kajal052297

youtu.be/6EJByt6stVM

far from garishness just like to be real and loving�� insta - kajal052297

Grid View
List View
Reposts
  • kajal052297 31w

    न जाने क्यू
    पर सुकून सा बस तू ही है

  • kajal052297 35w

    जब समझौते करके ही रहना है तुम्हारे साथ
    तो ऐसे तो मुझसे सारी दुनिया खुश रहती है
    शर्तों पर ही स्वीकार करोगे तुम मुझे
    तो ऐसे तो सारी दुनिया करती है
    ©kajal052297

  • kajal052297 56w

    रिश्तों के कमजोर होने का सबसे बड़ा कारण है हमारा से मेरा हो जाना।
    समस्या तभी आती है जब हम कहते हैं - मेरा आत्मसम्मान, मेरा धन , मेरा व्यक्तिगत जीवन, मेरी खुशी , मेरी समस्या ।
    जब तक सब "हमारा" रहता है तब तक हमे ना ही अपने हारने का दुख और ना ही सामने वाले के जीत जाने से ही कोई समस्या होती है।
    लहरें चाहे कितनी भी दूर जायें रहेंगी समुद्र मे ही और समुद्र चाहे कितना भी विशाल हो लहरें ना हों तो शान्त हो जायेगा और उसकी जीवन शक्ति समाप्त हो जायेगी।
    ©kajal052297

  • kajal052297 59w

    Everything in this world has a certain amount of cost that can be purchased and sold but a true and faithful friend is what You get in your life if you are highly fortunate.
    We should never loose a true friend at any cost because in this fake world finding a true friend is very hard.
    ©kajal052297

  • kajal052297 59w

    Keep doing your hard work... God is not that much bad. He will give you the fruitfull result of your karma one day.
    Have faith on him
    ©kajal052297

  • kajal052297 59w

    Never forget the actual existence and status of your soul because at the end of every phase of your journey(either at the end of life or end of a phase of life) you'll be left alone with your karma and results of karma.
    Never get too much attached to the materialistic things because God is the only one happiness.
    ©kajal052297

  • kajal052297 63w

    खुश रहना सीख ले तू खुद मे ऐ मुसाफिर
    वरना, खाली हो तो लोग अपने ऐसे शरीर को भी छोड़ जाते हैं।
    ©kajal052297

  • kajal052297 64w

    बहुत लम्बा सफर है दर्द का
    आसान नही है ये
    काश उस राह का पहले ही रुख
    मोड़ लिया होता

    जोड़ना भी है मुश्किल
    और तोड़ना भी असंभव है
    पता है रास्ता अपना एक पुष्प पल्लव है
    लोगों ने शर्तों मे बाँटा रिश्तों का ठेका ना होता
    काश दो किनारों को जोड़ने का ये प्रयास
    मैने कभी ना किया होता

    एक गहरा घाव जज़्बातों का लेकर बड़ी दूर जाना है
    ज़िंदगी चल रही है बाकी सब तो जीने का बहाना है
    वो घाव बड़े तवज्जो से संभाला ना होता
    काश मैने नासूर बनने से पहले उसे दिल से निकाला होता

    बड़े नगमे गढ़े मैने तुम्हारी याद मे हरदम
    भूलकर खुदको ओढ़ी प्यार की चादर हर पल
    तुम्हारे होके हमने अपने होने को भुलाया है
    काश होना तुम्हारा हमने कभी जाना ही ना होता

    हर एक पल तुम्हारे बिन जो खाली खाली सा लगता है
    ज़िंदगी बिताना भी बहुत भारी सा लगता है
    बड़े भारी भरकम से हैं नसीबों के लिखे पन्ने
    जो तुम शामिल ना हो तो हर रश्म बेइमानी सा लगता है
    काश ये एहसास मन मे आने से पहले ही मन रोक लिया होता

    हर कदम साथ तुम चलते तो सफर कितना खूबसूरत होता
    रास्ते मुस्कुराते गमो का एहसास ना होता
    मगर अलग रास्तों के लोग हम,
    हरदम भिन्न चलना है
    काश ये कदम तुम तक बढ़ने से पहले रोक लिया होता

    चाहतों का समंदर और जज़्बातों का दरिया है
    ज़िदगी तुम तक दुआओं से पहुँचने का ज़रिया है
    ज़िदगी सर्दी की तरह हो गयी है आजकल
    छाँव मे सर्द और धूप मे गर्मी लगती है आजकल
    काश ये शरद ॠतु ज़िंदगी मे आने ही ना दिया होता
    ©kajal052297

  • kajal052297 64w

    There are three points that arrouse you to do a work-
    First- your thirst for that work
    Second- how much control you've on yourself, how much capacity you have to make difference between good and bad, legal and illegal works.
    Third- situation (situations are also responsible for your thoughts to trigger for a step)
    ©kajal052297

  • kajal052297 65w

    कोई व्यक्ति जब पहली बार आपके साथ बुरा व्यवहार करे तो उसे उसके चिड़चिड़ेपन का नतीजा समझें और दिल पर ना लें जब दूसरी बार ऐसा व्यवहार करे तो उसकी गलती किसी और से ना बोलकर उसे ही समझायें कि यह गलत है और उसे अपने भरोसे मे लेकर ये कहें कि वह दोबारा ऐसी गलती ना करें और जब व्यक्ति तीसरी बार ठीक वही व्यवहार आपके साथ करे तो डाँटकर कहें की अब वो ऐसी गलती ना करें परन्तु इस बार क्षमा कर दें।
    अगली बार भी सुधार का प्रयास करें लेकिन वही गलती फिर से की जाये तो समझ लीजिए कि वह गलती नहीं आदत है तो यदि व्यक्ति महत्वपूर्ण हो तो उसकी आदत को बस आदत समझकर पूरे दिल से स्वीकार कर लें और यदि उस बुरे व्यवहार से बचना महत्वपूर्ण हो तो व्यक्ति से दूरी बनाएं
    ©kajal052297