himshar

no bio....i m a maths student ���� insta.... #himshar

Grid View
List View
Reposts
  • himshar 8w

    bata diya...

    वक़्त के मुश्किल दौर ने बहुत कुछ बता दिया।
    किसी के राज सुना दिए तो किसी का प्यार बता दिया।
    बस समझने वाले ही थे तुझको कि तूने खुद को मोहब्बत और हमें उसका कातिल बता दिया।।
    ©himshar

  • himshar 13w



    लोग किसी से दर्द लेकर खफा हैं, और मैं किसी को दर्द देकर खफा हूँ।
    हर याद में उसके अहसास को लिए घूम रहा हूँ पर बदकिस्मती मेरी कि करके बेइंतहा मोहब्बत आज खुद की नजर में बेबफा हूँ।।
    ©himshar

  • himshar 13w



    हँसते हुए चेहरे हमेशा खुशी ही नहीं, कभी कभी मजबूरी भी बयां करते हैं।।
    ©himshar

  • himshar 16w

    yaden

    बहुत दर्द देता है ये सोचना भी , कि कभी वादे किए थे साथ चलने के इन राहों में।
    आज तन्हा जी रहा हूँ तेरी यादों में।
    ©himshar

  • himshar 18w



    किसी को प्यार करना इतना आसान नहीं, इश्क में टूटना तो है ही,
    या तो तुम किसी को टूटकर चाहो या किसी दिन इश्क तुम्हें तोड़ देगा।
    ©himshar

  • himshar 18w



    वादे तो बहुत किये मोहब्बत के, पर तेरे इश्क़ में वो जुनून कभी ना मिला।
    तूने तेरी खुशी देखी और मैंने भी तेरी खुशी देखी, फिर भी बिछड़कर तुजसे, मुझे सुकून कभी न मिला।।
    ©himshar

  • himshar 19w

    माँ

    अब उस माँ के लिए क्या लिखूं,
    मैं तो खुद ही उनकी लिखावट हूँ।
    पन्नों पर पन्ने भर भी दु तो भी, माँ के उस एक पन्ने की बराबरी ना कर पाऊंगा जिस पन्ने की मैं खुद एक सजावट हूँ।।
    ©himshar

  • himshar 19w



    i still love to see her every post
    i still fear to read every comment
    i still don't have courage to see her in anyone else arms.......
    ©himshar

  • himshar 19w



    कभी सोचा है कैसा लगता होगा आसमां को जमीं से जुदा होकर।
    उनका तो मुक्कदर ही था बिछड़ना फिर वो क्या कर लेते एक दूसरे से खफा होकर।
    बनाने वाले ने जमीं को हसीन वादियां दी तो आसमां को खूबसूरत रंगों की सौगात, फिर भी रह गई उनकी जिंदगी एक दूसरे के बिना सजा होकर।।
    ©himshar

  • himshar 19w

    याद आ रही है।।

    सुनो तुम्हारी याद आ रही है।
    लव हैं सूखे और आँखों से बरसात आ रही है।
    सुनो तुम्हारी याद आ रही है।।
    भाग रहा हूँ अपनी किस्मत को लेकर कि आगे मंजिल है मेरी तो पीछे से एक नए सफर की सौगात आ रही है।।
    सुनो तुम्हारी याद आ रही है।।
    सुकून तो मुझे मौत ने भी ना दिया, भले ही जिस्म छोड़ दिया हो जमीं पर, रूह में तो अभी भी तू साथ आ रही है।।
    सुनो तुम्हारी याद आ रही है।।
    ©himshar