Grid View
List View
Reposts
  • hitesh_ahuja 11w

    एक .....

    जिंदगी के सफ़र में , अनेकों बार मुलाकात हुई
    हाथों से स्पर्श , व मन में तसल्ली हुई
    हर साथ के साथ निकटता बढ़ती गई
    हर पल के साथ दूर होने के मुकाम पास आता गया
    हर जज्बातों के साथ उसके साथ खेला
    हर परेशानियों में उसने मेरा साथ छोड़ा

    तब भी दिल उसी पर लगता है
    उसके दूर होने का समय तो ज्ञात नहीं
    पर जिन्दंगी में जीना उसके बिना, हमेशा खटकता है
    उसके होने से कुछ परेशानियां कम हो जाती है
    उसके होने से कुछ प्रसिद्धि भी आती है
    साथ ही कुछ कि घरणा भी लाती है

    अब तो जीना मरना भी उसी पर निर्भर है
    रोज़ दिन उसी से शुरू होता , रोज़ रात भी उसी से अंत है
    सुबह सुबह उसके मिलने से मन में तस्सली होती है
    शाम को उसके दूर होने से , अगले दिन फिर से काम करने का बोझ लाती है
    क्या करें भाईसाहब , नोटों का साथ भले ही कम हो
    परंतु उसके अनोखी सुखंद से ही
    बहुत का जीवन में कई परेशानियां ख़तम हो जाती है
    ©hitesh_ahuja

  • hitesh_ahuja 18w

    Quote

    Speaking truth is easy,

    But accepting the truth is really Tough.
    ©hitesh_ahuja

  • hitesh_ahuja 29w

    The Teacher

    When stuck in the ocean, a hand was raised
    A sun in darkness was seen to gale
    Face turned glee, which once was pale
    Eyes seem sparky after a melancholy sail
    Days were paralyzed until you transpired
    A shortening breath which was once trying to respire
    Is exorbitant with a new zeal
    Hope to live my new dreams
    With new herculean beam inside
    Following your guidelines
    Keeping all other things aside
    Teacher, I bow you with reverence
    Your exertion help and special speeches

  • hitesh_ahuja 37w

    मां

    शब्दों से कहां तुझको सवार पाऊंगा
    जब वर्णमाला खत्म हो जाएंगी
    तब भी में कहा तुम्हें परिभाषित कर पाऊंगा

    कुछ शब्द में कहा तेरा महत्व बता पाऊंगा
    बहुत लेखकों ने लिखा है मां पर
    मैं भी लिखना चाहता हूं लाखों पंक्तियां
    पर कहा तेरी ममता विचारों में दिखा पाऊंगा

    वो अंधेरी रात , जब पेट में दर्द उठा था
    तुमने जो अपनी नींद छोड़ के मुझे बहलाया था
    और सुबह जल्दी उठ कर घर का काम किया था
    वो में कैसे शब्दों में बताऊंगा

    जब सबने अकेला छोड़ा था ,
    तेरी आचल ने मुझे सवार था
    उस आचाल के भाव को
    मैं कहा दर्शा पाऊंगा
    मां तेरा महत्व में शब्दों में ना बता पाऊंगा
    ©hitesh_ahuja

  • hitesh_ahuja 38w

    Choose Wisely

    Use your words wisely
    They may not turn
    Into swords against you

    Use your silence wisely
    It may not turn into a grave
    And you repent about it whole life

    Solve each petty misunderstanding
    As early as possible
    It may not harm the bond

    Use your emotion wisely
    It may not turn into a habit
    And you may repent it later

    Do not trust someone easily
    They may not turn you to a person
    That has forgotten to trust completely

    Do not attach yourself to anybody
    That you get addicted to it
    Wine or tea, both are bad,
    If you can not live without it

    There may be many people
    Who has helped you in difficult times
    But your parents are the only one
    Who will be by your side till last breath
    ©hitesh_ahuja

  • hitesh_ahuja 42w

    समय

    चारों तरफ अंधेरा छाया है
    रोशनी का उजियारा भी आएगा
    दीप जले है हर घर में
    सुख का समय भी आएगा

    घरों में रहना कुछ दिन
    बाहर घूमने का भी दिन आएगा
    साथ देना एक दूसरे का यारों
    अपना टाइम भी आएगा
    ©hitesh_ahuja

  • hitesh_ahuja 47w

    क्या देख लिया

    दुनिया के अनेक रंग है
    आपने कोनसा देख लिया
    क्यों गमगीन है , क्या ऐसा देख लिया

    गरीबों को क्या धोकर रोटी खाते देख लिया
    या किसी को अपने प्रिय का शव बेचते देख लिया
    या अपने को बेच के अपने बच्चों का पेट भरते देख लिया
    या फिर किसी अपने को , आप से दुख छुपाते देख लिया ।।
    ©hitesh_ahuja

  • hitesh_ahuja 48w

    A women

    A women is not a thing to satiate your fantasy
    She is not your food to fill your hunger
    She is not an animal who will follow all your useless orders
    She is not a flower who will always be blossom
    She is not a moon who will be always cool
    She is not shining stars at night who will be always shining
    She is not your servant who will be ready to service you at all time
    She is not your employee who will do all your tasks
    She is not your robot , who can do all your work
    She is not a mere machine , she has emotions too
    She is not public statue, who is only here to comfort you
    She is not a public thing, she has personal space too

    She is a human being , who has full right to live
    She has full right to live according to his will
    She has full potential to reach high heights
    She has knowledge to become a dignity without any man
    She has strength to fight against wrong
    She has calibre to knock you down
    She has mind to think for herself
    She has emotions for every action
    She has mood swings like every person
    She has right to live alone
    She has right to be in her personal space
    She has complete right to say NO
    ©hitesh_ahuja

  • hitesh_ahuja 48w

    दोस्ती

    शाम में वो डूबती सूरज की किरणों की कमी है
    आज लगता है, किसी के अपने की कमी है

    आज हवाओं में नमी है
    लगता है आज किसी के आंखों में, आसुओं की कमी

    आज आसमान में रूहानी बादलों की कमी है
    लगता है आज किसी के याद करने की कमी है

    आज मन में मस्ती की कमी है
    छुट्टी होते हुए भी खेलने की कमी है

    आज किसी दोस्त के वचनों की कमी है
    आज उसकी बात सच ना होने की कमी है

    आज दोस्ती के मायने समझने की कमी है
    लगता है एक और बार दोस्ती ना तोड़ने की कमी है
    ©hitesh_ahuja

  • hitesh_ahuja 49w

    दोस्ती

    जब दोस्ती धोखा देती है
    तो संभालने का समय नहीं मिलता

    जब झूठ आ जाता है रास्ते में
    तो सच को सहारा नहीं मिलता

    जब बातें छुपाई जाती है
    तब बातचीत का समय नहीं होता

    सब सभल जाते है इस दुनिया में
    पर जो गलत हुआ , उसको सही करने का मौका नहीं मिलता
    ©hitesh_ahuja