Grid View
List View
  • mymistysoul 2w

    Stumbling, falling, hurting, healing.
    A cycle on repeat, a cycle that begins to feel like i'm sabotaging everything i've planned and known for myself, if i'm not careful. Almost like, i could be my own disaster and no one would know anything.
    I listen to one song, any one song, and it close my eyes in hopes to let loose, in an earnest wish to loose myself in every hum an word that echoes. I love how my heart beats with every note, high and low. I breath in the sweet melancholy that follows, slowing me down after the erratic marathon my insides have run. There's the stumble, and i await the fall. I often validate these emotions as a precautionary measure for the hurt, because without acceptance, is there even any healing? If you've seen a war battle, you'll know there's nothing graveful about it. And if you stare at me, me - in my peaceful composure, creased forehead, focusing on what i hear, you'll smile and call me perfect. But if you've seen a war battle, you'd know.


    ©mymistysoul

  • mymistysoul 4w

    I believe i am still a bud that is blooming at a snail pace. I don’t think i know everything, i would much rather prefer that, there’s so much i'm yet to see, experience and feel, that my words just can't cover. I’m outnumbered by the marvels present in this world. I’m overwhamled by the beauty of its smile and ache. I most definitely am growing, in body and mind. But i believe no matter how much i grow, there will always be something i'm yet to outgrow. And as i accept this truth, i'm letting go of my urge to control, to know, to hold.
    I'm stumbling and learning, but above all, i'm healing.


    ©mymistysoul

  • mymistysoul 4w

    I wish I could tell you how heavy,
    yet hollow, I’ve been facing lately.

    But you’ll never ask.


    ©mymistysoul

  • mymistysoul 9w

    रिश्ते

    बहुत कमजोर रिश्ते थे
    बहुत मजबूर लोगों से।


    ©mymistysoul

  • mymistysoul 11w

    ढूँढतीं रहोगी मेरे निशां
    अपने अधुरे टुकड़े में


    ©mymistysoul

  • mymistysoul 17w

    शोर और सुकून

    इस शोर मचाती दुनिया में
    एक सुकून का लम्हा हो तुम


    ©mymistysoul

  • mymistysoul 18w

    किसे पता था ना,
    मैं इतने सालो बाद भी
    तुझे भूल नहीं पाऊँगा,
    तेरा किसी ओर का होने पर भी
    मैं तेरा ही रह जाऊँगा


    ©mymistysoul

  • mymistysoul 19w

    क्या तुम्हें याद है आज भी?

    कैसे तुम मुझे मिल कर खिलखिला उठतीं थी
    और मेरे जाने कि बात पर कैसे उदास हो जाती थी
    कैसे मेरी उँगलियों कि छुअन भर से
    तुम्हारी साँसें रुकने लगती थी
    और तुम्हारी इक झलक पाने को
    मेरी आँखें घटों इंतज़ार करती थी

    क्या तुम्हें याद है आज भी?

    खामोशी में हमारी आँखें
    जो बातें किया करती थी
    और जज़्बातों से फिर कैसे
    वो नम हो ज़ाया करती थी
    कैसे तुम्हारी आँखों से निकले आँसू
    मेरे दिल की धड़कन बढ़ा देते थे
    और फिर तुम्हारी एक मुस्कान की
    ख़ातिर में कुछ भी कर गुज़रता था

    क्या तुम्हें याद है आज भी?

    कैसे मेरे कंधे पर सर रख कर
    तुम बेपरवाह सोया करती थी
    और तुम्हें यू देखते देखते
    मेरी रातें गुजर ज़ाया करती थी
    कैसे तुम मुझे याद कर अपने
    तकिये को गले से लगा लिया करती थी
    और अपनीं आँखें बंद कर मुझे
    अपने पास महसूस किया करती थी
    और घटों फ़ोन पर मुझे अपने
    दिन भर के क़िस्से सुनाया करती थी

    क्या तुम्हें याद है आज भी?

    कैसे एक दुसरे के लिए हम
    ज़माने भर से लड ज़ाया करते थे
    कैसे मेरे लफ़्ज़ तुम्हें लिखने को बेताब रहते थे
    और उन्हें पढ़ तुम कैसे खुश हो ज़ाया करती थी
    कैसे तुम्हारे हर आँसु से लेकर हर मुस्कान
    मेरे ही पहलू मे गुजरा करती थी
    और एक दुसरे के बग़ैर जीने के ख़्याल तक से
    हमारी धड़कनें रुक सी ज़ाया करती थी

    बताओ ना,
    क्या तुम्हें याद है आज भी?

    कैसे मेरी दुनिया बस तुम्हारे
    इर्द-गिर्द घुमा करती थी
    और सिर्फ़ तुम्हारे होने भर से मुझे
    मेरी ज़िंदगी मुकम्मल लगती थी

    बोलो ना,
    क्या तुम्हें याद है आज भी?

    वो सब बातें, वो सब लम्हे
    जो हमने साथ गुज़ारे थे
    वो सब दर्द, वो आँसु
    जो हमने साथ बहाये थे

    Read More

    क्या तुम्हें याद है आज भी

    ©mymistysoul

  • mymistysoul 23w

    हिसाब

    बस इक मोहब्बत ही मेरी जो ना गिन पाये तुम
    वरना मेरी हर गलती का हिसाब बराबर रखते हो


    ©mymistysoul

  • mymistysoul 24w

    शायद

    तेरे हर ना से ज़्यादा मेरा दिल
    तेरे हर शायद ने तोड़ा है


    ©mymistysoul