poem_juhi

एक मुसाफिर...

Grid View
List View
Reposts
  • poem_juhi 1d



    Aaj toh badal bhi dukhi hn.....
    Aur idhar hum bhi apni zindigi se tang aa chuke hn!!

  • poem_juhi 2d

    Not by me....but I found it quite funny����

    Read More

    सागर का एक बेचारा ....
    तुम आंखें मूंदे बैठी हो, मैं सच कैसे दिखलाऊं जी।
    मैं प्यार तुम्हीं से करता हूं, कैसे तुमको बतलाऊ जी।

    तुम सिविल लाइन सी फॉरवर्ड, मैं भैसा जैसे पिछड़ा हूं।
    तुम कटरा जैसी कनेक्टेड, मैं तिली गाव सा बिछड़ा हूं।
    तुम लाखा बंजारा सी साफ साफ, मैं उसके ऊपर कचड़ा हूं।
    तुम केंट के जैसे फैली फैली, मैं शनीचरी सा अकड़ा हं।
    बस स्टैंड का रोड मैं जर्जर, फोर लाइन कैसे बन जाऊं जी।
    मैं प्यार,,,,
    तुम चौपाटी की चाट हो ताजा, मैं बस स्टैण्ड की फुल्की हूं।
    तुम टॉप न टाउन की आईस क्रीम, मैं मटका वाली कुल्फी हूं।
    तुम हो बर्फी चिरौजी की, में रमाश्रम की गुजिया हूं।
    तुम आलू चाप का आलू हो, मैं उसके ऊपर भुजिया हूं।
    मैं मुगद का लड्डू, स्टेशन का, चमचम कैसे बन जाऊ जी।
    मैं प्यार,,,,,,
    तुम देसाई रेसीडेंसी हो, मैं बगल में बना राजीव आवास।
    तुम शर्मा डेयरी की लस्सी , मैं स्टेशन की बासी छांछ।
    तुम राजपूत की केमिस्ट्री, मैं गौर क्लासेस का कॉमर्स।
    मैं री से पास हुआ लड़का, तुम ग्रैजुएट हो विथ ऑनर्स।
    मैं बालक पड़ा पगारे मैं, कैसे अंग्रेजी बातियाऊ जी।
    मैं प्यार,,,,
    तुम मकरोनिया सी चहल पहल, मैं रामपुरा सा बेबस हूं।
    तुम बड़े बाज़ार का सोना, मैं बस में बिकता जेवर हूं।
    तुम चकरा घाट की चहल पहल, मैं एकदम सन्नाटा हूं।
    तुम ऑनलाइन का फायदा हो, मैं सिंधी मार्केट का घाटा हूं।
    तुम बनने वाली हो भौजी, मैं भैया कैसे बन जाऊं जी।
    मैं प्यार,,,,

  • poem_juhi 3d

    Vaise hum toh bakiyon ki mein bhi aache hi hn������✨❣️☺️

    Read More



    Aapni Nazar mein aache hn......
    Baki sab ka ठेका nhi le rakha!

  • poem_juhi 3d

    Having a break.....!

    Read More

    Time rhyme....

    How much days in a week?
    Seven, both to listen and speak!
    How many hours in a day?
    24, both to roam and stay!
    how many minutes in an hour?
    60; enough to take a shower!
    How many seconds in a minute?
    again , 60 but more more than it!
    So, now how much time are you left with?
    Not enough; to save your future from that hit!!
    so honestly Utilise your time,
    And don't waste in making such stupid rhymes!
    ~shristhi_juhi

  • poem_juhi 4d

    People points...... what's a queen without a king??
    Meanwhile me -: STILL A QUEEN!❣️������


    Please friends try to read it whole!✨��

    Read More



    किसी से खुश, तो किसी पे थोड़ी भड़की हूं...
    हां..में एक l don't care वाली लड़की हूं।
    समाज को क्या पता...कितना कठिन है एक लडकी होना,
    और इस अद्भुत पात्र के लिए, कितना कुछ पढ़ता है खोना।
    कभी रो-रो कर हसना, तो आक्सर हस-हस कर रोना...
    हां, में एक लडकी हूं जिसे पसंद है बेफिक्र होकर सोना।
    ज्यादा कुछ नहीं...बस चाहती हूं परिवार को खुश करना....
    हां, में एक लडकी हूं जिसे आता है सबसे हसकर बातें करना।
    मुझे पसंद है खुद के खयालों का सुकून वाला झरना,
    हां, में वही लड़की हूं जिसको आता है खुद के लिए जीना और मारना
    अपनी Self respect के लिए में किसी भी हद तक जा सकती हूं...
    और हां..में वही लड़की हूं जो ठानकर कुछ भी पा सकती हूं।
    भले ही अभी पाठिका हूं धुंधले प्रकाश की,
    पर में वही लड़की हूं, जिसे चाह नहीं किसी 'काश' की।
    हां.......में एक लडकी हूं..........।
    ~shristhi_juhi

  • poem_juhi 4d

    It was my first composition in diary when I started with poetry in class 9th ❣️#storybased

    Read More

    A man...

    Once upon a time, a man was there
    Tall thin and fair.
    He don't want to live,
    As, the destiny was not his.
    He tried to die accidentally,
    But was saved co-incidently.
    He plans to die by a crane,
    Afternoon was saved by his Fame.
    Intentionally, he ate poison,
    Obviously was saved by his son.
    After all the possible tries,
    The man was tired and thought to be nice.
    He changed his mind and prayed to live,
    But who knows! Now god don't have any contrive.
    This man was happy and changes his way of living,
    But was unaware of God's planning.
    Ultimately the man was died,
    Because of his iron will and tries.
    So friends live until you are not died,
    Absolutely, dying useless is not nice!
    Live Until you are alive,
    Live up to the dreams of your life!
    ~shristhi_juhi

  • poem_juhi 5d

    Fictional thoughts!

    Baat hi baat mein...
    Kuch mulakat mein,
    Tera yun muskurana ...
    Gajab ho Gaya!
    Tujhse door rehna.....
    Aur baaten na kr pana,
    Hamare liye ek....
    Majhab ho Gaya!

  • poem_juhi 1w

  • poem_juhi 1w

    Chalo......even something good is going to happen in 2020. TAG YOUR TEAM!����

    Read More

    IPL

    Fever begun..

  • poem_juhi 1w



    मंज़िल तो वही है,
    बस एक नई आश है ।
    पहले औरों की तलाश में थी....
    और आज बस खुद की तलाश है।।
    ~shristhi_juhi