#panchdoot_social

2790 posts
  • parulsharma 3d

    दिल लगा के हम जीते हैं
    दिल हार के पल पल हर पल गम पीते हैं
    जख्मों की उधड़ी कतरनों को
    अपने ही आँशूओं से सीते हैं
    रोये है अपने ही साये के कंधों पे
    सर रख कर कुछ ऐसे भी लम्हे बीते है
    दिल लगा कर कहाँ हम जीते हैं।
    पारुल शर्मा

    @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal
    @mirakeeworld@writersnetwork

    Read More

    दिल लगा के हम जीते हैं
    दिल हार के पल पल हर पल गम पीते हैं
    जख्मों की उधड़ी कतरनों को
    अपने ही आँशूओं से सीते हैं
    रोये है अपने ही साये के कंधों पे
    सर रख कर कुछ ऐसे भी लम्हे बीते है
    दिल लगा कर कहाँ हम जीते हैं
    ©parulsharma

  • parulsharma 3d

    ना #even देखे ना #odd
    #यादें चली आती हर #रोज
    पारुल शर्मा
    @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal
    @mirakeeworld@writersnetwork

    Read More

    ना even देखे ना odd
    यादें चली आती हर रोज
    ©parulsharma

  • parulsharma 1w

    हड्डी फेंको गुलामी पालो
    गर बगाबत सर उठाये तो
    भेड़ियों को दंगयी हथियार दे डालो
    जंगल के नियमों से परे राजनीती का सफर
    ये सियासत भर नहीं है महज़।
    पारुल शर्मा


    @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    हड्डी फेंको गुलामी पालो
    गर बगाबत सर उठाये तो
    भेड़ियों को दंगयी हथियार दे डालो
    जंगल के नियमों से परे राजनीती का सफर
    ये सियासत भर नहीं है महज़।
    ©parulsharma

  • parulsharma 1w

    बैठे थे #सफहों की जमीं पर हर्फ #इत्मिनान से
    #जज्बात फूँक के किसने इन्हें #इस्तिहार किया हैै
    पारुल शर्मा
    @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal
    @mirakeeworld@writersnetwork

    Read More

    बैठे थे सफहों की जमीं पर हर्फ इत्मिनान से
    जज्बात फूँक के किसने इन्हें इस्तिहार किया हैै
    ©parulsharma

  • parulsharma 1w

    ज़िन्दगी में क्या कमी है ढूँढकर
    हमें उसे खुद ही भरना होता है
    पारुल शर्मा
    @mirakeeworld@writersnetwork @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    ज़िन्दगी में क्या कमी है ढूँढकर
    हमें उसे खुद ही भरना होता है
    ©parulsharma

  • parulsharma 1w

    ठोकरें गला ठोंक कर नहीं आती
    मगर हम को ठोक जरूर देती हैं
    पारुल शर्मा
    @mirakeeworld@writersnetwork @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    ठोकरें गला ठोंक कर नहीं आती
    मगर हम को ठोक जरूर देती हैं
    ©parulsharma

  • parulsharma 1w

    दिल की राह में चालान कटा यूँ यादों पर
    एक-एक टकसाल हो गयी दोनों आँखें
    पारुल शर्मा
    @mirakeeworld@writersnetwork @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    दिल की राह में चालान कटा यूँ यादों पर
    एक-एक टकसाल हो गयी दोनों आँखें
    ©parulsharma

  • parulsharma 1w

    मैं हारा हुआ मुलाज़िम और तुम जीत के सौदागर
    थामकर हाथ मेरा भला घाटे का सौदा क्यों करोगें
    पारुल शर्मा
    @mirakeeworld@writersnetwork @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    मैं हारा हुआ मुलाज़िम और तुम जीत के सौदागर
    थामकर हाथ मेरा भला घाटे का सौदा क्यों करोगें
    ©parulsharma

  • parulsharma 2w

    चेहरे ही नहीं गम भी नकाब ओढ़ते है
    जानते हो ना, खुशियों का
    पारुल शर्मा
    @mirakeeworld@writersnetwork @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    चेहरे ही नहीं गम भी नकाब ओढ़ते है
    जानते हो ना, खुशियों का
    पारुल शर्मा
    ©parulsharma

  • parulsharma 2w

    कहाँ लेखनी है वो औजार बनती है
    इसके शब्दों की धार बहुत पैनी
    कहाँ लेखनी है वो जो शिक्षा बनती है
    नन्हें हाथों से उनका भविष्य लिखती है
    कहाँ लेखनी है वो जो प्रेम बुनती है
    प्रेम को प्रेम में रख जिन्दा करती है
    कहाँ लेखनी है वो व्यवस्थायें गढती है
    शासन अनुशासन तय कर एक करती है
    लेखनी सबके पास है काम इसके हजार है
    ये लेखनी है जो देश को साक्षर करती है
    पारुल शर्मा
    @mirakeeworld@writersnetwork @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    कहाँ लेखनी है वो औजार बनती है
    इसके शब्दों की धार बहुत पैनी
    कहाँ लेखनी है वो जो शिक्षा बनती है
    नन्हें हाथों से उनका भविष्य लिखती है
    कहाँ लेखनी है वो जो प्रेम बुनती है
    प्रेम को प्रेम में रख जिन्दा करती है
    कहाँ लेखनी है वो व्यवस्थायें गढती है
    शासन अनुशासन तय कर एक करती है
    लेखनी सबके पास है काम इसके हजार है
    ये लेखनी है जो देश को साक्षर करती है
    ©parulsharma

  • parulsharma 2w

    जिन्दगी ने कब्रगाह बना दिया दिल को
    और हम इसे म्यूजियम बनाकर
    शायरी का नाम दे बैठे
    तुम आ जाना किसी ट्रिप के बहाने
    देखने कि जज्बातों की लाशों को
    यादों की लेप से अरसों से
    तरोताजा रखा है
    उस दिन की तरह
    जब तुुम छोड़ गये थे हमें
    अब जिन्दा तो नहीं हो सकती ये
    पर इन्हें न जला सकते है न दफना सकते है
    क्योंकि ये देह नहीं
    पर मरती जरूर हैं
    कहीं खत्म ना हो जायें
    इसलिये यादों के लेप से इन्हें बुसने ना दिया
    एक म्यूजियम बना दिया
    चिजों को सजाकर भी तो रखना होता है
    तुम देखने तो आओगे ना
    जो अपना रिश्ता ना सम्हाल सकी
    उसे चीजें सम्हाल कर रखना आता भी है या नहीं
    पारुल शर्मा
    @mirakeeworld@writersnetwork @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    जिन्दगी ने कब्रगाह बना दिया दिल को
    और हम इसे म्यूजियम बनाकर
    शायरी का नाम दे बैठे
    तुम आ जाना किसी ट्रिप के बहाने
    देखने कि जज्बातों की लाशों
    यादों की लेप से अरसों से
    तरोताजा रखी है
    उस दिन की तरह
    जब तुुम छोड़ गये थे हमें
    अब जिन्दा तो नहीं हो सकती ये
    पर इन्हें न जला सकते है न दफना सकते है
    क्योंकि ये देह नहीं
    पर मरती जरूर हैं
    कहीं खत्म ना हो जायें
    इसलिये यादों के लेप से इन्हें बुसने ना दिया
    एक म्यूजियम बना दिया
    चिजों को सजाकर भी तो रखना होता है
    तुम देखने तो आओगे ना
    कि जो अपना रिश्ता ना सम्हाल सकी
    उसे चीजें सम्हाल कर रखना आता भी है या नहीं
    ©parulsharma

  • parulsharma 3w

    प्रेम बंह्म है और प्रेम की चाहत भ्रम
    जहाँ ये दोनों हो वही परम् बंह्म
    पारुल शर्मा
    @mirakeeworld@writersnetwork @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    प्रेम बंह्म है और प्रेम की चाहत भ्रम
    जहाँ ये दोनों हो वही परम् बंह्म
    ©parulsharma

  • parulsharma 3w

    प्रेम दिल का सुकून है कोई माथापच्ची नहीं
    पारुल शर्मा

    @mirakeeworld@writersnetwork @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    प्रेम दिल का सुकून है
    कोई माथापच्ची नहीं
    ©parulsharma

  • parulsharma 3w

    सलीके से सजाकर रखना होता है जज्बातों के टुकड़ों को
    वरना वक्त जिन्दगी के धरातल से सब कुछ झाड़ देता है
    पारुल शर्मा
    @mirakeeworld@writersnetwork @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    सलीके से सजाकर रखना होता है जज्बातों के टुकड़ों को
    वरना वक्त जिन्दगी के धरातल से सब कुछ झाड़ देता है
    ©parulsharma

  • parulsharma 3w

    रूठना,मनाना,इंतजार,विदाई,मिलन,जुदाई
    'ए इश्क ' तुझे भी क्या मौसमी बुखार है
    पारुल शर्मा
    @mirakeeworld@writersnetwork @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    रूठना,मनाना,इंतजार,विदाई,मिलन,जुदाई
    'ए इश्क ' तुझे भी क्या मौसमी बुखार है
    ©parulsharma

  • parulsharma 3w

    मेरी बातों के अल्फ़ाज न देखें
    देखें तो सिर्फ जज्बात देखें
    कितना सोच विचार करते है
    भाव ना खायें भाव देखें
    पारुल शर्मा
    @mirakeeworld@writersnetwork @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    मेरी बातों के अल्फ़ाज न देखें
    देखें तो सिर्फ जज्बात देखें
    कितना सोच विचार करते है
    भाव ना खायें भाव देखें
    ©parulsharma

  • parulsharma 3w

    मेरे आँशू मेरी हथेली पर पानी
    तेरी हथेली पर मोती हैं
    @mirakeeworld@writersnetwork @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    मेरे आँशू मेरी हथेली पर पानी
    तेरी हथेली पर मोती हैं
    ©parulsharma

  • parulsharma 3w

    दुनियाँ तो सिर्फ किताबों में दिखती है
    बाहर तो बस दुनियादारी मिलती है
    पारुल शर्मा
    @mirakeeworld@writersnetwork @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    दुनियाँ तो सिर्फ किताबों में दिखती है
    बाहर तो बस दुनियादारी मिलती है
    ©parulsharma

  • parulsharma 3w

    कुछ लोग दूसरों का दर्द इसलिये नहीं सुनते
    कि कहीं गले लग कर गले ना पड़ जाये
    और कुछ लोग तो इतना डरते है कि
    इस डर से हाल चाल भी नहीं पूछते
    पारुल शर्मा
    @mirakeeworld@writersnetwork @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    कुछ लोग दूसरों का दर्द इसलये नहीं सुनते
    कि कहीं गले लग कर गले ना पड़ जाये
    और कुछ लोग तो इतना डरते है कि
    इस डर से हाल चाल भी नहीं पूछते
    ©parulsharma

  • parulsharma 3w

    आज फिर एक आँशू दिल पर टपकर पड़ा
    तेरा इश्क मेरी धड़कनों से लिपटकर रो पड़ा
    तन्हाई सुबक सुबक कर हथेलियाँ भिगोने लगी
    यादों में सावन का मौसम फिर से गरज पड़ा
    @mirakeeworld@writersnetwork @panchdoot @hindilekhan @merakee #panchdoot_social#panchdoot_magazine #new_india #shabdanchal

    Read More

    आज फिर एक आँशू दिल पर टपकर पड़ा
    तेरा इश्क मेरी धड़कनों से लिपटकर रो पड़ा
    तन्हाई सुबक सुबक कर हथेलियाँ भिगोने लगी
    यादों में सावन का मौसम फिर से गरज पड़ा
    ©parulsharma