#storyteller

2106 posts
  • thawarriorpoet 2d

    She was a flower
    in a snowstorm,
    blooming boldly
    against the winds.


    ©Tha Warrior-Poet

  • anmol_kalam 2w

    बहुत से लोग होते हैं जो उदास होकर अंधेरे में बैठना पसंद करते है, लेकिन वह भूल जाते हैं कि अंधेरे में बस खुद को छिपाया जा सकता है। #रौशनी #light #bright #storyteller #bepositive #life #motivation #trending

    Read More

    अंधेरे के शौकीन लगते हो,
    हम तुम्हारे लिए बत्ती बुझा देंगे;
    और जो ये सूरज आया सामने तुम्हारे,
    तो हम ये पूरी धरती घुमा देंगे।।

    मगर कभी वक्त निकाल कर उजाले में बैठना मेरे दोस्त,
    तुम्हें नया सवेरा नज़र आएगा;
    कुछ रोते हुए नज़र आएंगे,
    तो कुछ का वक्त ठहरा नज़र आएगा।।

    तब सोचना, कि क्या अंधेरे में बैठ कर सब हो जाएगा?

    तो आओ हम सब कोई पहल करते हैं;
    चलो मिलकर उस अंधेरे में रौशनी भरते हैं
    चलो मिलकर उस अंधेरे में रौशनी भरते हैं।।
    ©aman dasila (anmol_kalam)

  • thawarriorpoet 2w

    We bonded over ideas,
    chased moments
    on impulse,
    and found love
    through desires.
    Lust was a religion
    and we its acolytes;
    Full of smiles and sin,
    and whatever wine we found
    ripe for the night's sermon.


    ©Tha Warrior-Poet

  • ethanarya 3w

    Fly

    कच्ची हवा, कच्चा धुआँ घुल रहा
    कच्चा-सा दिल, लम्हें नये चुन रहा
    कच्ची-सी धूप, कच्ची डगर फिसल रही
    कोई खड़ा चुपके से कह रहा
    मैं साया बनूँ
    तेरे पीछे चलूँ
    चलता रहूँ
    पश्मीना धागों के संग
    कोई आज, बुने ख़्वाब
    ऐसे कैसे

  • poetry_house12 3w

    Teenagers Story-3
    Pre-board result


    Vaise to dono ne faisala liya tha ki dono pre-board ke time par nhi milenge, par yeh nibba apni nibbi ke bina 2min bhi dur nhi reh sakhta.. dono exam time ke waqt bhi kafi baate chalti thi woh bhi late night tak par jab pre-board khatam huye tab kuch time baad results announced huye tou Raghav Joshi ke haus ud gaye unhe laga ab zindagi hi khtm par unko jada jhatka tab jab uski nibbi yahani Meenakshi ke 80% marks aye pre-board mein..yeh sunn kar Raghav ne bola tu kaise pass ho gayi meenakshi ne reply diya jaise hote hai.. usne bola tu bhi baat krti thi mujhe late night.. meenakshi boli oh hello main learn karne ke baad hi tujhse baat karti thi or tu nhi padta meri galti nhi hai.. yeh sunn kar Raghav shok ho gya.. or kuch dino ke baad usne use breakup bhi kar liya. Kaha tha na maine yeh umar hi kuch aisi hoti sb alg sa lagta hai..
    Yeh umar hi chanchal mann ki hoti hai..
    The end
    Story by-kd
    ©poetry_house12

  • durgesh_chouhan 4w

    मैं कृष्ण न हुआ तो
    क्या
    मेरे लिए तो तू राधा ही है
    #राधाकृष्ण #lovestory #hindi #hindiwriters #writersnetwork #poem #storyteller #kavita #twoliner

    Read More

    कृष्ण सा प्रेम

    तेरे नाम को अपने नाम से पहले लिखा करता हूं
    देख मैं भी राधा के कृष्ण सा तुझे प्रेम किया करता हूं
    ©durgesh_chouhan

  • knitting_alfaaz 4w

    With every pounding of my heart,

    My love for you grows

    And I miss you a bit more.

    ©knitting_alfaaz

  • banjari_hawa 4w

    बे खौफ सी रहती हूँ तेरे साय में,

    बेबाक जीती हूँ तेरे साथ मैं।

    ना दुनिया की परवाह है,

    ना वक़्त का तगाचा है।

    एक उम्र गुज़ारी है तेरे इंतेज़ार में।


    ©banjari_hawa

  • trickypost 5w

    आत्या-एक प्रेम कांड (भाग-५) ��

    उन्होंने हिम्मत ना कि...
    तक़रीबन चारो तरफ सन्नाटा था और तभी doctors और फोरेंसिक की team वहां पहुँच गयी। situation को समझने के बाद उन्होंने आवाज़ दी शिरोमणि जी हम अंदर आ रहे है सिपाहियों को लेकर, आप धैर्य रखें यह कहकर वह बे-झिझक दरवाज़े की ओर चल पड़े। उन्होंने दरवाज़ा खोला तो पाया एक तरह शिरोमडी जमीन पर और दूसरी तरफ देखकर वह काँपने लगे। आत्या ने अपने हाथों में एक मनुष्य का पाँव ले रखा था जिसे वह भूखे जानवर की तरह दांतों से काट रही थी। यह देखकर एक ने कहाँ की she is behaving like cannibal or might be it is paranomal activity.
    दूसरे डॉक्टर ने कहां जो भी हमे थोड़ा सँभलकर काम करना होगा नहीं यो यहां से सबूत ले जाना तो छोड़ो, पता चला कि हम ही शिकार हो गये। सभी ने हामी भरी, सिपाहियों को instruction दिया गया कि उसे बेहोश करना होगा। आप सभी को जबजस्ती उसे पकड़कर ज़मीन पर लिटाना होगा तभी हम उसे injection लगा पायेंगे। सभी सिपाही डरते हुए घर के अंदर आये तो चारो तरफ़ ख़ून के छीटे और क्षत-विछत शरीर के हिस्से देखकर उनके हाथ पाँव फूल गये, इतनी गंध थी कि उन्हें उल्टी आनेलगी। doctors ने इशारे से कहा की, जल्दी करो, थोड़ी हिम्मत जुटाकर सबने आत्या को पकड़ लिया।

    आत्या ने जब गुस्से से देखा तो सिपाहियों के हाथ थरथराने लागे, उनके हाथों की पकड़ कमजोर होनेलगी थी। वह इतने डर गये थे कि एक नए तो हनुमान चालीसा पढ़ना शुरू कर दिया। उसे देख आत्या जोर से हँसी और भारी आवाज़ में वह बोली!
    शिरोमणी तो शिरोमणि है और मैं तो उससे भी बड़ी उसकी हूँ।
    प्रेमदिवानी!!
    मेरी तो आदत है शैतानी
    अप्रिलफूल में कैसी लगी हमारी नादानी।।
    यह सुनते है शिरोमणि, मनीष और लेडीज कॉन्स्टेबल जो वही मौजूद थे कमरे से बाहर आकर हँसने लगे। यहाँ अभी भी सिपाहियों को कुछ समझ नही आ रहा था और doctors भी थोड़े नाराज़ थे, शिरोमडी ने कहा अरे कभी तो लाइफ में मजे लिया करो यार।


    #Trickypost #Story #storyteller #mirakee #mirakeeworld

    Read More

    .

  • wolfiewords 5w

    My mind

    My mind is like the kind that keeps getting broken,
    The sort of crooked bind, that seeps through the vulcan,
    I think I am very logical, though the emotions can sunk me,
    I wanna become spock, but these feelings they insult him.
    Heavy heart sulking, I wanna stay sane,
    Neutralize the feelings, and wash this freaking stain,
    If I could I would abstain my train of thoughts,
    Because the pain that I carry, they are stations of disdain.

  • trickypost 5w

    भाग-४

    पिया मोरे आँगणा

    यह सुनते ही शिरोमणि ने दिमाग दौड़ना शुरू कर दिया और सोचने लगा जब वह पहली बार घर में आया था तो उसने क्या देखा था। थोड़ा बहुत सोचने के बाद उसे वह मंजर याद आया तो उसके दिल की धड़कने थोड़ी बढ़ गयी और वह देख सकता था कि वहां सिर्फ एक औरत थी जो घर के बीच ओ बीच बैठी थी, जिसके हाथा सने थे और वह मुस्कुरा रही थी। उसमे थोड़ी हिम्मत जुटाई और घर के अंदर आ गया, वहां अभी भी आत्या उसी तरह बैठी थी जैसे पहले। उसने धीमी आवाज़ में पुकारा आत्या तुम ठीक हो, कोई जवाब नहीं आया। फिर उसने कहा कि आत्या घुटनो के बल लेट जाओ तो आत्या हँसी। कट-कट-कटकट,कटकटकटकट, कटकटकटकटकटकट और फिर वही गाना गुनगुनाने लगी। पिया मोरे आँगणा

    यह देखकर शिरोमणि को इतना गुस्सा आया की वह जोर से उसकी तरफ बढ़ा और गुस्से में उसने आत्या के गालो पर एक जोर का थप्पड़ जड़ दिया आत्या औंधे मुँह गिर पड़ी। पर अभी भी वह गाना गुनगुना रही थी, पिया मोरे आँगणा

    इस बार शिरोमणि ने पिस्तौल तांग दी उसके सर पर और ग़ुस्से में कहा कि ज्यादा मत बनो, तेरे जैसे बहुत देखे है हमनें, साली तू मुझे डराएगी। मैं शिरोमणि हूँ, किसी के बाप से नहीं.... इतना ही उसने कहा था कि आत्या झट से खड़ी हो गयी और उसने अपने पल्लू को ज़मीन पर फेंका और कमर पर साड़ी की गाँठ खोल दी और खुद ही अपनी साड़ी उतारने लगी। शिरोमणि ने हड़बड़ाते हुये कहा कि यह क्या कर रहे हो पागल हो क्या?
    तुम-तुम-तुम्हारा दिमाग खराब हुआ है क्या?
    यह कहते कहते उसने आत्या पर अपना हाथ उठाया ही था कि, आत्या ने उसके हाथ को रोक लिया, उसकी पकड़ इतनी जोरदार थी कि शिरोमणि को लगा जैसे किसी बलवान आदमी ने हाथ उसका पकड़ा हो।

    आत्या नीचे झुककर साड़ी के अंदर कुछ ढूंढने लगी। यह देख तो शिरोमणि की जबान हलक में आ गयी, जबतक वह कुछ सोचता आत्या ने जोर से उसके सर कुछ दे मारा और वह बेहोश हो गया। आवाज़ सुनकर सिपाही भी घबरा गये पर उन्होंने हिम्मत ना कि अंदर जाने की और....


    जारी है...
    #Trickypost #Story #storyteller #mirakee #mirakeeworld

    Read More

    .

  • aj_is_here 5w

    "लापता"

    सोचना छोड़ दिये हो क्या
    वो सपनों के साथ रहना छोड़ दिये हो क्या,
    एक बसेरा ढूढ़ रहे हो रहने के लिए
    वो घर छोड़ दिये हो क्या,
    खुद की कमियाँ गिना गिना कर
    नाकामियों के साथ जीने लगे हो क्या,
    वो आईने में घंटों निहारते रहते हो
    अपना चेहरा भूल गए हों क्या...!!
    ©aj_is_here

  • trickypost 5w

    आत्या-एक प्रेम कांड (भाग-३) ��

    मनीष की मदद के लिए आगे बढ़े ही थे कि.... कट-कट-कटकट,कटकटकटकट, कटकटकटकटकटकट

    आवाज़ सुनते ही सबके कान खड़े हो गये। ladies constable में एकाकक ताकत आ गयी और वह भागते हुए जीप में बैठ गये। मनीष ने शिरोमणि की तरफ़ देखा, शिरोमणि डरा हुआ था पर अब वह थोड़ा सतर्क हो गया था वह। शिरोमणि ने जोर से बोला, मनीष जो बोला है उसे करो और तुम लोग (बाकी सिपाहियों को देखते हुये) क्या कर रहे हो, जाकर देखो बाकी की team आयी या नहीं, इतनी देर लगती है क्या, अखबार में तो हररोज़ headlines छपती है कि पुलिश देर से पहुँचती है। सभी सिपाही अपने काम मे लग गये मनीष ने जीप शुरू ही कि थी कि, शिरोमणि ने कहां की बंदूक अपनी मुझे दे दो। मनीष ने अपनी बंदूक को देते हुए कहा की (दबी आवाज़ में) ज़नाब अगर जरूरत है तो मैं भी आपके साथ यहीं, इतना ही उसने कहां था कि शिरोमणि आग बबूला हो गया और बड़बड़ाने लगा। मनीष ने झट से बंदूक दी जीप चालू की और निकल गया।

    शिरोमणि ने बंदूक से बेयोनेट (बंदुक के ऊपर लगा चाकू) निकाल कर दाहिने हाथ में उलटी दिशा में रखकर पकड़ मजबूत की और बाई हाथ में पिस्टल लेकर वह दरवाज़े की तरफ़ आगे बढ़ने लगा। इस बार उसने दहाड़ते हुए कहा, आत्या आपके साथ जो भी हुआ है, हम आस्वासन देते है कि कानून आपकी मदद करेगा। हम अपनी कार्यवाही कर रहे है, हम आपको चोट नही पहुचायेंगे, आप घर से बाहर आ जाइये। doctors बस पहुँचानेवाले है वह आपका ईलाज करेंगे। दो-तीन बार बोलने के बाद भी कोई आवाज़ दरवाज़े के पीछे से नहीं आयी तो, शिरोमणि ने हिम्मत बांधी और पीछे अपने सिपाहियों को साथ देखकर मुस्कुराया। मन ही मन उसने सोचा, मैं खामखा ही डर रहा हूँ, वह तो एक औरत है क्या कर लेगी, हमारे पास तो इतनी बड़ी team है, यह सोचते हुए वह धड़ल्ले से आगे बढ़ा और जैसे ही उसने दरवाज़ा हटाकर अपना एक पाँव घर के अंदर रखा ही था कि, उसे आवाज़ सुनाई दी।

    कट-कट-कटकट,कटकटकटकट, कटकटकटकटकटकट
    {low volume she was singing a song}
    पिया मोरे आँगणा आये________________ ।।२।।
    सजनी जिया धड़क-धड़क जाये_______रे___ ।।२।।
    पिया मोरे आँगणा आये________________ ।।२।।
    नैन देख सिहर-सिहर जाये______________
    पिया मोरे आँगणा आये________________ ।।२।।

    जारी है.....

    #Trickypost #Story #storyteller #mirakee #mirakeeworld

    Read More

    .

  • poetry_on_horseback 5w

    "Sit back and relax",
    They say.
    ---"oh but, I'd rather love to fall off a horse !!"


    ~Anagha Lakshmi Ajitha~
    ©poetry_on_horseback

  • trickypost 5w

    आत्या-एक प्रेम कांड (भाग-२) ��

    वह जबतक कुछ कहता कि.....
    ladies कॉन्स्टेबल चिल्लाते हुए दरवाजे से भागी और रोने लगी। बाकी के हलवलदार ने मौके की नज़ाकत को भाँपते हुए वहां खड़े सभी लोगो को जबरन वहां से जाने के चिल्लाना शुरू कर दिया। डंडे बरसाये जाने लगे और कुछ ही समय मे 500 meter तक की जगह पूरी जगह खाली कर दी गयी। एक ऐसा सन्नाटा था उस समय जैसे कि कोई वीराने में अकेला चुपचाप खड़ा हो। अबतक शिरोमणि के पैर और हाथ कांप रहे थे, यह देखकर बाकी के सिपाही बड़े अचंभित थे। शिरोमणी को 27 साल हो गये थे और सिपाही उनके आचरण से भलीभाँति परिचित थे, वह बड़े उज्जण्ड और बिगड़ैल किस्म का इंस्पेक्टर था। पर उसकी इस हालात ने बाकी सब को भी डरा दिया कि आज तो कुछ ज्यादा बुरा है उस दरवाज़े के पीछे। बड़ी हिम्मत कर के एक बुजुर्ग सिपाही ने कहा, ज़नाब doctors और ambulance आनेवाली ही होगी, अब आगे हमें क्या करना है। यह सुनते ही शिरोमणि उस आयाम से बाहर आया और बोला कि कोई अंदर नहीं जायेगा, doctors और फोरेंसिक team के साथ मैं ही अंदर जाऊँगा। सभी ladies constable को पानी पिलाओ और उन्हें चौकी पर जाने के लिए कहो, एक काम करो मनीष, मनीष कहां हो।
    मनीष: हां ज़नाब कहिये।

    शिरोमणि: तुम सबको चौकी पर ले जाओ (हकलाते हुये उसने कहां), किसी से कुछ पूछने या बात करने की कोई जरूरत नहीं है और किसी को घर जाना हो जाने देना। जबतक मेरा कोई आदेश नहीं आता कोई किसी से कुछ भी नहीं कहेगा। बाकी सभी सिपाहियों को यहीं रुकने के लिए कहो। यहाँ कोई reporter और public नही आनी चाहिए। अगर कोई जबरन आने का प्रयास करता है तो उसे arrest कर के गाड़ी में बिठाहर शहर से दूर छोड़ देना।

    मनीष: जी ज़नाब, जय हिंद,
    शिरोमणि ने कोई जवाब नहीं दिया,
    मनीष: जी ज़नाब, जय हिंद,
    शिरोमणि: कोई जवाब नहीं,

    मनीष ने अपना बंदूक गाड़ी में रख्खा और सभी ladies constable को गाड़ी में बिठाने का भरसक प्रयास करने लगा। वह भी इतने डरे थे कि पैर पर कुछ तो खड़े ही नही हो पा रहे थे, बाकी के सभी सिपाही भी मनीष की मदद के लिए आगे बढ़े ही थे कि.... कट-कट-कटकट,कटकटकटकट, कटकटकटकटकटकट

    जारी है....

    #Trickypost #Story #storyteller #mirakee #mirakeeworld

    Read More

    .

  • trickypost 5w

    आत्या - एक प्रेम कांड (भाग-१) ��

    दोपहरी में लिये सुई वह पुराने कपड़ो को वह बस यूं ही तुरपाई कर रही थी। कभी सुई उसकी हथेलियों को तो कभी उंगलियों को भेद देती पर उसने उफ़्फ़फ़ तक ना कहा। न जाने वह किस सोच में डूबी हुई थी कि उसने घंटो तक अपनी पलकों को झपकया नहीं और ना ही उसने पानी पी। घर के बाहर बड़ी चहल-पहल थी कुछ बुदबुदाने की आवाज़ आ रही थी पर, उसने ध्यान नहीं दिया। तक़रीबन अब उसे इसी हालत में बैठे 3 घंटे से ज्यादा होने ही वाले थे कि, दरवाजे से एक आवाज़ आयी।

    आत्या, मैं शिरोमणि, पालड़ी का इंस्पेक्टर, दरवाज़ा खोलिए। दरवाजे पर जोर से खटखटाने की आवाज़ से घर गूँज पड़ा और एकाएक बुदबुदाने के आवाज़ का शोर भी बढ़ने लगा। शिरोमणि ने फिर जोर से पुकारा, आत्या- आप दरवाज़ा खोल रहे है या हम इसे जबरन तोड़ दे, आत्या आपको मेरी आवाज़ आ रही है ना? हमें पता है आप घर मे ही ही। आत्या के हावभाव में रत्तीभर भी बदलाव नहीं आया बस, इस बार सुई उसकी उंगलियों को भेदती हुई मानो बाहर ही आनेवाली थी, रक्त की बूंदे धीरे-धीरे उंगलियों से बहते हुये कलाइयों तक पहुँचने लगी। शिरोमणि ने फिर आवाज़ लगायी कई बार पर, आत्या तस से मस ना हुयी।

    शिरोमणि ने आवाज़ दी, तन्विर अपना काम शुरू करो, हेमंत यहाँ से सब लोगों को जाने के लिये कहो और सभी female कांस्टेबल आप आगे आ जाइये। तन्विर औजार लिए अपना दरवाजे पर आया और उसने खाँचे में औजार को ड़ालकर, दरवाज़े के जोड़ को ढीला करने का प्रयास करने लगा। बाहर खड़े सभी लोगो को वहां से जाने के लिए बोला गया, कुछ लोग तीतर बितर हुए पर ज्यादातर लोग वहीं कुछ दूरी पर जाकर खड़े हो गये। कुछ समय मेहनत करने के बाद आख़िरकार दरवाज़े का एक हिस्सा बाहर आ गया, शिरोमणि ने अपने पैर अंदर ही रखे थे कि वह उसे ऐसा लगा कि किसी ने उसकी छाती पर जोर से प्रहार किया हो और उसके कदम पीछे आ गये। उसको यक़ीन नहीं हो रहा था जो उसकी आँखों ने देखा, वह जबतक कुछ कहता कि

    जारी है....


    #Trickypost #Story #storyteller #mirakee #mirakeeworld

    Read More

    .

  • jini_p 49w

    ज़िन्दगी

    मैं खुद से मिलके आयूं जरा
    तो तुझे मिलके पूछ सकूं
    के कैसा है हाल तेरा

    ©Jini

  • jini_p 49w

    Dreams

    I am like Sun.
    And my dreams are like sun rays.
    Unlimited, untouchable, countless.

    ©Jini

  • jini_p 49w

    If you were here

    I could hold your hand
    and walk long so long.
    I could laugh, I could talk,
    I could run with you long so long.
    If you were here
    I could be me the real me
    what i left behind long so long.

    ©Jini

  • jini_p 49w

    Sabd

    मैं सबदो को नहीं
    अब शब्द मुझे लिखते हैं
    और
    मैं बस हामी भरती हूं

    ©Jini