chandansharma__

yourquote.in/chandansharma2018

I write what my heart says cause heart can't speak.. �� follow me on instagram as :- @chandansharma1993..

Grid View
List View
  • chandansharma__ 23w

    प्यार की चुंदरी ओढ़ ली!
    दिल ने तो आग ही ओढ़ ली!

    थी कई बातें कहने को पर!
    होठ ने ख़ामोशी ओढ़ ली!

    ज़िंदगी जब सताने लगी!
    ये किया शाइरी ओढ़ ली!

    है नई बात ये इनदिनों!
    ग़म ने संजीदगी ओढ़ ली!

    मरते मरते बचे बारहा!
    मौत ने ज़िंदगी ओढ़ ली!

    मुझ को आँसू छिपाने थे सो!
    मैंने उसकी हँसी ओढ़ ली!

    उस प फिर रब भी मरने लगा!
    उस ने जब सादगी ओढ़ ली

    हिज्र था गमज़दा पहले फिर!
    हिज्र ने बेबसी ओढ़ ली!
    ©चन्दन शर्मा "जाज़िब"
    ©chandansharma__

  • chandansharma__ 23w

    प्रेम...

    "राधे-कृष्ण"
    यह केवल
    दो नाम
    नहीं है..

    बल्कि...

    यह तो
    सारांश है...
    सारांश
    प्रेम का...
    ©चन्दन शर्मा "जाज़िब"
    ©chandansharma__

  • chandansharma__ 23w

    ग़ज़ल....

    यूँ जो जुल्फ़ें सँवारती हो तुम
    दिल में खंजर उतारती हो तुम

    चाहिए आईना देखे तुम को
    आईना क्यों निहारती हो तुम

    होश अपने खो बैठता हूँ मैं
    प्यार से जब पुकारती हो तुम

    तुम से ही है इबारतें सारी
    ग़ज़लें मेरी निखारती हो तुम

    मैं बहरहाल तुम को जीता हूँ
    ज़िंदगी मेरी ज़िंदगी हो तुम

    नाज़ ओ अंदाज़ और लहज़ा उफ़्फ
    सब को जीते जी मारती हो तुम

    बिन मिरे कैसे दिन ये कटता है
    रात कैसे गुज़ारती हो तुम

    आँखों की झुर्रियां ये कहती है
    इन दिनों शब भर जागती हो तुम

    कैसे करता ख़ुद से मुहब्बत मैं!
    मुझ से ज्यादा मुझ में बसी हो तुम!

    कोई भी खासियत नहीं मुझ में
    मुझ पे क्यों जान वारती हो तुम

    प्यार में होती है तमन्नाएँ
    मुझ से आख़िर क्या चाहती हो तुम

    तुम सिखाती हो ग़म को खुश रहना
    ग़म को ग़म से उबारती हो तुम

    दौर ए माज़ी से अब निकल आओ
    ख़ुद को देखो क्या बन गयी हो तुम
    ©चन्दन शर्मा "जाज़िब"
    ©chandansharma__

  • chandansharma__ 23w

    ग़ज़ल...

    बेकसी और बेक़रारी में!
    उम्र गुज़री है इंतिज़ारी में!

    तुम समझ जाओ ख़ामोशी मेरी!
    जाँ नहीं चाहिए वफ़ादारी में!

    हैं फ़ना होने वाले उन प कई!
    क़ल्ब!मत रह उम्मीदवारी में!

    क्या हो इस से बुरा कि हम को अब!
    नींद लगने लगी है दुश्वारी में!

    दिल कि बाज़ार में नहीं मिलता!
    तन मिले है ख़रीददारी में!

    यादें महफ़ूज रखनी थी उनकी!
    उम्र बीता दी पहरेदारी में!

    मौत दर दर तलाशती आदम!
    क़ैद रहना चहारदीवारी में!

    जब कभी भी क़रीब तुम आई!
    मन मचलता रहा ख़ुमारी में!

    कुछ तो "जाज़िब" कि शर्म कर लो तुम!
    कौन हँसता है बुर्दबारी में!

    ©चन्दन शर्मा "जाज़िब"
    ©chandansharma__

  • chandansharma__ 23w

    ऐ दोस्त...

    हो जान तुम कि करो ऐतबार ऐ दोस्त
    तुम्हारी यारी पे है जाँ निसार ऐ दोस्त

    भला तुझे कब तलक दे सदाएँ दिल
    कभी तो तू भी कहीं से पुकार ऐ दोस्त

    है दोस्ती में अयाँ सब कि सब निहाँ इश्क़ में
    कि दोस्ती से अलग है ये प्यार ऐ दोस्त

    ©चन्दन शर्मा "जाज़िब"
    ©chandansharma__

  • chandansharma__ 25w

    ग़ज़ल....

    जितना तड़पे हैं हम तू तड़पा ही नहीं!
    यानी दिल में तेरे कुछ रक्खा ही नहीं!

    तुझे भुलाया जाता जिस ग़म में जाँ!
    सितम ऐसा कोई भी बरपा ही नहीं!

    तुम चाहे कुछ भी कह लो मुहब्बत को!
    मेरी निगाहों में ये अच्छा ही नहीं!

    आँखें सहरा ,पत्थर है अब दिल मेरा!
    गर जो तू होती ऐसा होता ही नहीं!

    मिटाओ तुम किसी और की तन्हाई!
    तुम्हारे बिना अब मैं तन्हा ही नहीं!

    उसको भी मुझ में दिलचस्पी थी लेकिन!
    प्यार नहीं था सो मैंने रोका ही नहीं!

    तुझ से बिछड़ जाऊँगा इस डर से मैं!
    किसी भी ठौर सही से बैठा ही नहीं!

    मुझे ख़ुद से क्या खौफ़ रहा क्या जाने!
    अपने अंदर मैं इक पल ठहरा ही नहीं!

    क्यों कर अपनी बातों को ज़ाया करना!
    वो सुनती नहीं है सो मैं कहता ही नहीं !

    तुम्हें मुझ को पाना है ,अच्छा है ,पर!
    मैं ख़ुद ही को यार कभी मिला ही नहीं!

    मुझे भी मुझ से इक शिकायत है कि मैं!
    क्यों खुलकर किसी से मिलता ही नहीं!

    लाखों नुस्खे करके देखा है मैनें!
    किसी सूरत भी दिल अब लगता ही नहीं !

    ढूँढा उसने मुझे सम्त ब सम्त मगर!
    अपनी आँखों में उसने देखा ही नहीं !

    "जाज़िब"जिस में कि मैं मुझे देख सकूँ!
    मेरे हक़ में ऐसा आईना ही नहीं!

    #ग़ज़ल #ghazal #jaajib #hindi #hindiurdu #sheroshayari #igwriters

    #yourquote #quote #stories #qotd #quoteoftheday #wordporn #quotestagram #wordswag #wordsofwisdom #inspirationalquotes #writeaway #thoughts #poetry #instawriters #writersofinstagram #writersofig #writersofindia #igwriters #igwritersclub

    Read More

    ग़ज़ल...

    जितना तड़पे हैं हम तू तड़पा ही नहीं!
    यानी दिल में तेरे कुछ रक्खा ही नहीं!

    तुझे भुलाया जाता जिस ग़म में जाँ!
    सितम ऐसा कोई भी बरपा ही नहीं!

    आँखें सहरा ,पत्थर है अब दिल मेरा!
    गर जो तू होती ऐसा होता ही नहीं!

    मिटाओ तुम किसी और की तन्हाई!
    तुम्हारे बिना अब मैं तन्हा ही नहीं!

    "जाज़िब"जिस में कि मैं मुझे देख सकूँ!
    मेरे हक़ में ऐसा आईना ही नहीं!

    ©chandansharma__

  • chandansharma__ 25w

    #ज़िंदगी #स्टेशन #कुली #जाज़िब #चन्दन #igwriters #totd #wordporn #wordswag #Hindipoet

    Read More

    ज़िंदगी...

    हम सभी
    एक ही स्टेशन के
    एक एक कुली हैं
    .
    .
    हाँ वही स्टेशन
    जिसका नाम
    "ज़िंदगी"है

    ©चन्दन शर्मा "जाज़िब"
    ©chandansharma__

  • chandansharma__ 25w

    शेर

    उल्फ़त में ग़म भी खुशी है सितमगर
    ///मुहब्बत में तो है हर सितम प्यारा
    .
    .
    Ulfat mein gam bhi khushi hai sitamgar //
    Muhabbat mein to hai har sitam pyaraa //

  • chandansharma__ 78w

    नज़्म..!

    तू भर ले बाहों में मुझे मैं तुझ में उतर जाऊँ!
    ओढ़ लूँ तेरा जिस्म मैं तुझी से सवँर जाऊँ!

    ज़िंदगी के आख़िरी लम्हात में दीद दिखाना!
    काश ऐसा हो कि तू आए और मैं मर जाऊँ!
    ©chandansharma__

  • chandansharma__ 80w

    Khudko jaise taise, main khud hi, bahla leta hun!
    Khud se roothta hun phir khud ko manaa leta hun!

    Udaasi had se gujarti hai jab v kabhi ab!
    Mai apne jakhmon ko kuredkar maza Leta hun!

    #mai #selflove #jaajib #najm #chandanvibes #mirakeewriters #mirakeehindi #mirakeelove #jakhm #udaasi #wordporn #khudhikhudka #wordswag #writingheart @mirakee @mirakeeworld @writersnetwork @writerstolli @writersthought

    Read More

    नज़्म..!

    ख़ुदको जैसे तैसे ,मैं ख़ुद ही ,बहला लेता हूँ!
    ख़ुद से रूठता हूँ फिर ख़ुद को मना लेता हूँ!

    उदासी हद से गुज़रती है जब भी कभी अब!
    मैं अपने जख़्मों को कुरेदकर मजा लेता हूँ!
    ©chandansharma__