Grid View
List View
Reposts
  • hamsafar 2w

    Bas yuhi likh diya hai yadi kisi ko galat lage to mujhe avashya bataye kintu krodh na kariyega galti samjh kar maf kar dijiyega

    Read More

    मत उठा री दुनिया फायदा मेरी मजबूरी का ,
    घर पहुंचाने का तीगूना दाम न लें, ना लुट मुझसे पैसा मेरी मज़दूरी का ।
    कुछ तो इतने भले महान गाड़ी लेकर आते हैं ,
    किंतु बीच सड़क पर छोड़ हमे लौट चलें जाते हैं ,
    कैसे नापू सरकार रास्ता घर की दुरी का,
    मत उठा री दुनिया फायदा मेरी मजबूरी का ।
    भला करो भगवन उनका जो भोजन लेकर आते हैं,
    जीतनी रोटी होती नहीं उतनी तस्वीर खींचाते है ,
    गला ना घोटो बेरहमी से मेरी खुद्दारी का ,
    मत उठा री दुनिया फायदा मेरी मजबूरी का ।
    सबकी नहीं मैं कुछ लोगों की कहता हूं ,
    तिरस्कार भरी बातें सबकी सुनता हूं ,
    अपमान न कर सरकार तु मेरी गरीबी का ,
    मत उठा री दुनिया फायदा मेरी मजबूरी का ।
    बच्चें करते हैं मुझसे बस इतना एक सवाल ,
    बापू कब बितेगा हम पर से दर्द भरा यह साल ,
    क्या झूठ कहूं क्या आशा दू जब डर खुद हो मेरी आंखों का ,
    मत उठा री दुनिया फायदा मेरी मजबूरी का ।
    अब तो यही तमन्ना है कि घर को लौट चलूं ,
    भूखा मरना है तो अपनी धरा पर जाके मरूं ,
    दोष किसी का नहीं सब दोष मेरी तकदीर का ,
    मत उठा री दुनिया फायदा मेरी मजबूरी का ।
    लौटूंगा फिर कभी अगर जो हिम्मत होगी ,
    भुल सका गर बात आज जो मैंने भोगी ,
    मां बाबू कर रहे इंतजार मेरे लौटने का ,
    मत उठा री दुनिया फायदा मेरी मजबूरी का ।
    ©hamsafar

  • hamsafar 3w

    जरूरी था क्या??

    *हाथ थाम बीच रास्ते छोड़ जाना
    जरूरी था क्या........
    *वादे निभा ना सके तो तोड़ जाना
    जरूरी था क्या.......
    *कहते थे हिर रांझा से है हम-दोनों,
    ऐ रकीब तेरे इश्क में फ़कीर बनाना
    जरूरी था क्या.......
    *तु दूर नहीं था मुझसे
    मगर पास भी न था इसका एहसास दिलाना जरूरी था क्या......
    *बातें तो तेरी मैंने सीने में दफन कर ली थीं ,
    फिर ख्वाब बनके नींद उड़ाना
    जरूरी था क्या.......
    *निभा ना सके जिम्मेदारी मेरे दिल की ,
    तो उसे तोड़ जाना
    जरूरी था क्या.......
    *चाहत नहीं थी मैं तुम्हारी तो पहले ही बता देते,
    यूं बेवफाई का दाग लगाना
    जरूरी था क्या........
    *अगर ये सब जरूरी था तो ऐ जाने वाले तेरा लौट कर आना भी
    जरूरी था ना...............
    ©hamsafar

  • hamsafar 7w

    इबादत मेरी तुझ तक जाती तो होगी
    हवाएं, मेरी वफ़ा का राग सुनाती तो होगी
    और भुलने का दिखावा लाख कर ले ऐ दोस्त
    बिते पलो के साथ याद मेरी भी आती तो होगी ।
    ©hamsafar

  • hamsafar 8w

    Usne kaha mujhe tumse bat nahi karni kyuki tumhe bat karne ki tameej nahi hai

    Hamne man me kaha ke jab tameej thi tab kitni bat kar li thi jo
    ©hamsafar

  • hamsafar 9w

    Ye maula mujhe uski nazar me itna bura bana diya
    Ke najar me hoke bhi najarandaj Karti hai
    Kaisi khata hamne kr di kya wajah ho gai hai
    Ke ajkal wo hame jara naraj dikhti hai
    ©hamsafar

  • hamsafar 13w

    Mubarak ho tumhe tumhari badli hui jindgi
    Ham akele the akele hi sahi

    ©hamsafar

  • hamsafar 13w

    Chalo aj kuch ajeeb rishta nibhate hai
    Tum rutho hamse ham tumko manate hai
    Bate mat karo magar bat band nahi karna
    Tum nagma purana suno ham geet naya gungunate hai

    ©hamsafar

  • hamsafar 14w

    Dard ki diware jara majbooti se banai hai
    Ke ro bhi liya magar chehre pe hasi chhayi hai
    ©hamsafar

  • hamsafar 14w

    Jante the mohabbat dard deti hai
    Ham bewafa se dil laga kr iska saboot liye baithe hai
    ©hamsafar

  • hamsafar 14w

    माना महंगा हुं मैं तु सस्ती बन जा
    सागर हूं मैं तु कश्ती बन जा..
    उजड़े शहर की मेरे तु घनेरी बस्ती बन जा
    माना महंगा हुं , माना की महंगा हुं मैं ,
    जाना तु ही जरा सस्ती बन जा ।।
    ©hamsafar