Grid View
List View
Reposts
  • comfortablynumb 1w

    कुछ ख्वाब पूरे हुए तो कुछ टूट गए,
    पंछी आज़ाद हुए पर पिंजरे टूट गए ||

  • comfortablynumb 5w

    चाय की भी बात निराली है,
    नाम सुनते ही दिल मे प्यार आ जाता है ।।

  • comfortablynumb 9w

    इरादा तो बस दोस्ती करने का ही था,
    इश्क़ तो अपने आप होते चला गया ।।

  • comfortablynumb 9w

    सालों बाद आज वो पुरानी आलमारी खोली थी,
    पुराने खिलौने देख कर अंदर का बचपन बोहोत खुश हुआ ।।

  • comfortablynumb 10w

    दुनिया जो कहे उसकी परवाह नहीं,
    काम वो ही करना है जो ज़मीर कहे सही ||

  • comfortablynumb 10w

    एक अनजान बन कर मेरी ज़िंदगी मे आयी थी,
    मझे क्या पता था की तुम मेरी आदत बन जाओगी ||

  • comfortablynumb 13w

    पूरी ज़िंदगी इम्तेहान दिए हमने,
    और पास हो गया कोई गैर ||

  • comfortablynumb 13w

    गुज़री बातों को फ़िज़ूल याद करना छोड़ दिया है हमने,
    पर क्या करे, हर किसी पर अब वक़्त बर्बाद भी तो नही किया जा सकता ||

  • comfortablynumb 14w

    हर कलाई पर घड़ी तो सबके है बँधी,
    मगर समय किसी के बस में नहीं ||

  • comfortablynumb 16w

    अकसर लोग निकल चलते है लोग बदलाव का मुखौटा लीये,
    दस्तूर तो बदलना चाहते है दुनिया का लेकिन बिना खुद को बदले।।