'am,aap Jese ho hmesha vese hi rhna I can't even express how much blessed I feel that I have you in my life as my mentor,as an elder sister and a great friend.yahaan aane se phle sirf Suna tha ki friendship has no age limits and ma'am my relation with you is a proof to it.....

    Ma'am aapke liye hmesha dua krungi ki aap khush rho muskurate rho aapki zindagi m kbhi koi gham naa aaye...

    Read More

    Happy birthday
    Dipti ma'am

  • anjali_chopra 4d

    वो छोटी छोटी बातों पर
    हंसी को संजोने वाले
    अकसर खुशियों के लिए
    ज़रूरतों के मोहताज होते हैं।
    ©अंजलि

  • anjali_chopra 4d

    किताबों से दोस्ती छुड़वा, काम से यारी करवाती हैं,
    ये मजबूरियां कितने ही मासूम बचपन बेच खाती है।
    ©अंजलि

  • anjali_chopra 5d

    Bas likhne k liye likh Dia pta nhi kya or kesa likha h������

    Read More

    आज भी दिल की धड़कन
    पर‌ नाम सिर्फ तेरा लिखा है,
    फिर कैसे कह दूँ कि
    होने लगा अब मुझसे जुदा है।
    ©अंजलि

  • anjali_chopra 1w

    Aise hi pta nhi kya likh dia ����

    Read More

    उनसे मिलने के बाद बैगानी
    समाज की‌ हर रीत हो गई,
    अब कैसे बताँए उन्हें कि हमें
    अपने दर्द से भी प्रीत हो गई।
    ©अंजलि

  • anjali_chopra 1w

    आप सभी को हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।।

    Read More

    संस्कृत से जन्मी ये भाषा,
    भारत का सम्मान है,
    भारतीय का गौरव,
    सभ्यता का अभिमान है।

    गुलामी में क्रांती
    की मशाल जलाई,
    कितने ही महाकवियों नें
    इससे अपनी पहचान पाई।

    प्यार मोहब्बत का
    पाठ पढ़ाया है,
    महज़ शब्दों को
    भाव से समझाया हैं।

    भारत को जो जोड़े
    ये वो पावन धरा है,
    हमारी मातृभाषा का
    हर रूप खरा है।

    ©अंजलि

  • anjali_chopra 1w

    जो कल तक
    उछला करती थी इधर उधर
    आज बढ़ती उम्र के नाम पर,
    पर्दे के पीछे रहती है।

    जो कल तक हर बात पर
    खिलखिलाकर हँसती थी
    आज वो बस हर बात पर
    हल्का सा मुस्कुराती है।

    जो कल तक
    अपने सपनों में जीती थी,
    खुद को बेड़ियों में बंँधा देख
    हकीकत से रूबरू होती हैं।

    जो कल तक आसमां को
    छूने की तलब रखती थी,
    आज वो बात भी नज़रें
    झुकाकर कहती हैं।

    जो कल तक अपनी हर
    जिद्द पूरी करवाती थी,
    आज वो ज़रूरतों के लिए भी,
    उम्र की मोहताज बना दी जाती है।

    ©अंजलि

    #osr #NTM #skt #dishu #piaa_choudhary @sampriti2312 @priyankagill @amanpreet_kaur @vishalprabtani @ramaiyya

    Read More

    ©अंजलि

  • anjali_chopra 1w

    बात-बे-बात
    तेरी याद दिलाता हैं
    तेरे शहर का ज़िक्र
    कुछ ऐसा असर दिखाता है।
    ©अंजलि