dr_seema

www.instagram.com/p/BwRSkrzhnfW/?utm_source=ig_

kabhi apna dard to kbhi dusro ka marj likhti hu,peshe se doctor hu bas har jgah dawa likhti hu

Grid View
List View
Reposts
  • dr_seema 3w

    सुनो,
    तुम मुझे कबूल हो,अपनी हर खामियों के साथ,
    तुम्हारी बेपरवाहियों,नज़रअंदाजगी, और बेवफ़ाईयों के साथ,
    तुमसे कुछ कहना है तो बस इतना के अपना ख्याल रखा करो,
    हम रह लेंगे खुश "तुम्हारी ख़बर-ए-ख़ैरियत" के साथ।
    ©dr_seema

  • dr_seema 6w

    है उन्हे इश्क मुझसे वो बताने आये थे,
    अपनी मजबूरियों के किस्से सुनाने आये थे,
    जब तल्ख मैं कहती रही झूठे हो तुम, वो मुझे मनाते रहे,
    मान बैठी जो सच, तो कहते हैं के वो सिर्फ मुझे आजमाने आये थे।
    ©dr_seema

  • dr_seema 6w

    बस कुछ दिन और फिर मैं तुमको भूल जाऊँगी,
    एक यही बात कहते-कहते शायद मैं एक दिन मर जाऊँगी।
    ©dr_seema

  • dr_seema 8w

    Valentine's week

    7 febरात 12बजते ही, लाल गुलाब की एक सुंदर सी तस्वीर भेज दिया करते थे,
    8feb को सुबह फोन लगा जिंदगी भर साथ रहने का प्रस्ताव रखा करते थे,

    9feb को चाकलेट सी मीठी बातों से दिन का आगाज़ किया करते थे,
    10feb को टैडी की जगह उनकी गोद मे सर रखने के सपनों को अंजाम मिला करते थे,

    11 febकी सुबह से शाम तक का समय अनगिनत छोटे-बड़े वादों,कसमे खाने में निकल जाता था,
    12febको उनकी जगह ,उनकी किसी चीज़ से लिपट कमाल का सुकून आता था,
    13feb की चैटस पर किसी खास इमोजी की भरमार होती थी,
    सुबह से ले कर शाम तक की बातों मे सबसे सुरीली एक और आवाज़ होती थी,

    14 febको 12 बजते ही love you so much happy Valentine's day से मोहब्बत के लिये बनाये हुये दिन में दिन भर मोहब्बत की बरसात होती थी,
    मीलों दूर होते थे हम, पर एक दिन तो साथ होंगे ही ,की उम्मीद हर बार साथ होती थी,

    न तोहफों की अदला बदली होती थी न गुलाबों से मुलाकात होती थी,
    दूर रहने में भी पास रहने से भी अधिक करीबी वाली हमारी कुछ बात होती थी,

    औरों की तरह Valentine's week का मुझे भी हर साल इंतजार होता था,
    कुछ इस तरह long distance relationship होने के बाबजूद भी हमारे बीच कभी बेशुमार प्यार होता था।
    ©dr_seema

  • dr_seema 10w

    मेरी मोहब्बत को एक तरफा न समझिये ,कुछ दिन का साथ उनसे भी मिला था,
    हाँ पर मेरी मोहब्बत उन्हे रास नहीं आई, दरअसल उन्हे मेरे हर तरिके से गिला था।
    ©dr_seema

  • dr_seema 11w

    आज नहीं तो कल मिलोगे मुझे,मुझे ये यकिन है,

    हाँ मगर उस यकिन और मेरे बीच बहुत से पर,मगर और लेकिन है।
    ©dr_seema

  • dr_seema 11w

    न जाने ऐसा क्या रिश्ता है मेरा खुदा से ,
    के जो दुआ खुद के लिये माँगू कोई, तो बद्दुआ बन कर मुझ तक पहुंचती है,
    और जो मांग लूँ किसी और के लिये खुशियाँ,तो वो मेरे हिस्से से कटती है।
    ©dr_seema

  • dr_seema 12w

    यूँ तो तन्हा हमेशा ही रहती हूँ, पर कभी-कभी तन्हाईयों का बोझ अचानक बढ़ जाता है,

    तब फोन की सारी contact list तलाशती हूँ, पर जिससे दिल की बात बेझिझक कर सकूँ,अब ऐसा कोई भी नाम नज़र नहीं आता है।
    ©dr_seema

  • dr_seema 12w

    तस्वीर न होती तुम्हारी जो मेरे पास में कोई,मै भला फिर किससे इतनी बात करती,
    दिन भर तो कंरवाँ साथ चलता है,बोलो भला कैसे मेरी रात कटती।
    ©dr_seema

  • dr_seema 12w

    गाल लाल,आँखे शर्म में थोड़ा झूक सी गई थी,
    दिल की रफ्तार और जिस्म में कपकपी बढ़ सी गई थी,
    लड़खड़ाते अल्फाज़ो को बड़ी मुश्किल से उस रोज मैंने संभाला था,
    ये तब की बात है जब उन्होंने पहली बार मेरा नाम पुकारा था।
    ©dr_seema