d_shubh

I am and will always be... ����

Grid View
List View
Reposts
  • d_shubh 1d

    If she says no
    Then she means no
    If you love her enough
    just let her go

    Read More

    Love her enough to let her go

  • d_shubh 4w

    पोथी पढ़ पढ़ जग मोहा पंडित भया न कोय
    ढाई आखर प्रेम का पढ़े सो पंडित होय

    दोहों को थोड़ा बदल दिया है कुछ आपत्तिजनक लगे तो जरूर बताएँ����
    ��

    Read More

    प्रेम मोह दोनो दिखे, अंतर कैसे बताए
    प्रेम अगर मंजिल है, तो रस्ता मोह दिखाए

    ऐसा प्रेम कीजिए, जो राधा हृदय समाय
    नाम जपो जो मोहन का, तो दौड़ी राधा आए

    राधा कृष्ण सब जपे, जपे रुक्मणी न कोय
    मोहन तन रुक्मणी का, तो मन राधा का होय

    ऐसी विरह दीजिए, कि याद तुम्हारी आए
    यम पहुचे जो तुम तलक, तो जान हमारी जाए

    ©d_shubh

  • d_shubh 5w

    एक कलंक लगा कर नए रंग लगाने आए हो
    मिटा दी भूख अपनी अब मर्द कहलाने आए हो
    @sh_gopal
    #picturechallenge2020

    Read More

    काले साए से घिरी हूँ
    काले घेरे क्यूँ हटाते हो
    दर्द जब दिल मे है
    तो आँसू क्यों मिटाते हो

    ©d_shubh

  • d_shubh 5w

    बीते लम्हों की खुशी अब बहुत रुलाती है
    वक्त कभी भी बदल सकता है एहसास दिलाती है
    ©d_shubh

    Read More

    मेरी यादों में खुशी सजोने वाले
    खुदा करे तुझे कभी रोना न पड़े
    चाहे कम हो जाएँ साँसे मेरी
    पर तुझे किसी को खोना न पड़े
    ©d_shubh

  • d_shubh 8w

    ऐ जिंदगी जो तू मौका दे
    तो तुझमे कुछ दखल दूँ क्या??
    कुछ गलतियां सुधारनी हैं मुझे
    सुन वो गुज़रे पल बदल दूँ क्या??
    ©d_shubh

  • d_shubh 8w

    बस करो यार अब और कितने सितम करोगे,
    तोड़ कर टुकड़ों में कितने हिस्से करोगे??

    Read More

    छुपा कर चेहरा अपना वो सब कुछ दिखा गए,
    आईने में भी आए और अक्स भी छुपा गए...
    ©d_shubh

  • d_shubh 10w

    ख़यालों से होकर
    यादों में जाती है
    खुशबू तेरी शख्सियत की
    ख्वाब तक आती है...
    ©d_shubh

  • d_shubh 11w

    कभी मौसम से बदल जाते हो,
    कभी बूँदों की तरह बरस जाते हो...
    कभी उड़ जाते हो बादलों की तरह,
    कभी जमीन में मिल जाते हो...
    ©d_shubh

    चोट देते हो खुद ही,
    मरहम भी खुद ही लगाते हो...
    इश्क़ करते हो हमसे,
    और मुकर भी हम ही से जाते हो...
    ©d_shubh

  • d_shubh 12w

    Only change is the change which is changingly changing
    कभी कभी बदलाव दुख लेकर आता है,
    तो कुछ बातें बदलाव से...
    ��

    कोई सुधार करना हो
    या कोई त्रुटि हो तो जरूर बताएँ
    ����

    Read More

    बातें बदलाव से

    सुनो रुको,
    बदलाव हो न तुम?
    छोटे थे तब भी देखा था तुम्हे,
    पर अब तुम बदल गए हो,
    हाँ,
    तब कुछ और थे, अब कुछ और हो गए हो।

    सुना है, तुम बस बढ़ते जाते हो,
    थकते नही हो, रुकते नही हो, बस बदलते जाते हो,
    एक बात बताओ?
    डरते हो क्या?
    डरते हो क्या!!
    अपनी दी निशानियों से,
    डरते हो क्या उन बदली हुई कहानियों से।

    जो डरते नही हो,
    तो रुकते क्यों नही?
    बदलते हो क्यों, ठहरते क्यों नही?
    जानता हूँ,
    कि अब तुम बड़े हो चुके हो,
    सुना है मैंने संसार का नियम हो चुके हो,
    पर, वक्त मिले तो सीखना बीती यादों से,
    वो,
    जो तुम देकर गए उन दर्द भरी रातों से।

    आज भी याद है वो घड़ी,
    जब हम अपनों के साथ वक्त बिताया करते थे,
    रोते थे, हँसते थे, खूब प्यार लुटाया करते थे,
    पर फिर एक दिन,
    तुम आए और तुमने वक्त बदल दिया,
    सारी खुशियों को हमारी मातम कर दिया।

    सुनो यूँ अच्छा नही है मतलबी हो जाना,
    अब आओ,
    तो अपनों को बदल कर मत जाना...
    ©d_shubh

  • d_shubh 13w

    उम्रे लगीं कहते हुए, दो लफ़्ज़ थे, इक बात थी
    वो इक दिन सौ साल का, सौ साल की वो रात थी
    कैसा लगे जो चुप-चाप दोनों
    हो पल-पल में पूरी सदियाँ बिता दें...

    Read More

    ❤️

    कुछ राज़ को राज ही रहने देते हैं,
    चलो, कुछ बातें खामोशियों को कहने देते हैं...
    मिलाते हैं नजरों से नजरें,
    बातें जुबान की नजरों को करने देते हैं…
    निकल आएँ चलो इन मकानों से बाहर,
    एक दूजे को एक दूजे के दिल में उतरने देते हैं...
    जी लेते हैं एक दूसरे को खुद में,
    चलो उस वक्त को वहीं कहीं, ठहरने देते हैं...
    मौत आनी ही है सो आ जाए,
    चलो हम इसे और खूबसूरत कर देते हैं...
    हम बन जाते हैं धड़कन तुम्हारी,
    चलो तुम्हें अपनी साँसे कर लेते है...
    ©d_shubh