#hindigeet

4 posts
  • laatsaabthewriter 43w

    ❤️

    कैसे मैं जिऊँ
    तेरे बिन अब
    तू ही दिखे हरसू है
    मेरा सब कुछ
    तू ही बस अब
    तू ही मेरी आरज़ू है

    ओ...
    हम्म...
    जो, तू मुझको न मिली
    किसी और की हुई
    मर जाऊंगा तभी

    तू, जो कह दे गर कभी
    तेरे नाम ज़िन्दगी
    कर जाऊंगा तभी
    -लाट साब
    ©laatsaabthewriter

  • laatsaabthewriter 45w



    धड़कनें मेरी, तुझको पूछे हर घड़ी
    तेरी कमी, दिल को बड़ी है बड़ी, करूँ क्या ये बता मुझे
    मंज़िलें मेरी, तुझ तक जाती है सभी
    तुझमे ही है ये मेरी ज़िन्दगी


    तू है तभी जीने में मुझको बहुत है आए मज़ा
    तेरे बिना है ज़िन्दगी सज़ा


    मेरी हर, दुआ में है, नाम तेरा
    तू ही मेरा है खुदा
    तुझको ही, चाहना है, काम मेरा
    और न कोई परवाह

    तू पहला-पहला प्यार है मेरा
    तू पहला-पहला प्यार है मेरा
    तू पहला-पहला प्यार है मेरा
    तू पहला-पहला प्यार है मेरा
    -लाट साब
    ©laatsaabthewriter

  • sanjeedakalam 86w

    ,#feather_of_peace #writerstolli #hindipoetry #hindipoem #writersclub #readwriteunite #hindilekhan #lovepoetry #soulwriter #writingmaniacs #hindigeet
    बेपरवाह ना हम कुछ पाने में रहे
    कंगाली में भी हम निशानों पे रहे
    अपने घर को भी टपकता छोड़ दिया
    फुहारों को भी हम आजमाने में रहें
    बदलते रहे जीेत को हार में भी
    हमेशा मेरा अहम तो ठिकाने पे रहे
    आंसूओं के मायने सभी जगह रहे
    जहां गिरे वहीं गुलाब सजाने में रहे
    जिंदगी हसीं थी जो जख्म हरे रहे
    न दुआ की न दवाखाने जाने में रहे
    वो मोहब्बत मेरी भी सकती थी कभी
    सफर की जल्दी में हाथ छुड़ाने में रहे
    ©sanjeedakalam
    १२२ १२२ १२२ १२२ meter

    Read More

    बेपरवाह

    बेपरवाह ना हम कुछ पाने में रहे
    कंगाली में भी हम निशानों पे रहे
    अपने घर को भी टपकता छोड़ दिया
    फुहारों को भी हम आजमाने में रहें
    बदलते रहे जीेत को हार में भी
    हमेशा मेरा अहम तो ठिकाने पे रहे
    आंसूओं के मायने सभी जगह रहे
    जहां गिरे वहीं गुलाब सजाने में रहे
    जिंदगी हसीं थी जो जख्म हरे रहे
    न दुआ की न दवाखाने जाने में रहे
    वो मोहब्बत मेरी हो सकती थी कभी
    सफर की जल्दी में हाथ छुड़ाने में रहे
    ©sanjeedakalam
    १२२ १२२ १२२ १२२ meter

  • sanjeedakalam 87w

    I wrote a song on you,you have to come to listen
    I don't consider that your have gone far away
    Bird is searching food and shelter while flying
    She has to come to home to be safe from storm
    Love is like a prison is just an excuse
    This world is also like a cellar where we live
    U don't know the soft touching feeling of pure love
    U are wandering like river to merge with sea at last
    I am like a straw to flow with your flow
    The love I learned from you ,I have to teach u again
    Who says that residual of human has to vanish
    I am immortal in you and you would be absorbed in me.
    #feather_of_peace #writerstolli #hindipoetry #hindipoem #writersclub #readwriteunite #hindilekhan #lovepoetry #soulwriter #writingmaniacs #hindigeet

    Read More

    प्रणय भाव

    इक गीत लिखा है तुमपर मैंने, तुमको सुनने आना है
    दूर गई अब आ नहीं सकती,अभी नहीं मैंने माना है
    चिड़िया उड़ते ढूंढ़ रही है जाने कहां आबो दाना है
    अरे दुनिया की आंधी से बच तुमको घर भी आना है
    सोच रही हो तुम अब क्या, क्या क्या तुमको पाना है
    कैद सरीखी प्रेम की डोरी, रहने दो महज बहाना है
    हम दोनों हैं जहां रह रहे वो भी थी एक तहखाना है
    प्रणय का मर्म भाव भी तुमने,नहीं अभी तक जाना है
    घूम रही नदी की जैसे फिर सागर में मिल जाना है
    मै तो हूं एक तिनके जैसा, तुमरे संग बह जाना है
    ये प्रेम है तुमसे सीखा, अब तुमको वहीं सिखाना है
    कौन कहे है मानव अंश को धरती पर मिट जाना है
    मुझ में तुम हो अमर हुई, मुझे तुममें समा जाना है
    ©sanjeedakalam