#hindiwriters

79511 posts
  • sqbscribbles 23m

    Haya ki noorien o pakizah kitaab ho tum,
    Hifz woh kare jiski shareek-e-hayat ho tum.

    Nemat ho khuda ki, kya zaat ho tum.
    Barkat ho, rehmat ho, ghar ki nashaat ho tum.

    Hon wajood se tumhare jinke ghar sarfaraaz.
    Zeenat ho, raahat ho, mahtaab ho tum.


    Excerpt from my poem zeenat.

    नूरीन-ओ-पाकीज़ा: full of light and pure
    हिफ्ज़: memorize.
    शरीक-ए-हयात: life partner
    नेमत: gift, boon
    नशात: joy, ecstacy.
    सरफराज़: respected, blessed, distinguished.
    ज़ीनत: beauty
    महताब: moon.

    Image: Pinterest

    #writersnetwork #mirakee
    @writerstolli @eisha_000 #Poem2Heart #yaminiread #sqb #tod_wt @iammusaafiir @dove_wings #laughing_soul #hindiwriters #urduWriters #RespectWoman #Aurat

    Read More

    ©sqbscribbles

  • meghnaad 39m

    खुली किताब हुँ,सब लिखते है
    उनके शब्द ,मेरी लिखावट में...

    कुछ पन्नें ख्वाइशमें है की उतर आए
    मेरे शब्द,मेरी लिखावट में...

  • vinibajaj 1h

    Raah pe,raat ko,
    yun hi tahalte-tahalte,
    Aaj fir arse baad,unse mulakaat ho gayi!!
    Wo bhi chup, hum bhi chup,
    Ajeeb ye baat ho gayi!!
    Badi himato ke baad,
    Humne unka haal-chaal poocha!!
    Wo chaand bhi kaha seedhe lafzo mai jawaab dene wala, dheere se bol pada,
    “zinda tha ab tak,mudatto baad tumhe dekh kar,fir jaan aa gayi”!!

    ©vinibajaj

  • aazadakash 1h

    खुशियां

    हमारी खुशियां नाटकीय और बनावटी चीज़ों मे उलझती जा रही है।


    ©aazadakash

  • satyankit 1h

    तोहफा

    मेरी कलम ने मुझे कभी धोखा नहीं दिया।
    जो मांगा के आशिक़ी कर सकूँ बयान।
    मुझे कुछ भी लिखने का मौका नहीं दिया।
    मिल लो कभी अकेले में इस कमबख़्त से,
    मेहबूब ने मन चाहा कभी तोहफा नहीं दिया।
    ©satyankit

  • arun_kumar_keshari 1h

    संदेश खुदा कि
    -------------------

    कहीं से कोई खबर आई है,
    तूफान कितना कहर ढ़ाई है ।

    हवायें तेज समुन्द्र उफान पर,
    घर से निकल जान पेआई है ।

    बिजली गिर रहीं आसपास कहीं ,
    बरसात कयामत बन सताई है ।

    पेड़ बचपन में जो लगाये थे ,
    आज वही हमें भी बचाई है ।

    जिसने सुना आवाक रह गया,
    बाकी सब ने जान गवाई है ।

    वफा कर प्रकृति से बेवफा न हो,
    यह संदेश खुदा कि बनाई है ।

    @अरूण कुमार केशरी
    ©arun_kumar_keshari

  • agni52 2h

    Mohabbat....

    Mohabbat mein nahin hai farq
    Jeene aur marne ka.....

    Usi ko dekh kar jeete hain
    Jis kaafir pe dum nikle......

  • shahzadsm_ 2h

    ©shahzadsm_

  • agni52 2h

    Dard...

    Dard Jab Dil Mein Ho
    Toh Dawa Keejiye.....

    Jab Dil Hi Dard Ho
    Toh Kya Keejiye....

  • agni52 2h

    Yahi To Hai Ishq...

    Dil Se Teri Nigaah
    Jigar tak utar gayi...

    Dono Ko Ikk Adaa Mein
    Razaamand Kar Gayi....
    ©agni52

  • vercifier 2h

    कौन कहता है पराए अपने नहीं हो सकते मैंने अपनों को पराया होते देखा है। भाई भाई को मारता है ढकेलता है, मगर मैंने तो सखा को मेरा कर्ज चुकाते देखा है।
    आपस में लड़ झगड़ कर भी प्यार से रहने वाले वह दो भाइयों को आज मैंने उनकी अपनी माँ से समझौता करते देखा है। प्यार की परिभाषा ही है शायद कष्ट भोगना कहां मना है। मैंने प्रेमियों की आत्मा को एक दूसरे में समाते हुए देखा है हाँ मैंने सब कुछ देखा है ।
    दुनिया को आंखें फाड़ फाड़ कर परखना जानती हूँ पर इन आंखों में मैंने दुनिया को धूल झोंकते देखा है।
    हाँ मैंने सब देखा है ।
    पतझड़ के मौसम में नए पत्ते झड़ते तो सब ने देखा है मगर मैंने उस अकेली डाली पर नई पत्तियाँ उगते भी देखा है। व्यस्त चीटियों को तो सब ने देखा है मगर मैंने उन चीटियों को अपने ही प्रतिबंध से डरते देखा है।
    हाँ मैंने सब देखा है ।
    चहकती चिड़िया की आवाज़ तो सबको मधुर लगती है मगर मैंने उससे चहचाहट के पीछे छुपे विरह को सुना ह।
    हाँ मैंने सब देखा है। जल शीतल है अपनी शीतलता से आग को बुझा देता है मगर मैंने उस शीतल जल को कड़ी धूप में तपते भी देखा है।हाँ मैंने सब देखा है ।
    इतना बोझ सह कर भी धरती फटती नहीं न ही डगमगा ती है, मगर मैंने तो धरती मां को भी आँसु बहाते देखा है।
    भले हैं वह जीव जो जानवरों से प्यार करते हैं मैंने कुछ स्वार्थी व्यक्तियों को इन जानवरों पर अत्याचार करते देखा है। हां मैंने सब देखा है।
    मशीनों से तो सभी व्यक्ति कोई ना कोई कार्य कराते ही हैं मगर मैंने तो व्यक्तियों को मशीनों का काम करते देखा है उन्हें इन का गुलाम बनते देखा है।
    पौधों पर लगा सुगंधित फूल सभी को भाता है मगर मैंने इसी फूल को लोगों के पाँवों तले कुचलते भी देखा है।
    हाँ मैंने यह भी देखा है। ठंडी-ठंडी हवा तो शीतलता प्रदान करती है मगर मैंने इन हवाओं को प्रतिशोध से गर्म होते देखा है, हां मैंने सब देखा है। अपने लिए तो दुनिया भोजन पकाती है मगर मैंने तो पौधों को पूरे संसार का पेट भरते देखा है। हाँ मैंने सब कुछ देखा है।

    Plzz read this poem ..its based on reality as we see all around us. like share and comment...if it pleases uh
    ©vercifier

  • dpti_deshwal 2h

    उनके साथ बिताए पल,आज बस कहने को ही ख़ास रह गए।
    पूरा वक्त लगे रहे उनके लिए, आख़िरी में वही टाइम पास कह गए।।

  • late_night_vibes9 2h

    वह बोल रहा था यार आजकल नींद नहीं आती क्या करूं......

    उसने कहा जानते हो
    जब सब कुछ खामोश हो जाता है तो,
    भट्ट के मुसाफिरों का मन जाग जाता है,
    जिनका ना कोई छोर
    ना कोई ठिकाना होता है,
    वही इंसान रात में नहीं सोता है ।।

    उनकी ही आंखों में नींद नहीं होती
    जिनकी जिंदगी में कोई मकसद नहीं होता,
    जो जिंदगी की जंग से असली
    जंग से सिर्फ भागता फिरता है ।।

    जो चीज उनको सोने नहीं देती
    वह है उनकी "बेचैनी"
    (आने वाले कल की फिक्र)
    मन को ठहराव चाहिए
    जिंदगी को मंजिल चाहिए
    मकसद चाहिए जुनून चाहिए
    जोश चाहिए ।।

    जरा बताओ
    बेमतलब की जिंदगी जीने वालों
    कहां से लाओगे यह सब ।।

    #hindiwriters #hks #writersnetwork #readwriteunite #mirakee #mirakeeworld #latenightvibes

    Read More



    रात में नींद नहीं आती...

    ©late_night_vibes9

  • kumar_atul 2h

    एक ही ज़िन्दगी और एक ही ख्वाब मेरा,
    अगर मरूँ तो ना करे कोई हिसाब मेरा।

    ©kumar_atul

    #hindiwriters #writingflames

    Read More

    Ik hi zindagi te ikko hi khuaab mera
    ..
    Je maraa ta naa kare koi hisaab mera

    ©kumar_atul

  • kumar_atul 2h

    Ek tarfa khyaal sabke hai,
    Ek tarfa ahem ke pyaale mein
    ..
    Pehchan'na ho kabhi sachha insaan,
    To jaana doosre paale mein

    ©kumar_atul

  • agni52 3h

    Ameeri Ka Jalwa

    Jin ke aangan mein ameeri ka shajar lagta hai,
    .
    .
    .
    Unn ka har aib bhi zamane ko hunar lagta hai.....
    ©agni52

  • chandankushwaha 3h

    Usey ankh band krke sochney se jo milta hai na..
    Sari khata to bus us ek aadat ki hai.. @_SARADHA_ ��

    11:15 7/15/19

    #hindiwriters #soulwriters #chaandan

    Read More

    #46

    उसको आंख बंद करके सोचने से जो मिलता है ना
    सारी खता तो बस उस एक आदत की है....

  • vishalkr 3h

    तुम ज़मी हो
    और मैं वो सितारा
    जो तुम तक पहुँचने से
    पहले ही राख हो जाएगा।।
    ©vishalkr

  • aazadakash 3h

    चालाकी

    आजकल प्रेम में चालाकी करनी पड़ती है। अगर आप चालाक नही है तो आपका कुछ नही हो सकता। जिसे ज्यादा चालाकी आती है उसका प्रेम उतना ही ज्यादा यशस्वी कहलाता है। हालांकि, जहां ज्यादा चालाकी होती है वहां कितना प्रेम होता है, यह एक अलग चर्चा का विषय है।

    जब तुम साथ थी तब मैं बिल्कुल भी चालाक नहीं था। अब तुम साथ नहीं हो, मैं चालाक बन गया हूं। अफसोस इस बात का नही है कि तुम साथ नही हो। अफसोस बस इस बात का है कि अब मैं चालाक बन गया हूं।


    ©aazadakash

  • dpti_deshwal 3h

    समय से पहले ही ए गालिब, हम ज़िन्दगी से हार गए।
    नुक्कड़ पर नाटकों की उम्र में, हमको तजुर्बे तमाचा मार गए।।
    ©dpti_deshwal