Grid View
List View
  • madhur_thakur 127w

    this is going to be my last post untile I make this to happen in reality......

    Read More

    you are my fever dream
    and I will burn for you....!!

  • madhur_thakur 127w

    चंद पन्नों में कैद रहेगई ज़िंदगी अपनी
    अपना गम लिखते लिखते ही मुस्कुरालेते है कभी !!
    - मधुर ठाकुर

  • madhur_thakur 127w

    कितना मुस्कुराओगे अपना गम छुपाने के लिए
    तन्हाइयों के लम्हों में दो पल रो भी लिया करो !!
    - मधुर ठाकुर

  • madhur_thakur 128w

    ज़िंदगी गुजर रही है
    तकलीफों के दौर से
    एक ज़ख्म खत्म होता नहीं
    और दूसरा आने की ज़िद करता है !!
    - मधुर ठाकुर

  • madhur_thakur 128w

    कितने चालाक है मेरे अपने भी
    तोफे में घड़ी दी
    पर वक़्त देना भूल गए !!
    - मधुर ठाकुर

  • madhur_thakur 128w

    .

  • madhur_thakur 128w

    मुझे यकीन है मेरे दोस्त
    आज भी मुझे भूल जाएंगे
    यहां तक कि वो मेरा ज़िक्र भी
    किससे ना करना चाहेंगे
    और हमसे किए वादों को भी भूलजाएंगे
    पर फिर भी हम हमेशा उनका साथ निभाएंगे
    और चाहे तो आजमा कर देख लेना तुम सब
    एक फकत जान ही है हमारे पास
    वो भी तुम पर लुटा जाएंगे !!

    - मधुर ठाकुर

  • madhur_thakur 128w

    अपने गुनाहों के इतने गुनेगार ना थे हम
    हमारी शराफत हमे बदनाम कर गई !!
    - मधुर ठाकुर

  • madhur_thakur 128w

    इतनी जदली कैसे पढ़ लिया
    तुमने मुझको.....
    कि मुस्कुराते वक़्त ही पूछ लिया
    मै उदास क्यों हू !!
    - मधुर ठाकुर

  • madhur_thakur 128w

    हर गम को छुपाने के लिए
    चहरे पर खुशी रखना सीख गए है
    दूसरों से झूठ बोल बोलकर
    अब हम भी तक गए है !!
    - मधुर ठाकुर