#mahendrakapoor

5 posts
  • arshshams 9w

    Chalo ek Baar phir se ajnabi ban jaaye hum dono!

    Tarruf rog ho jaye toh usko bhulna behtar
    Talluk bojh ban jaye toh usko todna acchha
    Woh afsana jise anjam tak lana na ho mumkin
    Use ek khubsurat mod dekar chhodna achchha
    Chalo ek bar phir se ajnabi ban jaaye hum dono.

  • gargi13aug 16w

    Khwab chun rahi hai raat bekarar hai
    Tumhara intezaar hai

  • gargi13aug 16w

    तुम्हें भी कोई उलझन
    रोकती है पेशकदमी से
    मुझे भी लोग कहते हैं
    कि ये जलवे पराए हैं

    मेरे हमराह भी रुसवाइयां हैं
    मेरे माझी की
    तुम्हारे साथ भी गुज़री हुई
    रातों के साये हैं

  • gargi13aug 17w

    न मैं तुमसे कोई उम्मीद रखूँ
    दिलनवाज़ी की
    न तुम मेरी तरफ़ देखो
    गलत अंदाज़ नज़रों से
    न मेरे दिल की धड़कन लड़खड़ाये
    मेरी बातों में
    न ज़ाहिर हो तुम्हारी
    कश्मकश का राज़ नज़रों से

  • harshadhipati 25w

    अजनबी

    .
    .
    तुम्हें भी कोई उलझन रोकती है पेशकदमी से..
    मुझे भी लोग कहते हैं के ये जलवे पराये हैं ।

    मेरे हमराह भी रुसवाईयाँ हैं मेरे माज़ी की...
    तुम्हारे साथ भी गुज़री हुई रातों के साये हैं ।

    चलो एक बार फिर से....