#kuchaisehi

1418 posts
  • ayush_tanharaahi 55w

    आम आदमी नही जीता, जीती यहां मुफ्तखोरी हैं,
    समझ आ ही गया आज क्यो इस देश की जनता की रगो मे आज भी नमक हरामी ने कोई जगह नही छोडी हैं।
    यह देश युहिं हज़ारो वर्षो तक गुलाम रहा नही,
    यहाँ आस्तीन के सांपो ने ही अपनी जहर उगलने की आदत कहां छोडी हैं।
    भगवान करे फ़िर वही मुगलिया सल्तनत का आलम इस देश मे नजर आयें,
    जब माँ, बहन, बेटियों की बोली सरे बाजार लगाई जायें।
    शायद उस वक्त ही तुम्हे उस शख्स की कीमत समझ आयेगी,
    जब तुम्हारे घर मे भी, हुई कश्मीरी पँड़ीतो के साथ हुई हैवनीयत दोहराई जायेगी।
    आज जीती देशभक्ति नही हैं,
    आज अफ़जल के रखवाले जीत गयें हैं, वो जिनके लिये कसाब जैसे आतंकवादी भटके हुएँ बच्चे हैं वो अपराधी जीत गयें हैं।
    आज भगवा नही हारा, आज देश मे इंकलाब की हार हुई हैं,
    भारत के टुकड़े करने वालों के इरादे जीत गयें हैं।
    यही सच्चाई हैं इस तथाकथित राष्ट्रवाद की,
    यहां मुफ्तखोरी की लत मे बिकने लग गये हैं जमीर लोगो के,
    यहां जीती तो भीख हैं, मगर जमीर हार गये हैं।
    आज कोई धर्म नही हारा, आज कोई जाती नही हारी,
    आज जो असल मे हिन्दुस्तानी हैं वही हार गये हैं।

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan

    दिल्ली वासियों को आपकी जीत मुबारक।

    Read More

    आज जीती देशभक्ति नही हैं,
    आज अफ़जल के रखवाले जीत गयें हैं, वो जिनके लिये कसाब जैसे आतंकवादी भटके हुएँ बच्चे हैं वो अपराधी जीत गयें हैं।
    आज भगवा नही हारा, आज देश मे इंकलाब की हार हुई हैं,
    भारत के टुकड़े करने वालों के इरादे जीत गयें हैं।
    यही सच्चाई हैं इस तथाकथित राष्ट्रवाद की,
    यहां मुफ्तखोरी की लत मे बिकने लग गये हैं जमीर लोगो के,
    यहां जीती तो भीख हैं, मगर जमीर हार गये हैं।
    आज कोई धर्म नही हारा, आज कोई जाती नही हारी,
    आज जो असल मे हिन्दुस्तानी हैं वही हार गये हैं।

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan

    दिल्ली वासियों को आपकी जीत मुबारक।

  • ayush_tanharaahi 56w

    सच कहना ,
    और
    सुन पाना ,
    इतना सरल यह का काम नही.....

    अंगारो पर चलकर भी,
    होंठो पर मुस्कान सजा पाना कोई नादानो का काम नही...!!!!!

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan #mereprashnmerisoch

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 56w

    मन्जिल पर पहुचने का मजा तब ही हैं,
    जब मोहब्बत सफ़र से हो जाये...!!!!
    लम्हे आयेंगे और आकर गुजर भी जायेंगे,
    जिन्दगी वही हैं जो मुस्कुरा कर जी ली जायें....!!!

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan #mereprashnmerisoch

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 56w

    प्रेम को जानने वाला कभी मोह मे नही उलझता।
    वह जीना जानता हैं, और जीता हैं,
    प्रेम का होकर , प्रेम के साथ,
    हर जगह , हर पल उस प्रेम के एहसास मे!
    बिना दर्द, दुख , तकलिफ और शिकायत के......!!!!!!

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan #mereprashnmerisoch

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 57w

    निकला था मैं भी मांगने को उस खुदा से तमाम ऐशो-आराम जिन्दगी के,
    मगर जब मिला , तो छोड के सारे ऐशो-आराम जीवन के हर क्षण मे हर पल साथ उन्ही का माँग आया।

    मोह छूट गया संसार से उसी क्षण,
    जब सामने मेरे उभर कर प्रतिबिंब से उस मुरत की,
    जलती हुई ज्योत सा पवित्र एक रूप उभर आया।

    मैं असमंजस मे उस पल मे सांसारिक सबकुछ झुठला बैठा ,
    जब उस शक्ती के एहसास को जाना बस तबसे उसका हो बैठा।

    मोह-माया की भाषा का वहां कोई तौल नही होता,
    मन के भाव से बढ़कर वहां पर कोई और मौल नही होता।

    सब कुछ भूल जाओगे जब उस मूल से ऊपर आओगे,
    दुनिया के इस मायावी प्रपंच से मुक्त ही होना चाहोगे।

    जब एहसास हो जायेगा झुठ हैं सबकुछ जो देखा , सुना और जाना हैं,
    एक सत्य इस मिथ्या जीवन के मायावी संसार का बस अपने आप को पाना हैं।

    पहले यात्रा खुद को पाने की , फ़िर असीम कल्पनाओ का विस्तृत यह ब्रह्मांड हैं,
    एक खण्ड मे कही किसी चीटी सा हम रहते हैं, ऐसे ही 84 ब्रह्मांडो का सोच से भी परे एक विस्तृत यह वैदिक सार हैं।

    मगर यात्रा सबसे पहले खुद को पाने की करनी होगी,
    जब पा लिया खुद को तो, फ़िर हर यात्रा बहुत छोटी होगी।

    शायद योगियों के जीवन का यही विस्तृत सार हैं,
    कुछ भी नही हैं हम उसके आगे, जिसने रचा यह सारा मायाजाल हैं।��

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan #ayuspiritual #mereprashnmerisoch

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 57w

    तलाश खुदा की, करने की जरुरत कभी ना पढ़ती तुम्हे....
    गर जो किसी की हँसी मे छुपे दर्द और आंखो की गहराई के राज समझ पाते तुम.......!!!!!
    खैर छोड़ो.....
    तुम तलाश लो कही खुद को भी....
    क्या पता खुदा तुम्हे तुम्हारी खुद की ही तलाश मे कही मिल जायें....!!!��

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan #mereprashnmerisoch #ayuspiritual

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 57w

    जिन्दगी हर पल मे दुगनी रफ्तार से गुजरती ही जा रही हैं.....
    मगर
    तेरी कमी का एहसास , मिटा नही पा रही.....
    गुजर रही हैं जिन्दगी, जिन्दगी के साथ साथ वक्त, और वक्त के साथ मे भी गुजरता जा रहा हूं.....
    खुद को पा रहा हूँ,
    कुछ लोगो की नजरो से खुद को समझ भी पा रहा हूं.....
    मगर नही मिटा पा रहा तुम्हारी यादों को,
    तुम्हारे एहसासों को,
    मिटा रहा हूं कही तो बस, मिटा रहा हूं खुद को......
    इस बीतती जिन्दगी के साथ गुजर रहे वक्त मे हर गुजरते लम्हे मे......
    हाँ मिटा रहा हूँ खुद को, तेरी यादों मे कही आज भी मैं......
    पता नही क्यो, मगर यही सच हैं.......!
    मैं अधुरा हूँ तेरे बिना,
    मेरी हर कहानी का अनकहा सा तू ही सच हैं.....!!!!

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan #sonayu

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 57w

    बहन का होना अपने आप मे बहुत गर्व की बात होती हैं। अगर बहन बड़ी हो तो एक नही दो माँ का प्यार व्यक्ति पा सकता हैं। और अगर छोटी हो तो बचपन से ही एक पिता का फ़र्ज निभाने का सौभाग्य पा सकता हैं।
    हर बात उससे कह सकता हैं, उसे चिड़ा सकता हैं, उसे हर उस बुरी नजर बुरी चीज से बचा सकता हैं जो उसके लिये सही नही। पता हैं क्यो क्योकी वो जानता हैं उसे ईश्वर ने जो अनमोल तोहफा दिया हैं, वह हर किसी के नसीब मे नही होता। इसलिये ही भाई बहन का रिश्ता दुनिया मे सबसे अनोखा होता हैं।
    मेरी बड़ी बहन तो हैं, मगर मेरी कोई छोटी बहन नही। इस मंच पर मुझे बहुत बहनो ने भाई कहाँ, मगर एक नटखट सी परी जो इस मंच की जान हैं, उसने जब मुझे कहां की मैं आपको भैयू कहकर बुलाऊ, तो मुझे लगा आज सच मे मुझे मेरी छोटी बहन मिल गई । तबसे आजतक बस मैं उसे डोरेमोन ही बुलाता हूं। मेरी छोटी सी, प्यारी सी डोरेमोन। जिससे मैं आजतक नही मिला, ना ही कभी बात हुई, बस एक अनकहां सा रिश्ता ऐसा जुड़ गया हैं, उससे की उसकी हर फरमाईश सर आंखो पर होती हैं। और हो भी क्यो ना इतनी प्यारी, इतनी नटखट, इतनी चुलबूली सी जो हैं वो। मेरी प्यारी सी छोटी बहन, मेरी प्यारी डोरेमोन, मिराकी की सेजू परी। जो बेधड़क दिल से हर बात बिना डरे कँह जाती हैं। हमारी बद्तमीज गेंग की लेडी डॉन। जिसकी कलम मे कभी रक्त बहता हैं, तो जो कभी एक मिस्टीरियस सी लडकी बन जाती हैं। मगर कुछ भी कहो अपनी बातों से दिल वो सबका जीत ही जाती हैं। इसलिये ही तो मैं हमेशा उसे डोरेमोन बुलाता हूं। देखो आज डोरेमोन की उम्र एक साल और बढ़ गई, और पता ही नही चला की कैसे मुझे डोरेमोन से मिराकी पर मिले लगभग 2.5 साल हो गये। लिखना बहुत कुछ था मेरी प्यारी नटखट बहन के लिये मगर क्या करुँ शब्द ही नही मिल पा रहे की क्या लिखूँ । इसलिये बस ईश्वर से यही दुआ हैं की तुम हमेशा युहिं मुस्कुराती रहो, और सबको युहिं हँसाती रहो।
    जन्मदिवस की बहुत बहुत शुभकामनायें डोरेमोन������.....������25jan
    @mysterious__girl__

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan #seju

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 58w

    जो शुद्ध हैं वही सिद्ध हैं....!!!!

    शुद्ध अर्थात्,
    मन से, विचारों से, प्रकृती से, आचरण से, और खुद के अहं से...����

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan #ayuspiritual #mereprashnmerisoch

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 58w

    गुजरता वक्त अपने साथ गुजरते हर लम्हे मे यह एहसास और गहरा करा जाता हैं,
    इन्सान जिसे अपना सबसे खास समझता हैं, वही अन्त मे आस्तीन का साँप बनकर सामने आता हैं.....!!!!����

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 58w

    ज़िक्र तेरा करना तो उसी दिन छोड दिया था,
    जिस दिन तेरे हाथो ने हाथ किसी और का थाम लिया था....!!!
    मगर फिक्र तेरी आज भी दिल बार बार करता हैं,
    जब-जब जहन मे आता हैं उतर ख्याल तेरा.....!!!
    जब नजर आ जाता हैं,
    अक्स मे मेरे कोई छुपा हुआ सा किरदार तेरा.....!!!
    हाँ फ़िक्र करता है यह दिल आज भी,
    पर सिर्फ यह दिल.......यह शख्स नही...!!!
    यह शख्स अब पत्थर हो चुका हैं......
    जिसे खुद की गहराई का पता नही वह समुंदर हो चुका हैं......!!!!!

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan

    @rangkarmi_anuj

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 58w

    मेरे वजूद मे कही आज भी तु गुम तो हैं,
    ये तन्हाई युहिं मुझे रास नही आती.....!!!!

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 58w

    शतरंज की अपनी ही बाजी भी कभी-कभार उल्टी पढ़ ही जाती हैं जनाब,
    हर बार धूर्त चाले कामयाब हुआ नही करती.....!!!!

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 58w

    मेरे खिलाफ कौन क्या कर रहा हैं,
    मुझे पता तो सब हैं।
    मगर देखना चाहता हूं,
    तुम्हारी गिरने की औकात कहां तक हैं।
    कौन अपना होकर भी अपना नही हैं,
    कौन हर हाल मे अपना ही हैं।
    देखना चाहता हूं ,
    माहिर खिलाड़ी कौन कौन कहां तक हैं।
    मेरी खामोशी को मेरी कमजोरी समझ ना लेना,
    मैं शिकारी नही इसे मेरी अदाकारी समझ ना लेना।
    मैं खूंकार हूं, घायल भी हूं,
    मिटने को तैयार भी हूं।
    तुम अपनी खैर मनाओ अब,
    मैं लाने को तबाही निकला एक तूफान भी हूं।
    मैं वो नही जो तुम समझ रहे हो,
    मैं इंसानी खाल ओडा हुआ एक शैतान ही हूं.......!!!!

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 63w

    पता नही हम आज किस महान देश मे जी रहे हैं,
    समझ ही नही आता क्या यह वही देश हैं, जो हमने पुराणो मे शास्त्रों मे और इतिहासकारो के लेखो मे पढ़ा, देखा और सुना था, या कुछ और.......
    सही कौन हैं और गलत कौन इसका अन्दाजा तो सभी लगा सकते हैं। मगर यह समझ नही आ रहा इस देश की जनता आखिर कब तक गुलाम रहेगी, अपनी ही सोच की। आखिर कब तक मुफ्त खोरी के लिये देश को ही दीमक की तरह खाती रहेगी।
    हम किस और अग्रसर हैं यह तो पता नही, मगर जो मानसिक गुलामी की प्रतिस्पर्धा मे हम चल रहे हैं ना, वह आने वाले समय मे और घातक होने वाली हैं। हम अनेकता मे एकता की परिभाषा को छोड़, एक को अनेक करने की और अग्रसर हैं। जो आगे चलकर एक भयावह रूप धारण कर लेगी। हजारो सालो तक हम लूटते रहे मुगलो के हाथो, फिर अंग्रेजो ने हमे लूटा, और फिर दौर आया हमारे अपनो का। मगर यह सब सम्भव क्यो हो पाया , क्योकी मिलावट कही नही हमारे खून मे भी जो आ चुकी हैं आज नही बरसो पहले से। हमे हर बार धौका और छल अपनो से ही प्राप्त हुआ हैं, ना की किसी और से। और आज भी यही चल रहा हैं, मगर आज कोई आवाज उठाना चाहता नही। आज सिर्फ सब अपनी जिन्दगी जीने मे लगे हैं, फिर उसके लिये उन्हे कितना ही गिरना क्यो ना पड़े । जो सही हैं, सब उसके खिलाफ खड़े होकर उसे गिराने मे लगे हैं, क्योकी जानते हैं, अगर मुफ्तखोरी की लत से इस देश के वासी आजाद हो गये तो, फिर हमारी गुलामी आखिर करेगा कौन।
    हम सिर्फ एक भीड़ का हिस्सा हैं, और कुछ नही जिसे हर कोई अपनी बातों मे बहला-फूंसला कर अपना उल्लू सीधा करने मे लगा हैं। मानो या ना मानो मगर यही सत्य हैं।

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan #mereprashnmerisoch

    Read More

    पता नही हम आज किस महान देश मे जी रहे हैं,
    समझ ही नही आता क्या यह वही देश हैं, जो हमने पुराणो मे शास्त्रों मे और इतिहासकारो के लेखो मे पढ़ा, देखा और सुना था, या कुछ और.......
    सही कौन हैं और गलत कौन इसका अन्दाजा तो सभी लगा सकते हैं। मगर यह समझ नही आ रहा इस देश की जनता आखिर कब तक गुलाम रहेगी, अपनी ही सोच की। आखिर कब तक मुफ्त खोरी के लिये देश को ही दीमक की तरह खाती रहेगी।
    हम किस और अग्रसर हैं यह तो पता नही, मगर जो मानसिक गुलामी की प्रतिस्पर्धा मे हम चल रहे हैं ना, वह आने वाले समय मे और घातक होने वाली हैं। हम अनेकता मे एकता की परिभाषा को छोड़, एक को अनेक करने की और अग्रसर हैं। जो आगे चलकर एक भयावह रूप धारण कर लेगी। हजारो सालो तक हम लूटते रहे मुगलो के हाथो, फिर अंग्रेजो ने हमे लूटा, और फिर दौर आया हमारे अपनो का। मगर यह सब सम्भव क्यो हो पाया , क्योकी मिलावट कही नही हमारे खून मे भी जो आ चुकी हैं आज नही बरसो पहले से। हमे हर बार धौका और छल अपनो से ही प्राप्त हुआ हैं, ना की किसी और से। और आज भी यही चल रहा हैं, मगर आज कोई आवाज उठाना चाहता नही। आज सिर्फ सब अपनी जिन्दगी जीने मे लगे हैं, फिर उसके लिये उन्हे कितना ही गिरना क्यो ना पड़े । जो सही हैं, सब उसके खिलाफ खड़े होकर उसे गिराने मे लगे हैं, क्योकी जानते हैं, अगर मुफ्तखोरी की लत से इस देश के वासी आजाद हो गये तो, फिर हमारी गुलामी आखिर करेगा कौन।
    हम सिर्फ एक भीड़ का हिस्सा हैं, और कुछ नही जिसे हर कोई अपनी बातों मे बहला-फूंसला कर अपना उल्लू सीधा करने मे लगा हैं। मानो या ना मानो मगर यही सत्य हैं।

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan #mereprashnmerisoch

  • ayush_tanharaahi 65w

    बलात्कार करने वाले ही नही, उन बलात्कारियों को जन्म और श्रेय देने वाले माता-पिता भी गुनहगार ही हैं। जिन्होने अपनी सन्तानो को जन्म तो दे दिया, उनकी हर माँग पूरी भी की, मगर उन्हे संस्कार देना भुल गये। उन्हे इन्सान और खिलोने के बीच का फर्क बताना भूल गये। उनके सामने दिनभर टी.वी पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रमो के बीच मे कन्डौम का ऐड तो देखते रहे, मगर उन्हे नारी की मर्यादा की रक्षा करने की प्रेरणा देना भूल गये। हर चलचित्र हर प्रसारित होते कार्यक्रमो मे दिखाई जा रही नंगाई पर तो खूब तालियाँ और सिटी बजाई, मगर अपनी सन्तान की हरकतो पर नजर रखना भूल गये। दोष किसी को भी दो, मगर दोषी तो हर कोई हैं। मैं ,आप , हर वो शख्स, हर वो मा-बाप, जिन्होने कभी भी अपने सामने परोसी जा रही नंगाई का विरोध तो कभी किया ही नही, अपने बच्चो को संस्कार के नाम पर कुछ दिया ही नही। सब व्यस्त रहे अपनी जिन्दगी और अपनी ख्वाईशो को पुरा करने में, मगर अपनी और अपनी सन्तानो की नीयत और नजर को कभी परखा ही नही। सरकार को दोष देने से हो क्या जायेगा , क्योकी सम्मान तो किसी ने अपनी संस्कृती का ही कभी किया नही। हां अपराधी हम सब हैं, और आज से नही हमेशा से, क्योकी हमने सहन करना और आरोप-प्रत्यारोप करना जो सीख लिया हैं। और कुछ गलत होने पर मोमबत्ती लेकर सडको पर अपना रोष प्रकट जो कर आते हैं। मगर फिर घर आकर बिग-बॉस जैसे नाटको मे, टी.वी पर प्रसारित होने वाले हर एक विज्ञापन, दिखाई जाने वाली हर एक सिनेमा, और नेटफ़्लिक्स जैसी साइट्स पर परोसी जा रही नंगाई को उन्ही सन्तानो के साथ हंसते मुस्कुराते हुएँ देखते हैं, जो आने वाले समय का, आने वाले युग का भविष्य हैं। और खा पीकर सो जाते हैं। सब अपना अपना कार्य अपने ढंग से कर रहे हैं, अपने जीवन को जीने के लिये। किसी को किसी और से कोई मतलब नही हैं, शायद हम अपनी जिन्दगी को अपने अनुसार जीना चाहते हैं, मगर क्या सच मे हम अपराधी नही हैं, कोई कँह सकता हैं ऐसा, कोई भी एक शख्स...........नही कँह सकता , क्योकी हम सब अपराधी हैं......!!!



    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan #mereprashnmerisoch

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 67w

    हम पर जो गुजरी हैं, उसे तुम क्या जानोगे,
    बातें तो समझ पाते नही, आंखों की जुबानी कैसे जानोगे....!!!
    युहिं मुस्कुराना नही छोड़ा हैं हमने,
    अभी शुरुवात हैं तुम्हारी, कुछ दिन बीत जाने दो मोहब्बत क्या हैं तुम भी जानोगे....!!!

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 67w

    हमारी सादगी ने ही हमे बर्बाद किया हैं,
    झूठो की महफ़िल मे सच्चाई को नीलाम किया हैं.....!!!!!
    हम मरते रहे इज्जत कमाने की खातिर,
    लोगों ने सौदा इज्जत का कर के ही अपना नाम किया हैं....!!!!!

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 67w

    पता नही क्या लिख दिया, कैसा लगा बताना जरुर����



    प्रीत मे खोकर साजन की,
    वो बावली जो होये.....!!!
    जग बिसराये पगली वो,
    सुध बुध अपनी खोये....!!!

    साजन मोरा मोहन प्यारा,
    मैं गोपी बन उसकी फिरती फिरूँ आवारा....!!!
    यह भक्ति की उपज प्रेम को अमर मेरे कर देगी,
    मैं दासी मोहन की हुई जो, रूह प्रेम को मेरे वर लेगी....!!!

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan #mereprashnmerisoch

    Read More

    .

  • ayush_tanharaahi 67w

    नीयत, विचार और आचरण ही किसी के चरित्र का सही आइना होता हैं,
    नजरो का क्या हैं, वह तो वही देखपाती हैं जो जमाना सामने जाहिर करता हैं।

    ©आयुष पंचोली
    ©ayush_tanharaahi

    #kuchaisehi #ayushpancholi #hindimerijaan #mereprashnmerisoch

    Read More

    .