#abhivyakti09

36 posts
  • akankshanandan066 12w

    जीवन

    आज जीवन की गाथा गाती हूं
    हर इंसा की व्यथा सुनाती हूं

    जीवन अद्भुत एक काया है
    यहां सब कुछ मोह माया है

    कोई रोटी सूखी में खुश रहता है
    तो कोई हवा AC में भी रोता रहता है

    कोई भीख मांग कर अपना जीवन जीता है
    तो कोई करोड़ों में भी ना संतुष्ट होता है

    कोई दो पहियों के स्कूटर पर साथ हो जाता है
    तो कोई चमचमाती गाड़ी में भी एकांत हो जाता है

    कोई संघर्ष कर मंजिल को पाता है
    तो कोई नशे में चूर अपना जीवन गंवाता है

    कोई शोहरत की चकाचौंध दिखाता है
    तो कोई उसी चकाचौंध में कुंठित हो जाता है

    कोई पैदल पथ पार कर जाता है
    तो कोई अहम से भर जाता है

    लोगों का स्वभाव
    उनका "कर्मा" ही बताता है

    कोई जीने का सबब बन जाता है
    तो कोई सबक बन जाता है

    यह जीवन है
    जहां स्वर्ग और नर्क इंसा खुद बनाता हैं।।
    ©akankshanandan066

  • faiza_noor 12w

    जीवन

    सुखमय, निर्भय, इठलाता, इतराता वह दौर,
    नटखट शरारतों से सजा वह दौर,
    सबका प्यार दुलार समेटता वह दौर,
    गलतीयों पर अपनी फटकार सहता वह दौर,
    खुशनुमा बचपन का यूँ ही बीत जाता है सफ़र,
    इसे ही कहते है सुनहरे जीवन की मनमोहक डगर,

    बढ़ते उम्र की अभिलाषाओं का दौर,
    सही गलत की जद्दोजहद से जूझने का दौर,
    यारों की यारिओं में समय गुजारने का दौर,
    जीवन के नये सलीके को सीखने का दौर,
    गुरुओं की सीख को समझने में बीत जाता है यह सफ़र,
    इतनी आसान नही होती लड़कपन के जीवन की डगर,

    जिम्मेदारियों की समझ कराता यह दौर,
    नये रिश्तों के बंधन में बंधाता यह दौर,
    कामयाबी का हुनर सिखलाता यह दौर,
    जीवन जीने का सही ढंग बतलाता यह दौर,
    जवानी के जोश को सहजने में ही बीत जाता है यह सफ़र,
    यही है अपने फ़र्ज़ को निभाते अनूठे जीवन की डगर,

    बीते जीवन के अनुभवों को साझा करने का दौर,
    अपने अकेलेपन को बच्चों संग बाटने का दौर,
    कमजोर हड्डियों से कसरत कराने का दौर,
    लड़खड़ाती जुबान से इबादत करने का दौर,
    न भाने वाले बूढ़ापे का भी बीत जाता है यह सफ़र,
    अपनो के बीच गुजरती अंतिम समय के जीवन की डगर,
    ©faiza_noor

  • _harsingar_ 12w

    #abhivyakti09
    @bal_ram_pandey ji@_vipin_ bahar ji@saroj_gupta ji@prashantgazal ji@nema_ji

    जीवन इक यक्ष प्रश्न है
    जितना सोचो उतना गहन है
    सदा रहेगा शाश्वत है
    हम न रहेंगे नश्वर है
    हर उपमा में ढल जाएगा
    पल पल ये बदल जाएगा
    कभी सागर तो कभी पथ है
    कभी नाव औ कभी रथ है
    कभी बगिया तो कभी माला
    कभी अमृत तो कभी हाला
    कभी हर कोई अपना
    कभी सब कुछ सपना
    कभी मीठी बयार
    कभी चाकू की धार
    कई हैं इसके आकार प्रकार
    कहीं सूक्ष्म है कहीं वृहदाकार
    कहीं जलचर है कहीं नभचर है
    कभी स्निग्ध कोमल कभी जर्जर है
    बिखरा पड़ा है हर स्वरूप में
    गर ध्यान से देखो वृक्ष रूप में
    थाति न केवल यह मनुज की
    उपस्थिति है हर जीव में इसकी
    हां मनुज श्रेष्ठ है मनु पुत्र है
    इस जीवन का यही सूत्र है।

    #life #ephemeral #transient #breeze #chariotoflife #eternal #mirakeepod #hindikavita #writersnetwork #hindiwriters #hindiwitups #mirakee

    Read More

    यक्ष प्रश्न

    #abhivyakti09
    जीवन का यह अद्भुत पथ
    आत्मा हमारी सारथी है
    और शरीर इक सुंदर रथ
    ©_harsingar_

  • rangkarmi_anuj 12w

    जीवन

    समुद्र की गहराई से
    निकली हुई छोटी सी
    सीप जैसा जीवन है,
    जहां पर लहरों से
    प्रबंध का ज्वारभाटा उठता
    किनारों का संतुलन है।

    उतार चढ़ाव के झोंके
    शांत और अनियंत्रित हैं,
    क्षण भर में बदलाव
    सुख दुख सम्मिलित हैं
    स्वप्न और सत्य की
    नौका चलती रुकती है।

    सम्बंध की मज़बूत मूंगा
    बढ़ती जोड़ती जुड़ती है,
    ठहरते हैं बहुत लोग
    अंत तक कड़ी है
    जीवन से कहानी कहते
    सब एक मोती हैं।

    तूफान से लड़ना टकराना
    नौका रूपी यह जीवन
    संभलती आगे बढ़ती है,
    उसपर सवार आकांक्षा महत्वकांक्षा
    जिम्मेदारी को समझाती है
    जीवन स्वयं जीवनी है।
    ©rangkarmi_anuj

  • maakinidhi 12w

    No matter how wealthy,influencial or famous background you have.....your own life will always be recognised by whatever you earned yourself....life is too short to waste on unnecessary negativity or trauma....set yourself free to welcome it with a totally open heart and see....one day life will be your best soulmate.....live,love,laugh...spread happiness...help the needy...do whatever makes your soul really happy....let it be any hobby,passion or anything else....but make sure when it's departure time....u can say I just made it !������☺️☺️#abhivyakti09

    Read More

    जीवन(जिंदगी)

    मुझ को हर मोड़ पर एक नयी कसौटी देकर!
    कहती है जिंदगी तुझे समझदार किए जाती हूं!
    उम्र तेरी यूं तो माना कि छोटी है अभी मगर!
    देख मैं तेरा तजुर्बों से सरोकार किए जाती हूं!
    कहा मैंने भी कि माना तू खिलाड़ी है उम्दा!
    पर देख मैं भी हौसलों को आजमाती हूं!
    परवरिश नायाब बहुत मां ने की है मेरी!
    तेरे हर एक दर्द को मैं हंसकर पी जाती हूं!
    वो बोली एक वक्त पर तेरा साथ छोड़कर!
    चली जाउंगी एक दिन मैं भी तेरा हाथ छोड़कर!
    मैंने कहा ठीक है ,पर अभी तो यारी कर ले!
    इतना भी क्या परखना, थोड़ी समझदारी कर ले!
    दे दुआ कि तुझे भरपूर जिए जाऊं मैं सदा!
    बरसती आफतों में भी सुकून कहीं पाऊं मैं सदा!
    सुनकर मुस्कुराई बोली जा अभी आबाद हुई तू!
    मेरे सबसे अजीज नगमों का कोई साज हुई तू!
    याद रखना वक्त भी सिर्फ बेहतरीनों को आजमाता है!
    जिसमें होती है कोई बात,इंसा वो फरिश्ता बन जाता है!
    ©maakinidhi

  • radhika_1234569 12w

    #abhivyakti09 @bal_ram_pandey

    आ बैठ मेरे पास, एक राज की बात बताता हूँ
    जीवन केअस्तित्व का तुझे आइना दिखाता हूँ,
    कीमत उनसे पूछना जो मृत्यु का भय खाते है
    प्यासे से पूछना जो पानी को अमृत बताते है,
    हर जीव -जन्तु का इस धरती पर अधिकार है
    क्या तेरा, क्या मेरा , जीवन हेतु सब बेकार है,
    हसाता है, रुलाता है ,कठपुतली सा नचाता है
    देख अपनों से निचे जिंदगी जीना सिखाता है,
    कर्म,धर्म,व्यवहार ही अपना सम्मान बढ़ाता है
    धूप -छाँव,चाँद -सूरज बहुत कुछ समझाता है,

    Read More

    जीवन

    ©radhika_1234569

  • saroj_gupta 12w

    #abhivyakti09
    @bal_ram_pandey sir ji
    @vipin_bahar ji
    @nema_ji
    @deepajoshidhawan mam ji
    @rikt_ bhai ji
    #prashantgazal ji
    #kishor634 ji
    #rangkarmi_anuj ji
    #anita_sudhir didi ji
    #ramaiyya ji

    आज की अभिव्यक्ति में @bal_ram_pandey सर ने शब्द "जीवन" दिया मैं इसके लिये उन्हें धन्यवाद देती हूँ । जीवन स्वयं में एक गूढ़ शब्द है और पूरी तरह से इसे व्यक्त कर पाना असम्भव है।मैं अपने शब्दों के माध्यम से अपने विचार को आप लोगों के सम्मुख रख रही हूँ अपने विचारों से मुझे अवश्य अवगत कराइयेगा । धन्यवाद ������

    Read More

    जीवन

    जीवन को,
    कई रूपों में देखा है मैनें,
    जीवन को,
    कई पहलू से जाना है मैनें,
    जीवन को,
    इक सपने सा जिया है मैनें,
    जीवन के,
    कड़वे घूंट भी पिया है मैनें ।।
    जीवन क्या है ॽ
    ये कोई प्रतिक्रिया सी है,
    जीवन एक,
    टिमटिमाती दिया सी है,
    जीवन कभी,
    शांत नदिया सी है,
    जीवन कहीं,
    रेतीली टिलिया सी है ।।
    जीवन किसी का,
    एक अभिशाप सा है,
    जीवन किसी का,
    अक्षम्य पाप सा है,
    जीवन किसी का,
    विषैले सांप सा है,
    जीवन किसी का,
    धवल निष्पाप सा है ।।
    जीवन हमेशा,
    सुरीला गीत नहीं होता,
    जीवन हमेशा,
    सुगम संगीत नहीं होता,
    जीवन हमेशा,
    मन का मीत नहीं होता,
    जीवन में ,
    सदा ही बस प्रीत नहीं होता ।।
    जीवन एक,
    तपस्या है जो करना पड़ता है,
    जीवन एक,
    यात्रा है जो चलना पड़ता है,
    जीवन एक,
    कर्ज है जो भरना पड़ता है,
    जीवन एक,
    संघर्ष है जो लड़ना पड़ता है ।।
    कहने को तो,
    जीवन के बहुत से रूप हैं ,
    पर कहीं-कहीं,
    सुन्दर तो कहीं बहुत कुरूप है ।
    अंत में बस ये है कि,
    जीवन मात्र एक रंगमंच है ।
    जहां हम और आप,
    बस एक पात्र के अंश हैं ।।
    जहां हम और आप,
    बस एक पात्र के अंश हैं ।।

    ©saroj_gupta

  • kishor634 12w

    "जीवन"

    कभी चन्दन, कभी क्रंदन, कभी हो आत्म-अभिनन्दन।
    कभी दुर्भेद्य अंतर्मन..........कभी पावन कभी वंदन..!!

    कभी हर तत्त्व से ही दूर, फिरता है मेरा ये मन,
    कभी ताके है शून्य में.....नयन में घोल ले गगन..!!
    कभी दुःख-वास्तविकता हो, कभी हो कल्पना का क्षण,
    कभी प्रातः की किरणों से, चमकता है हृदय आँगन।

    कभी धरती-सा हो जाता, सहन-शक्ति समाता तन,
    कभी उपहास रत्तीभर, नहीं सहता ये अंतर्मन।
    कभी बजता बिगुल ऐसा, कि फिर आरम्भ होता रण,
    रहे जो ज्ञात नश्वरता, तो क्यों अमरत्व ढूँढता मन।

    कभी निज-भाव के आगे, त्याग देता समूचा धन,
    कभी अभिभूत धन से हो, करे निज-भाव का हनन।
    कहीं व्यापक है आलिंगन, कहीं तड़पन कहीं चुंबन,
    कहीं है प्रेम-व्यापकता, बसे कण-कण बसे जन-जन!

    कभी फिरता है सीना तान, करके वृक्ष का रोपण,
    कभी ले हाथ कुल्हाड़ी, दनादन काट देता वन..!!
    कभी कहता कि प्रेम से बड़ा, दिखता नहीं धरम,
    कभी इस्लाम को कोसे, सनातन में दिखे भरम..!!

    कभी हो वार कभी निसार, कभी खंजर कभी कंगन
    कभी टकरा भी जाता है, तेरा जीवन मेरा जीवन..!!
    यही एक सार जीवन का, कि जबतक साँस लेता तन,
    करो हर द्वेष का अर्पण, करो हर घाव का अर्पण।

    "हाँ, माना रुक गई हो श्वांस, डोलता नहीं अब तन,
    कि इससे भी बहुत आगे, तेरा जीवन मेरा जीवन..!!"
    - किशोर शुक्ल
    ©kishor634

  • jigna___ 12w

    तांका

    जीवन यह
    रंगमंच है सुनो
    हर दृश्य ही
    नया आकार लिए
    नया आस्वाद लिए

    ज्वारभाटे सी
    उथल पुथल है
    संवेदन में
    कभी उछलती सी
    लहरें कभी थमी

    नवरस है
    आधार रंगभूमि
    और जीवन
    पहने हुए होता
    भावों का ये मुखौटा

    कभी हास्य
    कभी रुदन होता
    कभी मिलन
    कभी विरही मन
    अदाकार बनना

    जीवन यह
    रंगमंच है सुनो
    किरदार हो
    जितना लंबा तेरा
    निभाना आवश्यक

    Jignaa
    ©jigna___

  • madhu_raj_purohit 12w

    Life(जीवन)

    ये जीवन कैसी पहेली है
    कभी गुड्डा कभी गुड़िया
    कभी संग की सहेली है
    ये जीवन कैसी पहेली है ।

    कभी मेला कभी मेहफिल
    कभी हर पल अकेली है
    ये जीवन कैसी पहेली है ।

    कभी झुगी कभी झुपडी
    कभी बड़की हवेली है
    ये जीवन कैसी पहेली है ।

    कभी गम सी कभी नम सी
    कभी जैसे कोई अटखेली है
    ये जीवन कैसी पहेली है ।

    कभी उज्ज्वल कभी झीनी
    कभी चादर ये मैली है
    ये जीवन कैसी पहेली है ।

    कभी सोना कभी चांदी
    कभी मिट्टी की ढ़ेलि है
    ये जीवन कैसी पहेली है ।
    ©madhu_raj_purohit

  • keentiwari 12w

    #abhivyakti09 @bal_ram_pandey जी ने अवसर दिया जीवन को लिखने का. अपनी समझ से एक छोटा प्रयास जीवन को लिखने का.

    Read More

    "जीवन"

    जीवन है एक
    बहता दरिया
    झर-झर बहता
    न कभी रूकता
    कभी उठता तो
    कभी गिरता
    लहरों की तरह
    अविरल बहता कभी थकता नहीं

    हो कोरोना
    या सुनामी
    गर्जन हो कहीं
    बिजली गिरे कभी
    सब सहता है
    पर डरे नहीं
    हर बाधा पार कर जाये
    पर कभी ये है थमता नहीं

    कभी हँसता तो कभी रोता है
    पल-पल ये रूप बदलता है
    ये जीवन प्यारे कई रूप धरे
    सबको यह संदेश यही देता है
    आना - जाना तो कटु सत्य है
    पर चलना है बस चलना है
    रूकना जीवन का काम नहीं
    बीते युग-युग पर ये कभी रूका नहीं

    ©keentiwari

  • gunjit_jain 12w

    #abhivyakti09
    #umeed05
    @bhawnapanwar जी द्वारा दिए गए शब्द "जिंदगी/जीवन" पर पुरानी एक रचना पेश है��


    ऐसे कर्म करो जीवन भर, कि किसी को भी तुमसे कष्ट न हो,
    तुम्हारा जिस्म अगर खत्म भी हो, पर कभी आत्मा नष्ट न हो।
    ❤️❤️❤️❤️

    Read More

    "जीवन"

    मुश्किलें आएँगी ही राह पर
    लेकिन भय, ना हो, मन में,
    लड़ना तुमको सीखना होगा
    मुश्किलें आएँगी, जीवन में।

    सिर्फ खुशी ही, नहीं मिलेगी
    रहना दुख की भी, छुअन में,
    डट'ना सीख लो, सुख-दुख
    के हर पल आएंगे जीवन में।

    दुःख में भी, मुस्कुराना सीखो
    कहीं! आँसू ना हो, नयन में,
    रोने की वजह, हर कोई देगा
    बिना वजह ही हंसो जीवन में।

    प्यार दोगे तो प्यार ही पाओगे
    बसो हर किसी की धड़कन में,
    नफरत के समंदर से दूर रहना
    सिर्फ प्यार कमाओ, जीवन में।

    केवल मधुर वाणी रहे मुख पर
    कटुता ना हो, तुम्हारे वचन में,
    यह बोली ही, याद रह जायेगी
    इंसां तो चला जायेगा जीवन में।

    समय सीमित है इस जहान में
    व्यर्थ न करो किसी अनबन में,
    बस सबकी इज़्ज़त करते चलो
    किसी से बैर न हो, जीवन में।

    मत अटको, किसी पड़ाव पर
    ढाल लो खुदको तुम नयेपन में,
    अच्छा हो या बुरा, समय गुजर
    ही जाएगा कभी इस जीवन में।

    धर्म-जात का ये भेद क्यों करना
    इंसान तो बसता है, हर जन में,
    सब धर्मों का, सम्मान करोगे तो
    कहे जाओगे विद्वान्, जीवन में।

    मत तलाशो मंदिर और मस्जिद
    ढूंढ लो ईश्वर को, कण-कण में,
    सर्वव्यापक है इस का रचियेता
    जो लाया तुमको इस जीवन में।

    नाशवान शरीर कब तक रहेगा
    समय आने पर खत्म है क्षण में,
    संवारना है तो आत्मा को संवारो
    वही साथ रहती है हर जीवन में।
    ©गुंजित जैन

  • akanshatiwari 12w

    जीवन एक संग्राम

    अनगिनत पहेलियों में उलझा
    जिम्मेदारियों के बोझ तले दबा
    सफलता की होड़ में भिड़ा
    पल भर विश्राम तत्पश्चात कार्य कर रहा
    जीवन संग्राम में मनुष्य लड़ रहा

    एक पतंग के भांति जिंदगी
    डोर बांधे नींव तैयार कर रहा
    आसमाँ को छूने के लिए तत्पर
    यात्रा संताप सह रहा
    जीवन संग्राम में मनुष्य लड़ रहा

    भावी हलचलों की आशंका
    मुकाबले हेतु सर्वदा कटिबद्ध
    नित्य नूतन योजनाओ का निर्माण
    चक्की में गेंहू समान पिस रहा
    जीवन संग्राम में मनुष्य लड़ रहा
    ©akanshatiwari

  • piu_writes 12w

    ज़िंदगी

    इस जिंदगी की गुत्थी को जितना तुम सुलझाओगे मुश्किल है यही इसमें उलझ कर रह जाओगे।। इससे तो अच्छा है बस जीवन जीते जाना दुख हो या सुख हो हर हाल में मुस्कुराना। जिंदगी उसी की है प्यारे जो इसे झेलता जाए जो ज़िन्दगी से भागे वो बुज़दिल कहलाये।। जीयो फिर तुम शान से काम ये करते जाओ सत्मार्ग पर चलो और ना तुम घबराओ।।जिंदगी फिर लगेगी आसान और लगेगी सुहानी चार दिन की ज़िंदगी और फिर सब फानी।।
    ©piu_writes

  • piu_writes 12w

    जीवन

    मेरे जीवन की बागडोर मेरे साई के हाथ ,दुनियां मेरा क्या बिगड़ेगी, दुनियां की क्या विसात।। साई नाम जीवन की का बस एक मंत्र जाप, सब मुश्किल हो जाये दूर परेशानी भागे अपने आप।। साई ज्ञान दीजिए मेरा जीवन ऐसा होए मेरी लेखनी के माध्यम से चैनों अमन में इजाफा होए ।। साई अपने भक्तन की राखो हमेशा लाज आज का दिन अच्छा बीते आने वाला जीवन हो लाजवाब।।
    ©piu_writes

  • dil_k_ahsaas 12w

    जीवन के कालचक्र में फंसे हुए हैं
    या
    मौत के कालचक्र से बच कर भाग रहें हैं
    जिंदा है या बस जिंदगी यूं ही हम काट रहें हैं
    हर इक पग पर इक नई चुनौती की बिसात ये कौन बिछा रहा हैं
    जिंदगी भी जैसे हमें चौसर का खेल सिखा रही हैं
    जीवन की धारा भी बहते झरने के समान बस बहती ही जा रही हैं
    और इंसान इसके तीव्र बहाव को सहने में लगा हुआ हैं
    जीवन, जीवन है कि सांसों का मोहताज बना हुआ हैं
    और सांसें निरंतर उम्र बढ़ाने में लगी हुई हैं
    जीवन और मृत्यु, एक दूसरे के पूरक बन बिना रूके एक-दूसरे का साथ निभा रहें हैं

    दिल के एहसास। रेखा खन्ना
    ©dil_k_ahsaas

  • piu_writes 12w

    जीवन जीने का नाम मुस्कुरा कर और संजोकर नव आशाएँ || जिंदादिल ही जीतें है मुर्दा दिल क्या ख़ाक जी पाएं ||
    ©piu_writes

  • prashantgazal 14w

    जिन्दगी

    इक आइना है जिन्दगी... तुम आजमाकर देख लो
    गर रो दिये तो रो पड़ी... गर हंस दिये तो हंस चली

    ©prashantgazal

  • soonam 21w

    लोगों का कहना है कि तू बड़ी आसान है
    पर तू तो मुश्किलों की जंजाल है ।।
    ऐ जिंदगी..
    जिसने तुम्हें समझ लिया उसके लिए
    सोने का खान है तू
    वरना.. एक कब्रिस्तान है तू ।।��
    बचपन में जो सबसे पहले मां-बाप का तोहफा मिला
    उन खुबसूरत पलों की पहचान है तू
    मेरे पापा के आंखों में अपने लिए देखा
    एक सुंदर सपनों का खान है तू ��
    ऐ जिंदगी..फिर किस हक से कह दूं
    कि..मेरे लिए कब्रिस्तान है तू ।।
    माना कि.. दर्द बहुत है तुझे जीने में
    पर उन दर्द को सहने की शक्ति तो
    तू ही देती है इस सीने में ।।
    ऐ जिंदगी..इम्तहान बहुत लेती है तू
    और उन इम्तहान के आड़े दर्द भी बहुत देती है तू☹️
    हंसता हूं तो..आकर रुला देती है
    ये कैसा खेल है तेरा
    हमेशा गिराकर..खुद से उठना भी सिखा देती है तू ।।
    समझो तो एक पहेली-सी है तू
    अच्छे वक्त में सहेली-सी है तू ।।��
    जब जब मैं अकेली पड़ी, तूने ही तो मुझे सहारा है
    फिर बुरे वक्तों का कैसे दे दूं तुझे दोष सारा
    क्योंकि..तू ही तो मेरी मंजिल और तू ही किनारा है।।✌️
    हां..आज भले ही ग़म बहुत है
    सपनों के पूरा न होने का इन आंखों में नम बहुत है
    पर ऐ जिंदगी..रोकर टूटना नहीं मजबूत बनना है मुझे
    अपनी परेशानियों का सामना मिलकर करना है तुझसे।।
    तोह..ऐ जिंदगी..चल आज फिर से दोस्ती करते हैं��
    तुझे negative से कुछ positive करते हैं
    चल मन को फिर से शांत करते हैं
    एक नई खुशी के साथ...अपने सपनों की नई उड़ान भरते हैं��
    क्या हुआ ना मिला जो मंजिल आज मुझे
    तो कल मिलेगा..
    शायद तूने ही उस साधारण से
    बहुत कुछ अच्छा लिखा होगा ।।��
    @soonam
    #abhivyakti09 @writersnetwork @writerstolli @mirakee @mirakeeworld #life #lifelesson

    Read More

    जिंदगी

    .












    . ❤️©soonam

  • faiza_noor 57w

    जिंदगी

    जिंदगी कहानी सा एक दौर है,
    सुख भी है यहाँ दुख भी और है,

    जिंदगी ने अपनी राह यूँ इस तरह मोड़ी है,
    जहाँ मन नही चाहता यह उसी दिशा में दौड़ी है,

    अपनो से जुदा कर इसने गैरों से मिलाया है,
    अपने पराये का फर्क भी खुब समझाया है,

    लाखों दिल तोड़ें इसने बहुतों पर मरहम लगाया है,
    इसे जीने में हर किसी ने अपने को जद्दोजहद में ही पाया है,

    खुशियाँ दी जब-जब इसने मन सबका हुआ मस्तमौला है,
    दुख के समय में लोगों ने क्यों अपने को औरों से तोला है,

    परिस्थितियों का जाल हर एक के लिए अलग बुना इसने,
    तुम्हें कुछ दिया तो औरों के लिए कुछ ओर चुना इसने,

    जिंदगी यूँ अपनी राहें कभी भी बदल सकती है,
    जहाँ छोड़ा था इसे आपने यह वही से शुरू हो सकती है,

    इसके दांव पेंच समझ पाना हर एक के लिए नहीं मुमकिन,
    सब्र रखकर मुस्कुराते हुए जीना बना देता है इसे बेहतरीन,

    ✍✍✍ faiza_noor ✍✍✍