#farmer

197 posts
  • vishnuuu_x 3d

    【अन्नदाता】

    मुझे बिलकुल नहीं पता कि नया कृषि कानून कैसा है?
    वो सही है या गलत?
    पर अगर ये गलत है तो इसका मतलब पुराना वाला सही था?
    और अगर पुराना वाला ही सही था तो
    70 साल से मेरे देश के अन्नदाता की हालत भिखारी जैसी क्यों है?
    और क्यों अन्नदाता अभी तक आत्महत्या करता रहा?

    Vishnuuu X

  • sri_nidhi__ 1w

    Just a thought

    ನಮ್ಮನ್ನು ಕಾಯುತಿರುವುದು, ಕಾಪಾಡುತ್ತಿರುವುದು

    ಸೈನಿಕರು, ರೈತರು, ವೈದ್ಯರು

    ಆದರೆ

    ನಮ್ಮನ್ನು ಕಾಪಾಡು ಅಂತ ನಾವು ಕೇಳಿಕೊಳ್ಳುವುದು ಮಾತ್ರ ದೇವರ ಹತ್ತಿರ
    ©sri_nidhi__

  • jagroop 2w

    Train as warrior

    If you give us hardships,keep giving it
    Despite run away,we face and living it
    Ancestors told us,you'll never backstab
    and your right you'll definitely to grab

    Definitely you have strong forces
    But we have done various courses
    How to fight in battlefield,we know
    If you want,we are ready to show

    We know you stuck in difficult situation,
    But we can't help you,yours creation,
    We are hardworker,not any spoil brat,
    For once come in field,you'll feel drat,

    Train hard like soldier,work as team,
    You can't clutch anything as cream,
    Farmers are the backbone of nation,
    They do their work with dedication,

    ©jagroop

  • dedestined 4w

    Handful of seeds...

    Strewn for the sparrows...
    On a lazy terrace...

    Handful of seeds...
    Spilled from a hole in the gunny sack...
    On the truck floor...

    Handful of seeds...
    Ground to a paste,
    For decorating the floor...
    Aipan... Kollam... Alponaa...
    Signifying prosperity...

    Handful of seeds...
    The result of a handful of seeds,
    Another bout of loans,
    Soil-leeching fertilizers & pesticides,
    & Watering at 2 in the night when there finally is electricity,
    Which was supposed to yield a fieldful of seeds...
    Which was supposed to pay off the loans...
    Which was supposed to "marry off" the second eldest daughter...

    Handful of seeds...
    Clutched in the fist & also spilling out
    Of rigour mortis...
    Of the "suicide death case"...

    Handful of seeds...

    ©dedestined

  • uyirttezhu 4w

    Farmers

  • ipraveen 4w

    किसान

    जीने के लिए परिस्थितियों संग ढलना पड़ता है,
    रास्ते मुश्किल होते हैं मगर कांटों पर चलना पड़ता है,
    किसान बनना इतना आसान नहीं होता जनाब,
    किसान बनने के लिए जिन्दगी भर धूप में जलना पड़ता है।
    ©ipraveen

  • ashishpratap 5w

    किसान

    है किसान वो
    देश की शान वो
    उसे ऐसे तो न रूलाओ-२

    भूखे की भूख मिटाता है वो
    हमारा अन्नदाता है वो
    उसे ऐसे तो न सताओ-२

    गमों को छुपाकर हँसता है वो
    १०० रूपए में न बिकता है वो
    उसे बिकाऊ तो न बुलाओ-२

    मानता हूँ कि उनमें से
    हैं कुछ खालिस्तानी,पर
    बाकियों की तो लाज बचाओ-२

    क्यों फेंकते हो पानी सड़कों पर
    उसी पानी से तुम
    किसी प्यासे की प्यास बुझाओ-२

    मूर्ख समझा है किसानों को
    कैसे आ गया वो बहकावे में
    ज़रा हमको भी तो समझाओ-२

    सिर्फ अपने लिए ही उगाई अगर फसल उसने
    मंहगाई से देश को कैसे बचाओगे
    ज़रा हमको भी तो बताओ-२

    कहाँ छिपे हो मोदी जी
    किसानों से भी तो बतियाओ
    अब ऐसे भी न तुम शरमाओ-२

    क्या सभी नेता एक जैसे ही होते हैं?
    बड़ा सम्मान था सबके दिलों में आपके लिए
    उसे ऐसे तो न गँवाओ-२

    इतनी अटकलों के बाद भी पहुँच गया आखिर किसान
    माथे पर पसीना तो आया ही होगा
    ज़रा अपना हाल तो सुनाओ-२

    तुम तो सोते हो चैन से घरों में
    और लिटाया है उसे सर्द रातों में सड़कों पर
    इतने भी कठोर तो न बन जाओ-२

    न जाने कितने किसान
    हर साल करते हैं आत्महत्या
    उनकी परेशानियाँ तो न बढ़ाओ-२

    न जाने कितने सोते हैं फुटपाथ पर
    और तुम बनाने चले हो नया संसद भवन
    ज़रा उनके लिए एक झोपड़ी तो बनवाओ-२

    न सहारा लो तुम विपक्ष का
    ये विनती है किसानों से, ऐसा न हो
    बाद में तुम पछताओ-२

    सबको बस कुर्सी प्यारी है
    अपने सिर का ताज, तुम
    किसानों के ख़ून से तो न सजाओ-२

    -आशीष प्रताप



    संसद भवन की जगह गरीबों के लिए घर,IIT,NIT बनवाते तो शायद देश का ज्यादा भला होता। न जाने कितने बच्चे IIT में seat न मिलने की वजह से आत्महत्या कर लेते हैं। 12,000-13,000 seats के लिए लगभग 10 लाख बच्चे Race में दौड़ते हैं कुछ का हो पाता है तो बहुत से दूसरे colleges का दरवाज़ा खटखटाते हैं। ये सिर्फ IITs ,NITs में ही नहीं बल्कि सभी अच्छे colleges में होता है। अगर यही पैसा जो संसद भवन बनाने में, बड़ी-बड़ी मूर्तियाँ बनाने में, मंदिर मस्जिद बनाने में खर्च किया जा रहा है यही पैसा अगर और Colleges बनाने में लगाते तो Competition भी कम होता सभी अच्छे से पढ़ पाते और देश की प्रगति में अपना हाथ बढ़ाते।


    ©ashishpratap

  • vasubandhu 6w

    ©Vasubandhu

  • vasubandhu 6w

    ©Vasubandhu

  • unsaid 6w

    #mirakee #writersnetwork #readwriteunite #unsaid #india
    #plunder #farmer #savefarmer #iprotest #farmlaws


    Translation:

    Tell the tyrants around you، that this plunder of rights will end soon.
    For they are the tentative not everlasting here.


    Urdu words ...

    Salab - to snatch / seize
    Haquq - rights
    Musafir - traveller
    Muqeem - permanent

    RAHAT SAHAB KEHTE THE...
    kirayidar hi to hain...zaati makan thodi hai.


    #unsaid - Do write if you are concerned...about the rights of individuals... irrespective of the place and people.

    Read More

    Plunder
    _-_-_-_-_-_


    Na kar salab haquq mere , ae zalim.
    Yahan tu musafir hai , muqeem nahi.

    ©unsaid

  • vasubandhu 7w

    ©Vasubandhu

  • piyushalbus 7w

    महलों से उतरकर आ सड़क पर और सब सवालों के जवाब दे,
    हैं ख़ौफ़ज़दा तेरी सब साज़िशें इस सैलाब-ए-मोहब्बत में क्या?
    #womens_voice #mother #farmer #workers #people #framersprotest #listen @mirakee @hindiwriters @readwriteunite

    Read More

    अधिकार

    अधिकारों की लड़ाई है ये माँओं की अगुआई में,
    है इतना ही जुनून किसी और की संगत में क्या?
    अहद-ए-ज़ुल्म पर भारी पड़ेंगी इनकी पाक दुआएं,
    है इतनी ही सच्चाई किसी और कि मन्नत में क्या?
    हम तो बस इनकी मुस्कुराहटों को पलकों पे सजाए बैठें हैं,
    है कुछ इससे भी अज़ीज़ तेरे आकाओं की जन्नत में क्या?
    ©piyushalbus

  • audacious_writer 7w

    #farmer #किसान #protest #आन्दोलन #आमआदमी

    Read More

    किसान

    हाहाकार है जी हाहाकार है..
    आम आदमी बेहाल है..
    खास्ता केजरीवाल है..

    विपक्ष बेहाल है..
    जरूरत पूरी करने..
    जुटा देश का किसान है!!

    हाहाकार है जी हाहाकार है..
    किसान अंदोलन से जुड़ गया..
    अब बिनबुलाया विपक्ष का अभिमान है..

    हम तो ना किसान है जी..
    ना सरकार के जागीरदार..

    हम तो ना किसान है जी..
    ना विपक्ष के नुमाइंदे..

    हम तो बस आम नागरिक है जी..
    जो चाहते किसान भाइयो बहनो को इंसाफ मिले..

    हाहाकार है जी हाहाकार है..
    अब आंदोलन से जुड़ गया..
    खुद की रोटी सेकने निकला..
    विपक्ष का अभिमान है!!!

    AC गाड़ी से आता विपक्ष का जागीरदार है..
    और केहता हमे तो किसानो से सहानुभूति है जी..
    जो ट्रैक्टर और पेदल चल कर..
    खड़ा इंसाफ मांग रहा है!!!

    हाहाकार है जी हाहाकार है..
    लाल टोपी पेहने निकला..
    अखिलेश जागीरदार है!!

    बोलने को तो ममता भी किसान है..
    और उद्धव जी भी..
    पर आंदोलन मैं तो अपनी रोटी सेक रहा..
    विपक्ष का अभिमान है!!!

    क्या सच है क्या झूट हम नहीं जानते जी!!!
    पर दूसरो के चूल्हे पर रोटी सेक कर..
    खुद को बड़ा बावरची बोलना..
    कहा का न्याय है जी!!!

    हाहाकार है जी हाहाकार है..
    सच्चे किसानो को इंसाफ मिले..
    बस यही चाहता यह‍ शब्दो का जागीरदार है जी..
    यही चाहता यह‍ शब्दों का जागीरदार है जी!!!

    ©Shubham Natu

  • _kritika__ 7w

    #किसान

    तुम देश का पेट भरते रहना,
    अन्नदाता कहलाओगे,
    ख़ुद के पेट भरने की बात कही,तो
    देशद्रोही बन जाओगे।

    तुम चुप-चाप सब सहते रहना,
    अगर अपने हक के लिए आवाज़ उठाई,तो
    गद्दार कहलाओगे।

  • soonam 8w

    कोई क्या प्रशंसा करें उसकी
    वो अपने में ही महान है..
    चाहे शीत हो या ग्रीष्म
    हो बरसात या शरद..
    वो अपने खून से सींचता
    पूरा ज़हान है..!!

    वो अपने पेट को काट कर
    हमारे पेट की सोचता है..
    बिना एक पैसे की लालच किए
    दिन-रात एक कर..
    सच्ची लगन व मेहनत से
    अनाज बोता है..!!

    एक ओर जहां हम..
    मां को अनपूर्णा दर्जा देते हैं
    वहीं दूसरी ओर..
    एक किसान अन्नदाता की भूमिका निभाता है
    वह कड़ी दुपहरी धूप में..
    बड़े प्रेम से हमारे लिए अन्न उपजाता है..!!

    स्वयं गरीबी की चादर ओढ़
    हमारे बारे में सोचता है..
    हमें भरपूर अनाज का सुख देकर
    वो किसान..
    खुद दर-दर भटकता रह जाता है..!!
    ©soonam


    @mirakee @writersnetwork @writerstolli @mirakeeworld #farmer

    Read More

    किसान

    कभी किसी ने सोचा है..
    हमारे लिए इतना मेहनत कर..
    हमारा पेट भरने वाले किसान
    खुद दो वक्त की रोटी के लिए तरस जाते हैं..!!
    ©soonam

  • jagroop 8w

    From farmers

    Don't try to hault farmers
    You can't ever stop them,
    If nation is full-fleged tree
    then farmers are it's stem,

    You think that they're illiterate
    & you don't know how to yield,
    If you know then answer me
    Have you ever gone to field?

    Don't dare to touch our ground
    We are furious if you do that,
    Our history is relate to braves
    Resist us,that's not easy brat,

    We conquered delhi 18 times
    Now 19th times is infront,
    It's the time,do ur realize error
    If u do,take back that stunt,

    ©jagroop

  • piyushalbus 8w

    "Jai Jawaan ! As long as they shut up and guard our borders.
    Jai Kisaan ! As long as they shut up and grow our food."
    #farmer #workers #protest #farmersstruggle #farmersuicide #listen @mirakee @hindiwriters @readwriteunite

    Read More

    किसान

    वो मुर्दा ख़ाक में ज़िंदा सोना उगा कर छोड़ देते हैं,
    हर कतरा खून का इस मिट्टी के आँचल में निचोड़ देते हैं।
    तुम इन बौनी दीवारों से उनके हौंसलों को क्या आज़माओगे ?
    जो उठा लें हल तो पहाड़ों का भी गुरुर तोड़ देते हैं।
    ©piyushalbus

  • unconditional_thoughts 8w

    Farmer

    फिज़ा ना मिले तो सांसे कहाँ से लाओ गे ।
    जमीन छूटे तो जीवन कहा बताओ गे ।।
    किसान टूटे तो अन कहाँ से लाओ गे ।
    रब जो रूठे तो खुदा कहाँ से लाओ गे ।।

  • chiikuuu 13w

    डरो उस बूढ़े किसान से जो,
    जोत देता हैं "सैकड़ों एकड़ जमीन"
    उसे सींचता हैं "अपने पसीने से"
    जिससे लहलहा उठती हैं "फसलें"
    सोचिए
    अगर वह जोत दे इन लहलहाती फसलों को,
    तो क्या होगा??

  • chiikuuu 15w

    चीर के जमीन को जो उम्मीद बोता है, मैं उस किसान का बेटा हूँ जो चैन से कहाँ सोता हैं...!!