Grid View
List View
Reposts
  • nitin79 20h

    जो रंग तुम्हे दीख रहे हैं उन्हें तो मै छुड़ा लूंगा

    जो तुम्हे नहीं दीख रहे उन रंगो का क्या करूँ
    ©nitin79

  • nitin79 1d

    कवि पहुंचा कॉलेज में
    कविता सुनाने के लिए
    उसने आत्मा की और सच्चे प्यार की कविता सुनाई
    खूब वाह वाही मिली, खूब तालियां मिली
    उसके बाद लड़के
    लड़कियों को छेड़ने में व्यस्त हो गये
    ©nitin79

  • nitin79 1d

    बुढ़िया मरी तो
    हंगामा हो गया
    पूजा घर में रखे
    भगवान का भी
    बंटवारा हो गया
    ©nitin79

  • nitin79 2d

    इस देश में
    कब और कहाँ
    किसके साथ यहाँ
    इंसाफ होता है

    अपराधी हो
    अगर रसूख़ वाला
    तो ख़ून भी
    माफ होता है
    ©nitin79

  • nitin79 2d

    वो : तुम्हारे लिखे में हमेशा ही एक उदासी होती है l

    मै : मेरा लिखा हुआ उदास है इसलिए मै मुस्कुरा लेता हूँ, अपनी कड़वाहट इसे दे कर मै थोड़ा जी लेता हूँ l
    ©nitin79

  • nitin79 2d

    I am alone
    I feel sleepy and tired
    Will you hold me in your arms
    Just for this one night

  • nitin79 2d

    Early morning
    I open my eyes
    I see you
    Your head is on my arm
    The world looks more beautiful
    I am happy

  • nitin79 3d

    Mask

    Me (out side with loud voice) : Go to hell, you Bitch

    Me (in my heart without any sound): please don't leave me. I can't live without you. If I am the lung you are my oxygen. And a lot of sobbing without tears and sound.
    ©nitin79

  • nitin79 3d

    A house without wife is like a world without color.
    ©nitin79

  • nitin79 3d

    जब किसी ने भी नहीं देखा उस वक़्त इसने मेरे आंसू पोछे हैं

    कैसे फ़ेंक दूँ इसे, तुम कहती हो की ये केवल एक तकिया है
    ©nitin79